हिमालययी रेखांकन एक कलाकार की अनुभूति, शिमला के गेयटी में लगी प्रदर्शनी

एप्पल न्यूज़, शिमला
हिमालययी रेखांकन एक कलाकार की अनुभूति के अंतर्गत डाॅ. सुरेंद्र श्याम द्वारा रचित प्रदेश तथा देश की विविध संस्कृति स्थानीय लोगों के साथ-साथ पर्यटकों को भी पसंद आएगी। शिक्षा, विधि एवं संसदीय मामले मंत्री सुरेश भारद्वाज ने भाषा एवं संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित गेयटी परिसर के टेवरन हाॅल में चित्रकला प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के उपरांत अपने संबोधन में यह विचार व्यक्त किये।

????????????????????????????????????

सुरेश भारद्वाज ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की नैसर्गिक सुंदरता के साथ-साथ यहां के तीर्थाटन, साहसिक खेलों तथा अन्य विविध पक्षों को समय-समय पर कलाकारों द्वारा चित्र पटल पर उकेरा जाता रहा है, जिससे हिमाचल की प्राचीन वास्तु शिल्प, भवनों तथा अन्य क्षेत्र देश के विभिन्न स्थानों पर प्रायः देखने को मिलते हैं। उन्होंने कहा कि डाॅ. सुरेंद्र श्याम द्वारा देश के विभिन्न ऐतिहासिक तथा धार्मिक स्मारकों एवं देवी-देवता को भी इस प्रदर्शनी के अंतर्गत अत्यंत प्रभावपूर्ण रूप से अंकित किया गया है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए भाषा एवं संस्कृति विभाग की निदेशक कुमुद सिंह ने बताया कि भाषा एवं संस्कृति विभाग प्रदेश संस्कृति की विभिन्न विधाओं के संरक्षण और संवर्द्धन के लिए प्रयासरत है। विभाग द्वारा समय-समय पर सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं के सहयोग से अनेकों कार्यक्रम आयोजित कर प्रदेश की संस्कृति के साथ-साथ विभिन्न राज्यों की विविधतापूर्ण संस्कृति तथा अन्य विधाओं को लोगों तक पहुंचाया जा रहा है।
उन्होंने कलाकार डाॅ. सुरेंद्र श्याम को उनकी अनुकृतियों के लिए शुभकामनाएं दी तथा प्रदेश की गौरवमयी संस्कृति को रेखांकन कर संकलित करने के लिए साधुवाद व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि यह प्रदर्शनी 02 सितम्बर, 2019 तक चलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

हमारी राजभाषा कब बनेगी राष्ट्रभाषा, 'हिन्द के माथे की बिंदी... हिंदी'

Sat Sep 14 , 2019
सीमा शर्मा, एप्पल न्यूज़, शिमला राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने 1918 में हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने की बात कही थी। उनका कहना था की हिंदी भाषा से किसी भी अन्य भाषा को कोई खतरा नहीं है क्योंकि हिंदी सबकी सहोदर है . इस पर कार्य हुआ और आगे चल कर 14 […]