Breaking News

मंडी कोटरोपी हादसा 6 की मौत, कई लापता, व्यवस्था देखने सीएम पधर पहुंचे

मंडी के पधर में पहाड़ी दरकने से दो बसों समेत पचास के दबने की आषंका, मौके से  बरामद हुए छह शव

-पठानकोट -मंडी एनएच 154 का करीब दो सौ मीटर भूभाग टूटकर नाले में बहा

सेना एवं एनडीआरएफ की सेवाएं ली जा रही है

मंडी

पठानकोट-मंडी एनएच 154 पर पधर के पास रविवार देर रात कोटरोपी गांव भारी भूस्खलन के चलते मलबे में दपफन हो गया है और एनएच का करीब दो मीटर लंबा भूभाग टूटकर बह गया है।

IMG-20170813-WA0037

वहीें इस भारी भूस्खलन की चपेट में सड़क के दोनो छोर पर मलबा गिरने के चलते हिमाचल परिवहन निगम की दो बसे भी मलबे की चपेट में आ गई।

बताया जा रहा है कि परिवहन निगम की एक बस चंबा से मनाली की ओर आ रही थी। जिसमें करीब 45 से 50 लोग सवार बताए जा रहे हैं, और मनाली से जम्मू की ओर जा रही परिवहन निगम की सेमी डिलक्स बस जिसमें आठ लोग सवार थे।

इनमें से पांच 5 मौके से बरामद कर लिए गए हैं; जबकि मलबा गिरने से चपेट में आए आधा दर्जन छोटे वाहनों में से एक बाईक सवार का शव भी मलबे से निकाला जा चुका है।

घटना शनिवार रात सवा बारह बजे के आसपास बताई हजा रही है।

प्रत्यक्षदर्षी कोटरोपी गांव के चोबे राम ने बताया कि मोसम साप्फ होने के बावजूद पहाड़ी से रात करीब साढे ग्यारह बजे पत्थर गिरने षुरू हो गए।

जिसके बाद उन्होंने अपने पड़ोसियों को जगाकर  घरों से बाहर निकलने को कहा। जैसे ही पांच परिवार के करीब बीस सदस्य अपने घरों से दो सौ मीटर की दूरी पर जंगल में पहुंचे सामने अचानक पहाड़ी का बड़ा हिस्सा टूटकर निचे गिरने लगा। जिसकी चपेट में पहले  कोटरोपी गांव के पांच मकान गोषालाएं आई और फिर देखते ही देखते पठानकोट -मंडी एनएच का करीब दो सौ मीटर भूभाग पुल समेत मलबे के साथ पांच सौ मीटर तक बह गया।

जिसकी चपेट में दो बसों समेत आधा दर्जन छोटे वाहन भी आ गए।

बताया जा रहा है कि जो बस मनाली से कटड़ा जा रही थी , उसमें करीब आठ लोग सवार थे। इनमें से दो छा़त्राओं के शव बस के उपर गिरे मलबे को हटाने के बाद बरामद हुए। जबकि चालक व परिचालक सहित पाचं लोग पहले ही बाहर निकलने में कामयाब रहे। जिहें घयलाव्स्था में अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया। जबकि इस बस में सवार एक अन्य व्यक्ति प्रेम सिंह का अभी तक पता नहीं चल पाया है।

इधर, दूसरे छोर पर मलबे के साथ बही चंबा-मनाली बस का मलबा नाले में करीब पांच सौ मीटर दूर बरामद हुआ। जहां से समाचार लिखे जाने तक तीन शव बरामद हुए हैं; जबकि बाकियों तलाष जारी है।

घटना की सूचना मिलते ही रात करीब एक बजे डीसी मंडी संदीप कदम और एसपी अशोक कुमार अपने प्रशासनिक अमले के साथ घटना स्थल की ओर रवाना हुए, रात करीब दो बजे बचाव व राहत कार्य शुरू  हो सका।

सबसे पहले डिल्क्स बस के निचे दबे लोगों की तलाश शुरू हुई  इसके बाद रात खुलते ही एनडीआरएपफ और सेना को सूचित किया गया।

मौके पर मंडी की ओर से चार जेसीबी लगाकर मार्ग बहाली का कार्य शुरू हो गया है।

डीसी मंडी संदीप कदम ने बताया कि बचाव एवं राहत कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। अभी तक मौके से छह शव बरामद किए जा चुके है। सेना एवं एनडीआरएफ की सेवाएं ली जा रही है।

सीएम वीरभद्र सिंह भी अपने कार्यक्रम में फेरबदल कर कोटरोपी रावण हो गए हैं जहाँ वे प्रभावितों से मिलेंगे और राहत व बचाव कार्यों का जायजा लेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com