Breaking News

आयातित पौधे बागवानों को 50 प्रतिशत उपदान पर उपलब्ध करवाएगी सरकारः बागवानी मंत्री

एप्पल न्यूज, शिमला
सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य, बागवानी व सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि राज्य के किसानों व बागवानों की आर्थिकी को मजबूत बनाने के उद्देश्य से प्रदेश में 1134 करोड़ रुपये की बागवानी विकास परियोजना कार्यान्वित की जा रही है।
उन्होंने कहा कि परियोजना की अवधि सात वर्ष है और इसका मुख्य उद्देश्य राज्य में सेब के फलों की गुणवत्ता व पैदावार में 15 से 25 प्रतिशत की वृद्धि लाने के साथ-साथ विपणन की बेहतर व्यवस्था तथा सेब बागीचों का जीर्णोद्वार कर सेब की 50 प्रतिशत फसल को ए-श्रेणी में लाना है।
बागवानी मंत्री यहां बागवानी विकास परियोजना के मुख्य घटकों की प्रगति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि परियोजना के अंतर्गत इटली से सेब के 7,55,250 पौधे 400 रुपये प्रति पौधा आयातित किए गए हैं, लेकिन बागवानों को इतने मंहगें पौधे उपलब्ध करवाना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने बागवानों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से 50 प्रतिशत का उपदान देकर प्रति पौधा 200 रुपये की दर से प्रदान करने का निर्णय लिया है। बागवानी मंत्री ने इस निर्णय के लिये मुख्यमंत्री का आभार प्रकट किया है।
बागवानी मंत्री ने धीमी गति से चल रहे परियोजना के कार्य पर असंतोष व्यक्त करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने दायित्वों तथा संबंधित कार्यों के निष्पादन में तेजी लाएं। सभी प्रकार की डीपीआर को समयबद्ध तैयार कर जल्द से अन्य सभी औपचारिकताओं को भी पूरा करें। उन्होंने कहा कि परियोजना क एक-एक पैसे का सही ढंग से उपयोग होना चाहिए तथा प्रगति व परिणाम ज़मीनी स्तर पर दिखने चाहिए।
उन्होंने कहा कि परियोजना के अंतर्गत तैयार किए जाने वाले किसी भी प्रस्ताव पर परियोजना निदेशक फैसला नहीं ले सकता, बल्कि इसे राज्य सरकार को अनुमोदन के लिए प्रस्तुत करना होगा। उन्होंने विभाग को परियोजना का पुनः ऑडिट करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने पौधरोपण के लिये निश्चित 10 एकड़ के क्लस्टर की शर्त को हटाने के लिये विभाग को प्रस्ताव तैयार करने को कहा, क्योंकि प्रदेश की भौगोलिक स्थितियों के अनुरूप ये शर्त अव्यवहारिक है।
बैठक में अवगत करवाया गया कि लगभग 3.34 लाख पौधे विभिन्न नर्सरियों में तैयार हैं जो दिसम्बर अथवा जनवरी महीनों में लगाए जाने हैं। मंत्री ने अधिकारियों से बागवानों से पौधों की मांग की रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने आयातित सेब के पौधों के वितरण के लिये शीघ्र क्लस्टर बनाने तथा बागवानों को खुली ऑफर के लिये कहा ताकि पौधों का समयबद्ध शत-प्रतिशत रोपण सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि पौधों को सिंचाई की उपयुक्त व्यवस्था सुनिश्चित बनाई जानी चाहिए जिसके लिये 328 करोड़ रुपये का अलग से प्रावधान किया गया है।
 उन्होंने अधिकारियों से फील्ड दौरों की रिपोर्ट भी मांगी। शिलारु में 9.50 करोड़ तथा पालमपुर में 8.50 करोड रुपये की लागत से बनने वाले बागवानी विभाग के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस को शीघ्र वर्ल्ड बैंक से स्वीकृत करवाने को कहा। पांगणा में बीमारीयुक्त पौधों के वितरण को मंत्री ने गंभीरता से लेते हुए जिम्मेवार अधिकारी के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक रूप से बैठकों में आने को कहा।
हि.प्र. विपणन समिति के कार्यों की समीक्षा करते हुए अवगत करवाया गया कि परियोजना के अंतर्गत राज्य के शीत भण्डारणों तथा पैक हाउस के स्तरोन्यन पर 202 करोड़ रुपये खर्च किए जाए रहे हैं। गुम्मा, टिक्कर, खुड्डी, रोहडू तथा पतलीकूहल शीत भण्डारणों पर 44.90 करोड़ खर्च किये जा रहे हैं। उन्होंने एचपीएमसी केन्द्र परवाणू के स्त्तरोन्यन व मुरम्मत कार्य के लिये 27.60 करोड़ रुपये तथा जड़ोल केन्द्र के लिये 15.46 करोड़ की राशि का अनुमोदन किया। उन्होंने सात पैक हाउस की डीपीआर सितम्बर तक तैयार करने तथा शीघ्र परामर्शी सेवाएं लने को कहा।
बागवानी मंत्री ने कहा कि बागवानों को क्षेत्र विशेष में तैयार होने वाले पौधों का ही वितरण किया जाना चाहिए और इसके लिये विशेषज्ञों को एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सेब के अलावा राज्य के कम उंचाई के क्षेत्रों में आम, लीची, नीम प्रजाति, अनार, जापानी फल, नई किस्म का प्लम व कीवी जैसे फलों की अपार संभावनाएं हैं और किसानों को ये पौधे भूमि की उपयोगिता को देखते हुए उपलब्ध करवाए जाने चाहिए। इस बारे में किसानों को जागरूक भी किया जाना चाहिए।
प्रधान सचिव संजय गुप्ता, महाप्रबंधक एचपीएमसी सुरेन्द्र माल्टू, बागवानी निदेशक एम.एल. धीमान, परियोजना निदेशक एस.एस. वर्मा, विषय विशेषज्ञ, विपणन बोर्ड व एचपीएमसी के अधिकारी व सलाहकार विश्व बैंक सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी बैठक में मौजूद रहे।
previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3