Breaking News

IGMC डीडीओ की लापरवाही, 15 साल Job के बाद भी न पेंशन मिली न NPS का 10 % शेयर

एप्पल न्यूज़, कांगड़ा

स्वास्थ्य विभाग की लापरबाही का खमियाजा भुगत रही एक रिटायर जूनियर असिस्टेंट  इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज  शिमला में यूं तो बड़ी बड़ी बीमारियों का इलाज होता है परन्तु अपने ही स्टाफ के साथी अपने ही पूर्व कर्मचारी  को दिमागी तौर पर ऐसे परेशान करेंगे यह  विजय शर्मा ने कभी नही सोचा था । 

विजय शर्मा जुलाई 2003 में आई जी एम सी  में बतौर क्लर्क  सरकारी सेवा में आई उस समय सभी कर्मचारियों का जी पी एफ कटता था क्योंकि नई पेंशन स्कीम की नोटिफिकेशन 2006 में हुई और 15 मई 2003 के बाद सरकारी सेवा में आये कर्मचारीयों को नई पेंशन स्कीम में डाल दिया गया और उनका जी पी एफ बन्द कर सी पी एफ काटा जाने लगा।

परन्तु 2006 में आई जी एम सी  बाले विजय शर्मा का जी पी एफ बन्द करना भूल गए और उनका जी पी एफ 2017 तक काटते रहे  उनकी रिटायरमेंट से कुछ माह पहले  आई जी एम सी को अपनी गलती का अहसास हुआ और आनन फानन में उनका जी पी एफ बन्द कर प्रेन किट के लिए अप्लाई किया गया प्रेन नंबर आते आते तीन माह उनके सेवानिवृत होने में रह गए थे और महज तीन ही किश्ते एन पी एस  की कट पाई और वह रिटायर हो गई।

जी पी एफ का काफी पैसा बह बच्चों की पढ़ाई और बेटी की शादी  पर निकाल निकाल खर्च कर चुकी थी उन्हें तो यह भी नही पता था कि वह एक नई पेंशन स्कीम की कर्मचारी हैं। उन्होंने कभी नही सोचा था कि आई जी एम सी की लापरवाही के कारण उनकी यह दुर्दशा होगी।

जुलाई 2018  में जब विजय शर्मा रिटायर हुई तो उन्हें ना तो पेंशन मिली और ना ही सरकार की तरफ से  एन पी एस से मिलने बाला 10% शेयर उन्हें मिल पाया।

नई पेंशन स्कीम कर्मचारी एसोसिएशन के कांगड़ा जिला प्रधान से अपना दिल का दर्द सुनाते हुए विजय शर्मा ने बताया कि 15 साल नौकरी के बाद भी आज उनके हाथ खाली है और उन्हें मजबूरन शिमला छोड़ कर चंडीगढ़ शिफ्ट होना पड़ा ताकि वह छोटी मोटी नौकरी से गुजारा कर सकें।इस विषय मे इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज अपनी गलती मानने को तैयार नही है।

कांगड़ा जिला प्रधान ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि किसी भी कर्मचारी की एन पी एस कटौती डी डी ओ की जिम्मेवारी है। अगर विजय शर्मा का जी पी एफ़ 2006 में विभाग ने बन्द कर दिया होता तो सरकार की तरफ से मिलने वाला एन पी एस का 10% शेयर उनके एन पी एस के खाते में 2006 से जमा होता  जिससे रिटायर होने पर  उन्हें एक सम्मानजनक राशि मिल जाती। जिला प्रधान ने कहा कि जल्द एसोसिएशन इस विषय में मुख्यमंत्री से  मिलेगी ताकि विजय शर्मा को न्याय दिलाया जा सके ।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3