Breaking News

बीजेपी की ऐतिहासिक जीत से सदमे में कांग्रेस, अब गांधी मुक्त भी होगी कांग्रेस: जयराम ठाकुर

एप्पल न्यूज़, शिमला
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुुुर ने कहा कि एतिहासिक जीत के लिए हिमाचल के सभी प्रबुद्ध नागरिकों का आभार करता हूं। हमारी पार्टी को हर जगह सहयोग दिया। इस बार कुछ बातें ऐसी हुई है जो लंबे समय तक इतिहास का हिस्सा बनेगी। सबसे पहली बात लोकसभा चुनाव का सबसे लंबा चुनाव। हिमाचल में जन अभियान को सहयोग दिया वहीं इस दॄष्टि से भी मतदान किया कि अब तक हुए लोकसभा चुनाव में सबसे अधिक मतदान प्रतिशत हासिल किया। तीसरी बात जनता का अभिनन्दन करता हूं जिन्होंने इतना भारी समर्थन दिया। वहीं पार्टी के नेतृत्व, सतपाल सिंह सत्ती, पीके धूमल, कैबिनेट को भी उन्होंने बधाई दी।

उन्होंने कहा कि यह भी ऐतिहासिक हुआ है जब सभी विस् क्षेत्रो से भाजपा को बढ़त मिली है। इस बात की भी प्रसन्नता है कि पूरे देश में हिमाचल का वोट शेयर 69.1% सबसे अधिक रहा है।
हिमाचल में 9 विस् क्षेत्र जहां 30 हजार से अधिक बढ़त मिली है। 34 ऐसे जहां 20 हजार से अधिक की बढ़त मिली। 21 विस् ऐसे जहां 10 हजार से अधिक बढ़त मिली और 4 ऐसे विधानसभा क्षेत्र जहां भाजपा को 10 हजार से कम बढ़त मिली। बीजेपी को 68.4% कांग्रेस को मात्र 27% वोट परसेंट मिला।
जीत का मार्जन लंबे समय तक इतिहास का हिस्सा रहेगा।
उन्होंने कहा कांग्रेस के प्रत्याशी अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र से भी बढ़त हासिल नहीं कर पाए। मंडी सदर से 27491 वोट की बढ़त मिली। आश्रय अपने मतदान केंद्र में भी पीछे रहे। कांगड़ा से पवन काजल 23643 वोट से पीछे रहे, सोलन से 16 हजार से अधिक मतों से शांडिल पीछे रहे। अपने विस् क्षेत्र नैना
देवी से रामलाल 10833 मतों से पीछे रहे। रोहड़ू व रामपुर में बीजेपी कभी लोकसभा व विस् चुनाव में बढ़त हासिल नहीं कर पाते थे वहां भी जीत हुई।
सबसे अधिक बढ़त 39हजार नालागढ़ से मिली है। आने वाले समय मे इस बढ़त को पार करना किसी के लिए सरल नहीं। उन्होंने कहा 39 हजार वोट से अधिक की बढ़त लेकर मेरे विधानसभा क्षेत्र सराज ने दूसरा स्थान हासिल किया है और तीसरे नंबर पर जोगिन्दर नगर रहा।
आज तक किसी भी लोकसभा चुनाव में इतनी बढ़त नहीं मिली है।
देश में जो माहौल देखने को मिला उसकी के अनुरूप हिमाचल में भी देखने को मिला। इस जीत का पूरा श्रेय उन्होंने मोदी व शाह को दिया। उन्होंने कहा इस एतिहासिक जीत के लिए 2014 में ही मिशन 2019 का कार्यक्रम पार्टी व सरकार के स्तर पर शुरू हो चुका था।
उन्होंने कहा पार्टी के हिमाचल अध्यक्ष के नेतृत्व में भी इसी तरह काम किया गया। बतौर सीएम हिमाचल में मेरे लिए नया काम था। हालांकि इससे पहले अध्यक्ष रहते हुए जिम्मेदारी निभाई थी। मगर इतनी सफलता नहीं मिली। इन चुनाव में बतौर सीएम मैंने 106 सभाओं में भाग लिया।
चुनाव से पहले भी अधिकांश विस क्षेत्र का दौरा कर लिया था। चुनाव घोषित होने के बाद भी वहां दोबारा जाने का मौका मिला। लोगों से मिलने व उनकी समस्याओं को सुनने का मौका मिला
कांग्रेस ने ऐसी हार की अपेक्षा नहीं की थी। कांग्रेस सदमे में है। कुछ लोगों ने समझा था हमारे कहने से ही सब कुछ होता है। इस चुनाव परिणाम से सभी की गलतफहमी दूर होगी।
पण्डित सुखराम बड़ी बातें करते थे हुआ क्या अपने विधानसभा क्षेत्र से भी हार मिली। अब वह दौर नहीं रहा। कांग्रेस सहज रूप से हार को स्वीकार करना चाहिए। जनादेश को स्वीकार करना चाहिए।
एग्जिट पोल के बाद से ही कांग्रेस ने रोने की रिहर्सल शुरू कर दी और ईवीएम पर सवाल उठाना शुरू कर दिया। जिस तरह से कांग्रेस मुक्त भारत हुआ है। उसी तरह
कांग्रेस गांधी मुक्त होने की परिस्थिति बन गई है। राहुल गांधी पुश्तैनी सीट से हार गए। इससे बड़ी हार क्या होगी।
एक सवाल के जवाब में सीएम ने कहा अपना चेहरा छुपाने के लिए ईवीएम पर सवाल उठा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र को भी जनादेश का सम्मान करना चाहिए।

उन्होंने कहा सभी मंत्रियों ने बहुत अच्छा परफॉर्म किया है। पार्टी नेताओं से चर्चा कर मंत्री पद भरे जाएंगे।

अनिल शर्मा की विधायकी पर उन्होंने कहा कि रिपोर्ट तलब की जाएगी कि उनकी इन चुनाव में क्या भूमिका रही किस तरह से अनिल शर्मा ने पार्टी के लिए काम किया। उसके बाद ही निर्णय लिया जाएगा।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3