Breaking News

मुख्यमंत्री ने सुजानपुर टिहरा में डिग्री कॉलेज लोकार्पित किया 

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए अब एक वर्ष ही बचा है, ऐसे में यह और भी आवश्यक है कि धर्म व क्षेत्रवाद के नाम पर लोगों को भ्रमित करने वालों की साजिशों को समझा जाए। उन्होंनें प्रदेश के लोगों और समस्त कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि प्रदेश हित में एकजुट हो जाएं तथा जाति व क्षेत्र के आधार पर अपना स्वार्थ साधने वालों की बातों को नजरंदाज करें। उन्होंने प्रदेश की जनता से अपने मताधिकार का उपयोग बुद्धिमता से करें और शरारती तत्वों के बहकावे में न आएं।
मुख्यमंत्री आज हमीरपुर ज़िला के सुजानपुर टीहरा में सर्वहित कल्याणकारी संस्थान में के 15वें वार्षिक समारोह की अध्यक्षता करते हुए संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि हमीरपुर में अब तक मेडिकल कालेज आरम्भ हो चुका होता लेकिन भूमि उपयोग के मुद्दे के कारण वन स्वीकृति मिलने में बाधा उन्पन्न हुई है। नाहन में मेडिकल कालेज को कार्यशील बना दिया गया है और नेर चौक में ईएसआईसी अस्पताल भी जल्द ही कार्य करना आरम्भ कर देगा। बिलासपुर ज़िला में एम्स का निर्माण कार्य जल्दी शुरू किया जाएगा जिसके बनने से प्रदेश के लोगों को बेहतरीन उपचार सुविधाएं उपलब्ध होंगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश वीर सैनिकों की धरती है और अधिकांश घरों से एक न एक व्यक्ति सेना में सेवाएं दे रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की भविष्य में भी यह परम्परा कायम रहेगी। प्रदेश के वीर सैनिकों ने देश के लिए अनके बलिदान दिए हैं और इन बहादुर सैनिकों पर प्रदेश गौरवान्वित है।
उन्होंने कहा कि शिक्षा क्षेत्र व समग्र विकास के लिए हिमाचल प्रदेश को बड़े राज्यों की श्रेणी में हाल ही में सर्वश्रेष्ठ राज्य के लिए सम्मानित किया गया है। प्रदेश में 15550 सरकारी स्कूलों और 116 राजकीय महाविद्यालयों के माध्यम से विद्यार्थियों शिक्षा की सुविधा मिल रही है और इनसे विशेषकर छात्राएं लाभान्वित हुईं हैं। प्रदेश के दुर्गम क्षेत्रों तक उच्च शिक्षा संस्थान खोले गए हैं। सिरमौर ज़िला के धौलाकुंआ में आईआईएम स्थापित किया जा रहा है। प्रदेश में वर्तमान में सड़कों की लम्बाई 37 हजार किलोमीटर हो गई है और शत-प्रतिशत विद्युतीकरण का लक्ष्य प्राप्त किया जा चुका है।
वीरभद्र सिंह ने ग्राम पंचायत चमियाणा में खेल मैदान के निर्माण की घोषणा की तथा अन्य मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया। उन्होंने संस्था द्वारा सम्मानित छात्रों को बधाई दी तथा सर्वहित कल्याण संस्थान द्वारा किए जा
रहे जन कल्याण के कार्यक्रमों और सामाजिक गतिविधियों की सराहना की। उन्होंने लोगों से अपने जीवन में उच्च आदर्श अपनाने का आह्वान करते हुए कहा कि केवल अपने लिए ही नहीं, बल्कि औरों के लिए भी जीना सीखें। श्री राजेन्द्र राणा के प्रयासों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि राजनीति में रहते हुए समाज सेवा कठिन कार्य है, लेकिन श्री राणा सदैव समाज सेवा में तत्पर रहते हैं।
 राजेन्द्र राणा ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री तथा उनकी धर्मपत्नी श्रीमती प्रतिभा सिंह, जो राज्य रेडक्रॉस अस्पताल कल्याण शाखा की उपाध्यक्ष भी हैं, को सम्मानित किया।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने सुजानपुर क्षेत्र का सर्वांगीण विकास किया है जिसके लिए क्षेत्र के लोग वीरभद्र सिंह के प्रति सदैव आभारी रहेंगे। उन्होंने लोगों से विपक्ष की ओर से किए जा रहे भ्रमित प्रचार तथा झूठे वायदों से दूर रहने का भी आह्वान किया।
उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने विमुद्रीकरण के जरिये देश में आर्थिक आपातकाल जैसी स्थिति पैदा की है।एनडीए ने नई करंसी जारी करने से पूर्व गंभीरतापूर्वक मंथन नहीं किया। बेहतर होता अगर एटीएम को नई करंसी निकालने के लिए तैयार किया जाता। उन्होंने कहा कि विमुद्रकरण से लोगों की समस्याएं बढ़ रही हैं जनता के बीच और बैंकों में अफरा-तफरी का माहौल है।
 राणा ने टौणी देवी नागरिक अस्पताल को 100 बैड के रूप में स्तरोन्नत करने की मांग के अलावा उप-स्वास्थ्य केन्द्र चबूतरा को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बनाने की मांगें भी रखी। उन्होंने ककदियार में उप स्वास्थ्य केन्द्र और सुजानपुर में पुलिस उप मंडल कार्यालय के अलावा ग्राम पंचायत चमियाणा के लिए एक खेल मैदान की मांग की। उन्होंने सुजानपुर में टाउन हॉल, पर्यटन विभाग का कैफे और खेल विश्वविद्यालय खोलने की मांग भी की।
राज्य युवा कांग्रेस के सचिव श्री अभिषेक राणा, जो सर्वहित कल्याणकारी संस्था से सम्बद्ध हैं, ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखे।
मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व चार करोड़ रुपये की लागत से निर्मित राजकीय डिग्री कॉलेज सुजानपुर-टीहरा का लोकार्पण किया। राजकीय डिग्री कॉलेज हमीरपुर के प्रधानाचार्य और स्टाफ ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 51,000 रुपये का चैक भेंट किया।
वीरभद्र सिंह ने सर्वहित कल्याणकारी संस्था की ओर से समाज सेवा के लिए शरबत दा भला चेरिटेबल ट्रस्ट, पटियाला के प्रबन्ध न्यासी डा. एस.पी. ओबराय, गंगाराम अस्पताल नई दिल्ली के अध्यक्ष डा. डी.एस. राणा, देहरा के डा.
ले.जनरल बी.एस. जसवाल, एवीएसएम, वीएसम (सेवानिवृत), नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के दो बार कुलपति रहे डा. पी.एस. जसवाल, वेटलिफटिंग में टौणीदेवी के पतनोन गांव के श्री विकास ठाकुर, नालागढ़ के राष्ट्रीय कबडडी खिलाड़ी अजय कुमार शान-ए-हिंद अवार्ड प्रदान किए।
मुख्यमंत्री से पुरस्कार प्राप्त करने वालों में शान-ए-हिंद अवार्डी संगीत कांगड़ा के करनैल राणा, खेल में प्रतिनिधत्व करने वाले सुरेश कुमार रनोट, पालमपुर के बनौरी के मरणोपरांत अशोक चक्र प्राप्त करने वाले स्वर्गीय मेजर सुधीर कुमार, साहित्य में केशव नारायण, ऊना की आईपीएस शालिनी, शिक्षा में शाहपुर के नरेश शर्मा, चित्र कला में शिमला के ओम प्रकाश सुजानपुरिया और छात्र वर्ग में जरेड़ के अक्रांत लखड़वाल शामिल हैं।
सुजानपुर के एच.एस. राणा (शिक्षा), अध्यक्ष सीएससीए सुजानपुर प्रियंका महाजन, टौणी देवी के जे.सी. राणा (रक्दान), दरमोह डिम्मी गांव के पंकज मलकोटिया (कुश्ती), टौणी देवी के आन. कैप्टन अजीत सिंह (बास्किटबाल) को हमीर पुरस्कार प्रदान किए गए।
वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी, पूर्व लोकसभा सांसद और मुख्य संसदीय सचिव  जगजीवन पाल और इंद्र दत्त लखनपाल, विधायक संजय रतन, यादविन्द्र गोमा, पवन काजल और मनोहर धीमान, राज्य युवा कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह, युवा कांग्रेस के सचिव अभिषेक राणा, के.सी.सी. बैंक के अध्यक्ष जगदीप सिपहिया, राज्य शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष बलबीर टेगटा, कृषि विपणन बोर्ड के अध्यक्ष प्रेम कौशल, पूर्व विधायक उर्मिल ठाकुर, कुलदीप पठानिया, मनजीत सिंह डोगरा, तिलक राज शर्मा, राज्य वन विकास निगम के उपाध्यक्ष केवल सिंह पठानिया, कर्मचारी कल्याण के अध्यक्ष सुरेन्द्र मनकोटिया, ले.जनरल बी.एस. जसवाल, बाबा फरीद मेडिकल विश्वविद्यालय पंजाब के कुलपति डा. राजबहादुर, सरबत दा भला चेरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष प्रो. एस.पी. सिंह ओबराय के अलावा क्षेत्र के गणमान्य नागरिक और पंचायत प्रतिनिधियों के अलावा अन्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3