Breaking News

लो जी- आर्थिक तंगी में भी डेढ़ लाख बढ़ेगा माननीयों का यात्रा भत्ता, विधायकों के वेतन भत्तों में संशोधन को विधानभा में बिल पेश

एप्पल न्यूज़, शिमला

हिमाचल प्रदेश के मंत्री-विधायकों का यात्रा भत्ता अब अढ़ाई लाख से चार लाख रुपये हो जाएगा। इस बाबत शुक्रवार को विधानसभा में मंत्रियों के वेतन और भत्ता संशोधन विधेयक को पेश किया गया। इस बिल के पारित होने के बाद प्रदेश के माननीयों के लिए देशभर में टैक्सी सेवा की सुविधा भी मिल जाएगी।

संशोधित बिल में सभी विधायकों व पूर्व विधायकों का यात्रा भत्ता बढ़ाने का प्रस्ताव है। इसके तहत विधायकों को सालाना ट्रेवलिंग एलाउंस की राशि अढ़ाई लाख से बढ़ाकर चार लाख कर दी जाएगी। इसके अलावा पूर्व विधायकों का यात्रा भत्ता डेढ़ लाख से बढ़ाकर दो लाख करने का प्रस्ताव है।

खास बात यह है कि इस संशोधित बिल में माननीयों को सबसे बड़ी सुविधा टैक्सी सेवा की मिलेगी। वर्तमान में विधायकों को बस, ट्रेन तथा हवाई यात्रा का प्रावधान है। संशोधित विधेयक के बाद माननीयों को टैक्सी की सुविधा भी मिल जाएगी। इसके तहत विधायक व पूर्व विधायक देश के किसी भी कोने में टैक्सी सेवा का लाभ ले सकते हैं।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रस्ताव किया कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा सदस्यों के भत्ते और पेंशन अधिनियम 1971 (1971 का अधिनियम संख्या-8) और संशोधन करने के लिए विधेयक को पुरःस्थापित करने की अनुमति दी जाए। इसी तरह विधानसभा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष के वेतन अधिनियम संख्याक (4) का और संशोधन करने का प्रस्ताव किया। इसी विधेयक में मंत्रियों के वेतन और भत्ता अधिनियम 2000 का अधिनियम संख्यांक (11) का और संशोधन करने के लिए विधेयक पुरःस्थापित किया गया।

जाहिर है कि विधानसभा में संशोधन के लिए पेश होने वाला यह विधेयक सर्वसम्मति से पारित हो जाएगा। इसके बाद विधायकों को यात्रा भत्ता के लिए सालाना चार लाख खर्च करने की अनुमति मिलेगी।

इस सुविधा का लाभ पूर्व विधायकों को भी मिलेगा। अभी तक उन्हें सालाना डेढ़ लाख की राशि यात्रा भत्ता के लिए मिलती है, अब पूर्व विधायकों को दो लाख रुपए यात्रा भत्ते का लाभ मिलेगा। उधर सरकार ने अन्य सभी कर्मचारियों की मांगों को खारिज कर उन्हें मिलने वाले लाभ को देने से इनकार कर दिया और हवाला दिया कि प्रदेश किनार्थिक हालत ठीक नहीं। लेकिन माननीयों के लिए कोई आर्थिक तंगी नहीं है।

previous arrow
next arrow
Slider

2 comments

  1. Krishna Lal Agrawal

    Quite disgusting but people are helpless

  2. केएल शर्मा

    यह बहुत ही गलत फैसला है इस विधेयक को सरकार को वापस लेना चाहिए और इसके साथ-साथ पूर्व विधायक को 150000 रुपए से ब्लॉक कर दो लाख जो किया जा रहा है वह भी वापस लेना चाहिए तीनों विधायकों को तुरंत वापस लिया जाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3