Breaking News

हि.प्र. लोक सेवा आयोग ने सैट-2015 का परिणाम घोषित किया

 

हि.प्र. लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष के.एस.तोमर की अध्यक्षता में आज यहां आयोजित परिनियमन समिति बैठक में राज्य पात्रता परीक्षा-2015 (सैट-2015) का परिणाम घोषित किया गया।

बैठक में विचार-विमर्श करने के पश्चात सैट-2015 के न्यूनतम अंकों को निर्धारित करने बारे विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के मापदण्डों के अनुसार पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए निर्णय लिया गया। सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों जिन्होंने पेपर 1, 2में 40 प्रतिशत व पेपर 3 में 50 प्रतिशत तथा अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग तथा शारीरिक अक्षम वर्ग के अभ्यर्थियों को पेपर 1, 2 में 35 प्रतिशत व पेपर 3 में 40 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों को विचाराधीन परिधि में सम्मिलित किया गया। विचाराधीन परिधि में आने वाले 3438 परीक्षार्थियों में से प्रथम 15 प्रतिशत अभ्यर्थियों को प्रत्येक वर्ग एवं विषयवार उत्तीर्ण घोषित करने बारे निर्णय लिया गया।

बैठक में मुम्बई विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.डाॅ. संजय वी.देशमुख, उप-निदेशक उच्च शिक्षा, हि.प्र. डाॅ. अमर देव, सोलन के नौणी स्थित उद्यान एवं वानिकी विश्वविद्यालय के प्रो. डाॅ. नवेदिता शर्मा, चण्डीगढ़ स्थित पंजाब विश्वविद्यालय के अंग्रजी एवं सांस्कृतिक अध्ययन विभाग के प्रो.डाॅ. लवलीना पी.सिंह, नई दिल्ली से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के उप सचिव डाॅ. सुरेन्द्र सिंह, हि.प्र.

लोक सेवा आयोग के सचिव संजीव पठानिया तथा लोक सेवा आयोग के ही राज्य पात्रता परीक्षा के सदस्य सचिव अशोक गुप्ता अन्यों के अतिरिक्त बैठक में उपस्थित थे।

इसी बैठक के साथ एक अन्य सम्बन्धित स्टीरिंग/एडवाइजरी समिति की बैठक का आयोाजन भी लोक सेवा आयोग के परिसर में किया गया, जिसमें हि. प्र. लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष के.एस. तोमर, हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति आर.एस. चैहान, डाॅ. वाई.एस. परमार उद्यान एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी सोलन के कुलपति डाॅ. हरि चंद शर्मा, प्रौफेसर फल विज्ञान उद्यान एवं वानिकी विश्वविद्यालय सोलन डाॅ. कृष्ण कुमार, यूजीसी उप सचिव नई दिल्ली डाॅ. सुरेन्द्र सिंह, हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग के सचिव संजीव पठानिया तथा सैट के सदस्य सचिव अशोक गुप्ता ने भाग लिया। बैठक में परिनियमन समिति द्वारा निर्धारित न्यूनतम अंकों के आधार पर उक्त परीक्षा परिणाम घोषित करने के लिए अनुमोदित किया गया।

तोमर ने बताया कि इस परीक्षा के लिए कुल 17672 आवेदन प्राप्त हुए जबकि गत वर्ष 18935 आवेदन प्राप्त हुए थे। 17672आवेदकों में से 15844 को अस्थाई रुप से प्रवेश दिया गया। यूजीसी द्वारा जिन 19 विषयों में सैट-2015 को आयोजित करने के लिए मान्यता प्रदान की गई थी उसमें 9539 परीक्षार्थियों ने सभी तीन पेपरों में परीक्षा दी।

हि.प्र. लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष ने प्रस्तावित समय पर परीक्षा परिणाम घोषित होने पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि यह आयोग के समस्त अधिकारियों व स्टाफ के सांझे प्रयासों व व्यवस्थित योजनाओं से ही संभव हो पाया है।

उन्होंने कहा कि इस परीक्षा में सभी 19 विषयों एवं सभी वर्गों में 579 परीक्षार्थियों को उत्तीर्ण घोषित किया गया है। विस्तृत परिणाम आयोग की वेबसाईट  पर देखे जा सकते हैं।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3