Breaking News

देश में लोकतंत्र की स्थिति ठीक नहीं, अब चुनाव लड़ने का भी मज़ा नहीं- शांता कुमार

एप्पल न्यूज़, शिमला
पूर्व मुख्यमंत्री और सांसद शांता कुमार ने कहा कि 66 साल से राजनीति में रहे। 52 साल से चुनाव लड़ते लड़ाते हुए हो गए। इस बार चुनाव न लड़ने का मन बनाया। इस बार प्रदेश की जनता का धन्यवाद करूँ। कांगड़ा चम्बा में सभी का धन्यवाद कर रहा हूँ। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री हैं और आगे भी रहेंगे। क्योंकि विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र में विपक्ष का कोई ऐसा चेहरा ही नहीं जो मोदी का सामना कर सके। न गठजोड़ है न महागठजोड़ है। कोई कॉमन मिनिमम प्रोग्राम नहीं है।

शांता कुमार ने कहा कि देश में लोकतंत्र की स्थिति ठीक नहीं है। क्योंकि मजबूत लोकतंत्र होना जरूरी है। लेखक होने के नाते बुद्धिजीवी वर्ग भी मानता है कि मोदी से भले मतभेद है लेकिन लोकतंत्र में विपक्ष मजबूत होना जरूरी है। जो काम मोदी ने 5 साल में किए उनका कोई विकल्प नहीं है।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर इस बार पिछली बार से ज्यादा सीटें भाजपा को मिलेगी। विकास हर सरकार ने किया लेकिन सामाजिक न्याय नहीं मिला। एक तरफ आसमान छुंती अमीरी और दूसरी तरफ कुपोषण से मारने वलोने बच्चों की संख्या भारत मे सर्वाधिक है। बुनियादी परिवर्तन मोदी सरकार ने किए।


हिमाचल में देश से भी ज्यादा दुर्गति है। विपक्ष में वीरभद्र सिंह भी हैं और अन्य भी। लेकिन आपस में लड़ाई चरम पर है। लोकतंत्र के लिए सशक्त विपक्ष चाहिए लेकिन वह आपस मे लड़ रहे है। शिमला में कांग्रेस प्रत्याशी को पुराण पापी कह रहे हैं तो मंडी में सुखराम के धोखे को न भूलने की बात कर रहे हैं। यह परिदृश्य ऐसा है कि चुनाव लड़ने का मजा नहीं आ रहा। मूलभूत समस्याओं पर बहस नहीं हो रही है।
प्रदेश के 34 हजार पन्ना प्रमुख हैं 2- 2 वोट भी बढाएंगे तो जीत पक्की है। वीरभद्र सिंह बुद्धिमान हैं कभी कुछ कह रहे हैं कभी कुछ। मजबूरी में ऐसे बयान दे रहे हैं।

एक सवाल के जवाब में शांता कुमार ने कहा कि पार्टी ने सोच विचार कर ही 75 पर नेताओं का चुनाव न लड़ने का फैसला लिया। नए लोग आएंगे तो नया काम होगा। पिछली बार भी वह चुनाव नहीं लड़ना चाहते थे लेकिन लड़ा। अपना कायाकल्प देश विदेश में मशहूर हो गया है अपना पूरा समय वहीं लगाना चाहता हूं। राजनाथ सिंह के कहने पर लड़ा।
पूरे देश की राजनीति के अवमूल्यन से बहुत चिंतित हूँ। अब नेता शब्द सम्मानसूचक नहीं रहा। राजनीति का काफी अवमूल्यन हुआ है। राजनीति का स्तर इस बार बेहद गिरा है। नेताओं को अपने शब्दों पर लगाम लगानी होगी।
अटल आडवाणी के नाम पोस्टर बैनर से गायब हैं उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है उनके नाम लिए जा रहे हैं। मोदी ने अपना विशेष स्थान बना दिया है केवल भाजपा ही नहीं हर जगह। अब इस बार पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएंगे।

शांता कुमार ने कहा कि चम्बा में सीमेंट प्लांट लगना चाहिए। यहां का कच्चा माल सबसे बढ़िया है। लेकिन स्थिति आज भी वही है जो 1977 में बरमाणा की थी। उन्होंने बरमाणा में बायपास सड़क बनाई। और सीमेंट उद्योग लग गया। आज बिलासपुर में रोजगार के साथ विकास सम्भव हुआ। उसी तरह सिकरिधार के लिए जयराम सरकार ने सड़क बनाने का फैसला लिया और अब चम्बा सीमेंट प्लांट का सपना साकार होगा। मैं किशन कपूर के असिस्टेंट सांसद बनकर काम करूंगा और चम्बा सीमेंट प्लांट लगवाकर ही रहेंगे।


उन्होंने कहा कि हिमाचल में उद्योग नीति में परिवर्तन आया है। पर्यटन में अपार संभावनाएं हैं। उद्योग नीति निवेशक मित्र है।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3