Breaking News

नशे की गिरफ्त में शिमला, 11 महीने में 778 ग्राम चिट्टा पकड़ा 75 युवक गिरफ्तार

सीमा शर्मा, शिमला
जिला शिमला में नशे के प्रचलन को नियन्त्रित व समाप्त करने के लिए जिला शिमला पुलिस के दक्ष प्रयासों के सराहनीय परिणाम सामने आ रहे हैं। नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले असामाजिक तत्वों पर शिकंजा कसा जा रहा है। इसकेे परिणामस्वरूप अपराधियों की गिरफ्तारी कर नशीले पदार्थों को बरामदगी की जा रही है। 
पुलिस अधीक्षक शिमला ओमापति जमवाल ने आज यहां बताया कि वर्ष- 2018 के दौरान अभी तक मादक पदार्थ अधिनियम के तहत 151 मामले पंजीकृत किये गये और इनसे संबंधित 204 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गई, जिनमें 53.900 ग्राम चरस, 03.300 किलोग्राम अफीम, 300 ग्राम चूरा पोस्त, 3.500 ग्राम गांजा, दो ग्राम स्मैक, 778 ग्राम हेरोईन/ चिट्टा व एक पैकेट एलएसडी स्टैंप बरामद किये गये।
दृढ़ प्रयासों और दक्ष सूचना तंत्र के कारण ही जिला पुलिस को यह सफलता मिल पाई है। जिला पुलिस द्वारा ठोस सूचना तंत्र विकसित करने के लिए निचले स्तर पर कार्य किया गया और भरोसेमंद सूत्र भी कायम किये गये।
पुलिस का यह प्रयास है कि समाज से नशे के प्रचलन को समाप्त करने के लिए हर स्तर पर प्रभावी कदम उठाए जाएं, ताकि देश की भावी पीढ़ी को नशे के चंगुल से दूर रखा जा सके।
 ओमापति जमवाल ने बताया कि वर्ष-2018 में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत तर्ज 151 मुकद्दमों में से 53 अभियोगों में 75 अभियुक्तों को गिरफ्तार करके 778 ग्राम हेरोईन/चिट्टा बरामद किया जा चुका है।
पुलिस की दक्ष कार्यवाही और ठोस प्रयासों के कारण ही इस तरह के सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। युवाओं, छात्रों और आम आदमी को नशीले पदार्थों के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं।
जिला शिमला के 19 थानों में नशा निवारण समितियों का गठन किया गया है, जिनमें अब तक 3200 सदस्यों को शामिल किया जा चुका है। अभी नशा निवारण समितियों द्वारा 182 सभाओं का आयोजन किया जा चुका है।
अभिभावकों को बच्चों में नशे के लक्षणों को पहचानने के लिए स्कूल प्रधानाचार्य के माध्यम से स्कूलों मंे आयोजित होने वाली अभिभावक-अध्यापक बैठकों में ‘अपने बच्चे को जाने’ नाम से पम्पलेट भी बांटे गये। अभिभावकों को जागरूक करने के लिए भी विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं।
 ओमापति जमवाल ने बताया कि प्रदेश सरकार के महत्वकांक्षी कार्यक्रम जनमंच के दौरान भी पुलिस विभाग द्वारा जनता व युवाओं को नशा सेवन के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक किया जा रहा है। उन अभिभावकों, जिनके बच्चे नशे की चपेट में आ चुके हैं, उन्हें काउंसलिंग के माध्यम से नशा निवारण केंद्रों के बारे में जानकारी दी जा रही है।
सूचना तंत्र को प्रभावी बनाने के लिए अन्य जिला व उत्तराखंड राज्य के अधिकारियों के साथ बाॅर्डर मिटिंग आयोजित कर नशे के धंधे में संलिप्त तत्वों पर शिकंजा कसने के लिए सूचनाओं के आदान-प्रदान हेतु प्रयास किये गये हैं।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जागरूकता, नशा निवारण के लिए सबसे अहम भूमिका निभा सकती है, इसके लिए जिला शिमला पुलिस द्वारा मालरोड शिमला स्थित पुलिस एसिस्टैंस रूम के बाहर टीवी स्क्रीन लगाई गई है तथा जिला शिमला के फेसबुक पेज के माध्यम से भी नशे के दुष्प्रभावों के बारे में आमजन को जागरूक किया जा रहा है।
नशा निवारण व जागरूकता के लिए शिमला में ड्रग अवेयरनेस वीक के दौरान हाफ मैराथन का भी आयोजन किया गया। साथ ही पेंटिंग प्रतियोगिता के माध्यम से भी नशे के दुष्प्रभावों के बारे में युवाओं को जागरूक करने के लिए प्रयास किये गये। इस प्रतियोगिता में जिला के 28 स्कूलों के 150 छात्रों ने हिस्सा लिया।
जिला में जून से अक्तूबर, 2018 माह तक भांग उखाड़ने के लिए विशेष अभियान चलाया गया। इसके तहत 1048 बीघा सरकारी भूमि से कुदरती तौर पर उगी भांग को उखाड़ा गया है। इसमें विभिन्न सरकारी विभागों, छात्रों, पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों की सहभागिता भी सुनिश्चित की गई।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नशीले पदार्थों की तस्करी रोकने के लिए विभाग द्वारा निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं। पुलिस थाना ढली द्वारा एक अभियोग में 6.116 किलोग्राम चरस, एक अन्य अभियोग में 3.900 किलोग्राम चरस, पुलिस थाना बालुगंज द्वारा एक अभियोग में 4 किलोग्राम चरस, पुलिस थाना चैपाल द्वारा एक अभियोग में 2.600 किलोग्राम चरस, पुलिस थाना ठियोग द्वारा एक अभियोग में 2.00 किलोग्राम अफीम, एक अभियाग में 3.400 किलोग्राम चरस और एक अन्य अभियोग में 8.200 किलोग्राम चरस बरामद की गई है।
जिला पुलिस शिमला के सक्रिय प्रयासों और नशे की रोकथाम हेतु किये जा रहे उपायों के कारण ही इस तरह के सराहनीय परिणाम सामने आ रहे हैं। विभाग का यह प्रयास है कि समाज से नशा सेवन और मादक पदार्थों के उपयोग को पूरी तरह से समाप्त कर समाज को एक उज्जवल भविष्य की ओर ले जाने के लिए निरन्तर प्रयास किये जाएं।
previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3