Breaking News

मुख्य सचिव ने किया अंतरराष्ट्रीय शिमला फिल्मोत्सव का समापन

एप्पल न्यूज़, शिमला
मुख्य सचिव डाॅ. श्रीकान्त बाल्दी ने शिमला के गेयटी थिएटर में 5वें अंतरराष्ट्रीय शिमला फिल्मोत्सव के समापन समारोह की अध्यक्षता की।
उन्होंने कहा कि प्रकृति ने प्रदेश को प्राकृतिक सौन्दर्य, मनोरम दृश्यों, बर्फ से ढकी पहाड़ियों तथा खुबसूरत स्थलों से नवाजा है तथा यहां कई फिल्मों को फिलमाया गया है। शिमला पर्यटकों के लिए सांस्कृतिक राजधानी है।

उन्होंने विशेष तौर पर लघु फिल्म ‘तनक’ की सराहना की, जिसमें लोगों को आंखें दान करने के लिए प्रेरित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस प्रकार के फिल्मोत्सव आयोजित किए जाने चाहिएं ताकि फिल्मों को प्रोत्साहित किया जा सके। उन्होंने सभी फिल्म निर्माताओं तथा निर्देशकों का शिमला आने पर आभार व्यक्त किया।
मुख्य सचिव ने इस अवसर पर फिल्मोत्सव के समापन समारोह में पुरस्कार वितरित किए।
फिल्मोत्सव में कुल 20 राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय तथा क्षेत्रीय फिल्म और म्युजिक वीडियो दर्शाई गईं। वृतचित्रों में हिमाचल प्रदेश के बीड़ से नोविता सिंह की ‘ग्लाइड बीड़ बिलिंग’, जम्मू कश्मीर के गुल रियाज की ‘द होप आॅफ टुमारो’, बंाग्लादेश के बिजोये महम्मुद की ‘द बर्थ आॅफ ए लाईफ’, शिमला के गीतेश गुप्ता की ‘द डिवाईन गेट-टू गेदर’, शिमला के मेला राम शर्मा की ‘बूढी दिवाली’ तथा असम के मोंजूल बरूहा की ‘द काॅम्बेट जाॅन’ दर्शाई गई।
लघु फिल्मों में मुम्बई के शैलादित्य की ‘आपके आ जाने से’, मुम्बई की शैफाली सिंह बोहरा की ‘द फिश टेल’ तथा नीदरलैंड की सोफी वैन डे पाॅल की ‘फकिंग कोला’ दर्शाई गईं।
म्युजिक वीडियो में हिमाचल प्रदेश के अभिषेक की ‘याद आवे’, आशुतोष की ‘माईं आरे छोरू’ तथा बिहार के अभिषेक अरूण की ‘हमरू के घर पहुंचाई दे’ प्रदर्शित की गई। इसके अतिरिक्त उत्तराखण्ड के केतन पाल की एनीमेशन फिल्म ‘वन’ भी प्रदर्शित की गई।
फिल्म फेस्टिवल के तीसरे दिन 20 फिल्में दिखाई गई, जिसमें एनिमेटिड फिल्म, शाॅर्ट फिल्म, म्यूजिक वीडियो और पोलैंड, आॅस्ट्रेलिया, यूनाईटिड किंगडम, फ्रांस, ईरान, बांगलादेश, साईप्रस तथा इजराईल इत्यादि देशों की अंतरराष्ट्रीय फिल्में शामिल रही।
इस अवसर पर डाॅ. देव कन्या ठाकुर ने मुख्य अतिथि व अन्य लोगों का आभार व्यक्त किया।
अंतरराष्ट्रीय वर्ग में ‘बुर्किनाबे बाउंटी’ को बेस्ट डाॅक्युमेंटरी, ‘डांस आॅफ जाॅय’ को स्पेशल ज्यूरी डाॅक्युमेंटरी, ‘आर यू ए वाॅलीबाॅल’ को बेस्ट शाॅर्ट फिल्म, ‘इंन द मड’ को स्पेशल ज्यूरी शाॅर्ट फिल्म का अवाॅर्ड दिया गया। राष्ट्रीय वर्ग में ‘जीएमो- क्विन आॅफ द माउंटेन’ को बेस्ट डाॅक्युमेंटरी फिल्म, ‘राॅक्युमेंटरी’ को स्पेशल ज्यूरी डाॅक्युमेंटरी, ‘पम्फलेट’ को बेस्ट शाॅर्ट फिल्म, ’ड्रीम वन – गुरविंद्र’ को स्पेशल ज्यूरी शाॅर्ट फिल्म, ‘मील’ को स्पेशल ज्यूरी शाॅर्ट फिल्म का अवाॅर्ड दिया गया। राज्य वर्ग में निदेशक, नोविता सिंह डाॅक्युमेंटरी फिल्म ‘ग्लाइड- बीड़ बिलिंग’ को बेस्ट फिल्ड अवाॅर्ड दिया गया।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3