Breaking News

मुख्यमंत्री का इस्तीफ़ा और राष्ट्रपति शासन लागू हो – अनुराग ठाकुर

भारतीय जनता पार्टी के हमीपुर के युवा सांसद अनुराग ठाकुर ने हिमाचल की “गुड़िया” की हत्या के मामले की जा रही जांच में षड्यंत्र रचने के लिए मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के इस्तीफे की तत्काल मांग की।

गौरतलब है की मुख्यमंत्री वीभद्र सिंह के नेतृत्व वाली हिमाचल सरकार द्वारा गठित SIT के सभी सदस्यों को जांच प्रक्रिया में कोताही बरतने के लिए सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है।

सीबीआई द्वारा SIT के आईजी समेत पूरे टीम की गिरफ़तारी राज्य सरकार के ऊपर सवालिया निशान खड़ा करती है। क्या वीरभद्र सिंह “गुड़िया” को न्याय दिलाने में इच्छुक थे या सबूत मिटाकर दोषियों को संरक्षण देने मे ?    

क्या हिमचाल सरकार ने हिमाचल पुलिस को मोहरा बनाकर हिमचाल की गुड़िया की हत्या के सबूतों को मिटाने का घिनोना काम किया हैं ?

ठाकुर ने कहा कि गुड़िया की हत्या का प्रकरण हिमाचल के ऊपर एक काला दाग़ है और हिमचाल राज्य सरकार इस दाग़ को हटाने की बजाए इस मामले में आरोपियों को बचाने में लगी रही। दुखद तो यह भी है कि मख्यमंत्री की पत्नी, पीड़ित परिवर से मिलकर उनका दुःख बाँटने की बजाए इस मामले की सीबीआई जाँच ना करवाने के लिए दबाव बनाया । मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह राज्य के मौजूदा घटनाक्रम से दूर दिल्ली में अपनी राजनैतिक पारी को बचाने  के लिए “सेटिंग” करने में व्यस्त हैं। यह क्षुब्ध करने की बात है की हिमाचल जैसे सुन्दर राज्य के मुख्यमंत्री का नाम सिर्फ़ भर्ष्टाचार तक ही सीमित था मगर क्या अब  वह हिमचाल की गुड़िया के हत्याकांड में आरोपियों को बचाने वाले भी हो गए हैं। वीरभद्र सिंह के कृत ने मुख्यमंत्री पद की गरिमा को ठेस पहुँचाई है इसलिए उन्हें इस सुंदर-शांतिप्रिय राज्य का मुखिया बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।

 ठाकुर ने कहा कि सड़क से लेकर संसद तक वो इस मुद्दे को उठाते रहे है। उन्होंने विशवास व्यक्त किया की सीबीआई द्वारा इस मामले में आईजी समेत पूरी  SIT टीम को गिरफ्तारी से “गुड़िया” की हत्या के केस में गुड़िया के परिवार को न्याय मिल सकेगा।

यह सही समय है मुख्यमंत्री को इस्तीफ़ा देना चाहिए और राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com