Breaking News

सहकारी बैंक- 27 ब्रांचेज के लिए आरबीआई और 33 को नाबार्ड  से स्वीकृति  

उपलब्धियों  से भरा रहा हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक का चार साल का कार्यकाल : केशव नायक
शिमला।
हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक के निदेशक केशव नायक ने बताया कि बैंक के अध्यक्ष हर्ष महाजन के कुशल नेतृत्व में 2013 से लेकर अब तक बैंक के नाम कई बड़ी उपलब्धियां जुडी हैं। प्रदेश स्टेट कॉपरेटिव बैक को आरबीआई ने  2014 में  शैडयूल्ड बैंक का दर्जा प्रदान किया। बैंक की 20 नई शाखाएं खोली गईं और 7 नए एक्सटेंशन कांउटर खोलने के साथ 4 एक्सटेंशन कांउटरों को पूर्णतया बैंक की शाखा का दर्जा प्रदान किया गया। वर्तमान में बैंक की 229 शाखाएं बैंक के कारोबार को बढ़ा रही हैं। इसके साथ ही जहां 27 नई शाखाएं खोलने के लिए आरबीआई ने बैंक को लाइसेंस प्रदान कर दिया है, वहीं 33 नई शाखाएं खोलने का प्रस्ताव नाबार्ड की स्व्ीकृति के बाद आरबीआई को भेजा जा चुका है। जल्द ही आरबीआई से इन शाखाओं को खोलने के लिए मंजूरी मिलने वाली है।  उन्होंने बताया कि 27 जून को अध्यक्ष हर्ष महाजन की अध्यक्षता में बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक होगी और बैंक का साधारण अधिवेशन 28 जून को शिमला में होगा।
 शुरू की नई योजनाएं, मिले कई पुरस्कार
केशव नायक ने बताया कि बैंक ने अपने ग्राहकों की सुविधा के लिए मोबाइल बैंकिग, रूपये डेबिट कार्ड और रूपये केसीसी कार्ड  व लाईफ व न ॉन लाईफ बीमा योजना शुरू की है।  आरबीआई ने बैंक को खद का करंसी चेस्ट खोलने की स्वीकृति प्रदान की है। उन्होंने बताया कि प ्रदेश सरकार के सेवानिवृत कर्मचारियों की पेंशन का भुगतान भी इसी बैंक के माध्यम से किया जा रहा है। केशव नायक ने बताया कि नाबार्ड की ओर से बैंक को ए  क्लास रेटिंग प्रदान की गई है। बैंक को आईटी के प्रयोग के लिए प्रथम पुररूकार से सम्मानित किया गया है। नाबार्ड की से बैंक को 2015- 16 में ओवल ऑल परफॉर्मेंस के लिए प्रथम पुरस्कार दिया गया है।
जनधन योजना में खोले सबसे अधिक खाते
बैंक के निदेशक केशव नायक ने बताया कि राज्य सहकारी बैक ने प्रधानमंत्री जन धन योजना में प्रदेश भर में सबसे ज्यादा चार लाख बैंक खाते खोले हैं। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, सुरक्षा बंधन योजना में ग्रामीण क्षेत्र के वित्तीय समावेश में अहम भूमिका अदा की है। बैंक की ओर से ग्राहकों को डिजिटल वित्तीय साक्षरता प्रदान करने के लिए 180 कारर्यशालाओं का आयोजन किया गया है। प्रदेश राज्य सहकारी बैंक कोर बैंकिंग सेल्यूशन तथा डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम में देश में अव्वल रहा है। इस साल बैंक ने कुल भाग 164 करोड़ रहा है।
बैंक में नई भर्तियां व पदोन्नतियां
केशव नायक ने बताया कि बैंक ने अपने कर्मचारियों के लिए देश में सर्वप्रथम कांंट्रेक्ट पॉलिसी को स्माप्त कर दिया है और कर्मचारियों के लिए नई ट्रासफर पॉलिसी बनाई गई है। बैंक ने विभिन्न श्रेणियोंं के 532 पदों के लिए भर्ती की है और 735 पदोन्नतियां की गई है। कांट्रेक्ट पर काम पर रहे 452 कर्मचारियों को नियमित किया गया है। 185 दैनिक भेागियों को नियमित किया गया है। 202 पार्ट टाईम कर्मचारियों को दैनिक भेागी बनाया गया है और 201 पार्ट टाईम भर्ती किए गए हैं।  करूणामूलक आधार पर 23 लोगों को बैंक में नियुक्त किया गया है।  बैंक की ओर से प्राथमिक कृषि सहकारी सभाओं के सचिवों व कर्मचारियों के लिए निर्धारित आरक्षण के अंतगर्त साठ पदों के लिए भर्ती की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com