Breaking News

मसूद पर पाबंदी से कांग्रेसी नेताओं में भी चिंता- जयराम ठाकुर

एप्पल न्यूज़, शिमला

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता जयराम ठाकुर ने कहा कि ज़िहादी आतंकवादी मसूद अज़हर पर संयुक्त राष्ट्र द्वारा पांबदी लगाए जाने से पाकिस्तान में ही नहीं देश के विपक्षी नेताओं में भी चिंता है। अपने भाषणों में यह आतंकवादी कांग्रेस और कम्युनिस्ट नेताओं की तारीफ करता था। ये पार्टियां देश हित को ताक पर रखकर वोट के लालच में पाकिस्तानी आतंकवादियों के समर्थन में खड़ी दिखती हैं। लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री के जबर्दस्त कूटनीतिक प्रयासों से एक बार फिर साबित हो गया है कि मोदी है तो मुमकिन है। 

उन्होंने कहा कि इससे पहले मोदी के आदेश पर भारतीय सेनाओं ने पाकिस्तान के भीतर घुस कर आतंकवादियों के अड्डे तबाह करने का पराक्रम दिखाया था। तब राहुल गांधी समेत समूचे विपक्ष ने पाकिस्तान की भाषा बोलकर सैन्य कार्रवाई के सबूत मांगे थे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अतंर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत और प्रधानमंत्री का अपमान करने के लिए कहते थे की मोदी चीन से डरते हैं। अब मोदी के प्रयासों ने संयुक्त राष्ट्र में चीन को झुकने पर मजबूर कर दिया। 
 जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने साफ कर दिया है कि भारत अपनी सुरक्षा के लिए  देश के दुश्मनों पर नकेल कसना जारी रखेगा। कश्मीर में पिछले पांच वर्षाें में आतंकवाद के खात्मे के लिए मोदी सरकार ने अत्यंत प्रभावी कार्रवाई करके जिहादी तत्वों की कमर तोड़ दी है। इस दौरान सैंकड़ो आतंकवादी ढेर किए गए और उनके सरगनाओं को गिरफ्तार कर जेल में डाला गया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से निपटने में सेना के अलावा कूटनीतिक प्रयासों का भी इस्तेमाल किया गया। 
उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों से मसूद अज़हर को बचाने के लिए चीन कई बार वीटो का इस्तेमाल कर चुका था। भारत के जबर्दस्त अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों के कारण चीन को भी झुकना पड़ा। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच सदस्यों में से चार-फ्रांस, अमरीका, इंग्लैंड़ और रूस पहले ही खुल कर भारत का समर्थन कर रहे थे। अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मोदी जी पाकिस्तान को अलग-थलग कर दिया है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस एवं कुछ अन्य विपक्षी नेताओं के बयानों को मसूद अज़हर अपने भाषणों में इसलिए इस्तेमाल करता था क्योंकि दोनों बातें एक जैसी होती थी। भारत के कूटनीतिक और सैन्य प्रयासों की निंदा मसूद अजहर भी करता था और भारत के विपक्षी नेता भी। मसूद और राहुल गांधी दोनों ने सर्जिकल स्ट्राइक और पाकिस्तानी हवाई हमलों की सच्चाई को मानने से इन्कार कर दिया था। लेकिन देश की जनता को यह विश्वास है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों में देश सुरक्षित है। हिमाचल के हज़ारों जवान सेना में कार्यरत हैं और बड़ी संख्या में पूर्व सैनिक भी यहां हैं। यह बड़ा वर्ग देश की हिफाजत में मोदी के प्रयासों का समर्थन करता है।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3