Breaking News

मैं उस पार्टी से जो सर्जिकल स्ट्राइक करती है, वो सुबूत मांगने वाली पार्टी से , अब आप करो तय- सुरेश कश्यप

एप्पल न्यूज़, शिमला

हिंदुस्तान को नई पहचान देने वाले और सविधान निर्माता भारत रत्न डॉ भीम राव अम्बेडकर के जन्मदिन के उपलक्ष में शिमला में अनुसूचित जाति मोर्चा शिमला मण्डल द्वारा विजय संकल्प अनुसूचित जाति मोर्चा सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमे हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुरेश भारद्वाज, शिमला संसदीय से भाजपा के उम्मीदवार और पच्छाद के विधायक सुरेश कश्यप विशेष रूप से उपस्थित रहे। आज देश की जनता कांग्रेस से हर अन्याय का का बदला लेने को उतारू है जो उन्होंने 55 सालों तक देश की जनता और अम्बेडकर के साथ किये। आज कांग्रेस को यह बताना होगा कि अम्बेडकर ने कांग्रेस पार्टी से क्यो त्यागपत्र दिया और अपनी अलग पार्टी बनाने का फैसला किया। इस पर कांग्रेस के लोगो को जबाब देना होगा।

शिमला संसदीय क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी सुरेश कश्यप ने कहा कि आज देश को ऐसे प्रधानमंत्री की आवश्यकता है जो मजबूत हो नही मजबूर। उन्होंने कहा कि मुझे गर्व है कि मैं ऐसी पार्टी का उम्मीदवार हूँ जिनके लिए देश और राष्ट्रवाद सर्वोपरि है और पाकिस्तान जैसे देश को घर मे घुसकर मारने का दम रखते है। मैं एक सैनिक हूँ और सैनिक की पीड़ा और राष्ट्र के प्रति समर्पण समझ सकता हूँ। मुझे हैरानी हुई जब कर्नल धनीराम शांडिल जिस पार्टी के प्रत्याशी है वह हिंदुस्तान के सैनिकों से पाकिस्तान पर हुए सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग रहे हैं और एक सैनिक होने के नाते कर्नल साहिब चुप है।
हिमाचल के शिक्षामंत्री, एवम पूर्व भाजपा अध्यक्ष सुरेश भारद्वाज ने कांग्रेस और महागठबंधन को आड़े हाथ लेते हुए कांग्रेस पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के पास आज चुनाव लड़ाने के लिए उम्मीदवार ही नही है। शिमला, मंडी, कांगड़ा और हमीरपुर में उधार के उमीदवारों से गुजारा चलाना पड़ रहा है। कांग्रेस के नेता महीना भर इसलिए दिल्ली में डटे रहे कि कही उन्हें पार्टी टिकट न दे दे और उन्हें चुनाव न लड़ना पड़े। हिमाचल के पूर्व मुख्यमंत्री ने मंडी चुनाव को लेकर कहा था कि मंडी में नही मैं और मेरा परिवार चुनाव लड़ेगा। कोई मकड़झण्डू ही मंडी से चुनाव लड़ेंगा और कांग्रेस को आश्रय के रूप में एक मक़डंझण्डू मिल गया है जिसे कांग्रेस ने बलि का बकरा बना दिया है।
भारद्वाज ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश की जनता भली भांति जानती है कि सिर्फ़ भाजपा आज देश को मजबूत सरकार बनाने में एक विकल्प है और सिर्फ भाजपा एक मजबूत सरकार बनाने में सक्षम है। वैसे भी सिर्फ भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाना चाहती है वाकी पार्टी तो अपने परिवार के सदस्यों को एडजस्ट करवाना चाहती है कोई बेटे को तो कोई बेटी को, कोई बुआ को तो कोई भतीजे को। बिहार में कांग्रेस ने जिस पार्टी के साथ गठबंधन किया है वहां भी दो भाइयों की लड़ाई में पिस रही है।
भारद्वाज ने कहा कि मुम्बई के पांच सितारा होटल पर जब आतंकवाद ने हमला कर हमारे सो से ज्यादा लोगो को मार गिराया था तब तत्कालीन सरकार ने चिठी लिख कर विरोध किया था। परन्तु नरेंद्र मोदी जी की सरकार ने 13 दिन के अंदर पाकिस्तान में घुस कर 21 मिंट में आतंकवादियों को मार कर हिंदुस्तान की शक्ति का परिचय दिया।
भारद्वाज ने कहा कि यदि कांग्रेस में दम है तो वह डॉ मनमोहन सिंह ने 10 वर्षो के कार्यकाल में जो काम किया उस पर जनता से वोट मांगे।
भारद्वाज ने कहा कि आज विश्व मे भारत की एक अलग पहचान बनी है और एक विश्व शक्ति के रूप में उभरकर विश्व का सामना कर रहा है। जिसका उदाहरण पाकिस्तान सेना द्वारा बन्दी बनाये अभिनंदन को छुड़ाने में देखा गया है जब पूरा विश्व भारत के साथ खड़ा हो गया था।
भारद्वाज ने कहा कि विश्व के शक्तिशाली देश आज हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री को अपने देश के प्रतिष्ठित पुरस्कार से सम्मानित कर रहे हैं जिसमे रूस, यूनाइटेड अरब अमीरात, केनेडा जैसे देश सम्मानित कर रहे हैं।
पिछले 55 वर्षों से कांग्रेस गरीबी हटाओ के नारे लगा कर देश की जनता से धोखा करने का काम कर रहे हैं। 1971 के चुनाव में इंदिरा गांधी जी ने गरीबी हटाओ का नारा लगा कर पूर्ण बहुमत प्राप्त किया था परन्तु क्या गरीबी हटी। आज जब कांग्रेस पूरे देश से गायब हो गई अब न्याय का झूठा वायदा लेकर आ गई। इससे साफ पता चलता है कि 55 वर्षो तक देश के साथ धोखा किया कांग्रेस ने।
हैरानी की बात है कि राजाओ महाराजाओ जैसी जिंदगी जीने वाले लोग आज गरीबो के हितों की बात कर रहे हैं। गरीबी का नारा देते देते कांग्रेस के नेताओं की अपनी गरीबी जरूर दूर हो गई और ताजा उदाहरण अभी राज्यस्थान से मिला है।
भारद्वाज ने कहा कि गरीबो के नाम पर देश और प्रदेश को ठगने का काम करने वाली कांग्रेस गरीबी के लिए किसी एक योजना का नाम तो बताए। हिमाचल प्रदेश में जय राम सरकार ने सत्ता में आते ही पहली कैबिनेट में पेंशन की उम्र को घटा कर 70 कर एक ऐतिहासिक फैसला लिया था।

इस अवसर पर शिमला के 25 परिवारों ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का साथ देने और भाजपा को जॉइन करने का फ़ेसला किया और युवाओं ने राष्ट्र हित मे मोदी को और मजबूत करने का प्रण लिया।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3