Breaking News

कन्दरौर-हमीरपुर सड़क के घटिया निर्माण पर “सर्जिकल स्ट्राइक” ठेकेदार और PWD के चीफ इंजीनियर से लेकर जेई तक सब लपेटे

एप्पल न्यूज़, शिमला
कन्दरौर-हमीरपुर सड़क के घटिया निर्माण पर मुख्यमंत्री कार्यालय के क्वालिटी कंट्रोल विंग की गाज गिर गई है। इसमें ठेकेदारों से लेकर लोकनिर्माण विभाग के अधिकारी लपेटे में आ गए हैं। विभाग के सेंट्रल जोन चीफ इंजीनियर से लेकर 3 डिवीजन के के जेई तक के सभी अधिकारियों पर अब विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

Exclusive

गौर हो कि कन्दरौर-हमीरपुर सड़क के चौड़ीकरण का कार्य नेशनल हाइवे के विंग लोकनिर्माण विभाग कर रहा था। कुछ वर्ष पूर्व इस कार्य के लिए 245 करोड़ का टेंडर हुआ था। इस सड़क की कुल लंबाई 45 किलोमीटर है।
घटिया और गुणवत्ताविहिन कार्य की शिकायत मिलने पर क्वालिटी कंट्रोल विंग की टीम ने कई बार इस सड़क के कार्य निरीक्षण किया तो पाया कि इस कार्य मे ठेकेदारों द्वारा कई तरह की खामियां रखी गई है। यही नहीं लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों की लापरवाही भी सीधे तौर पर उजागर हुई। इस कार्य मे दो ठेकेदारों सिंगल इंडिया और जण्डू कंस्ट्रक्शन को काम सौंपा गया था, विंग ने दोनों को तलब किया। ठेकेदारों ने मन और कहा कि वह काम बिना किसी अतिरिक्त राशि के करने को तैयार हैं इस कार्य को पूरी गुणवत्ता के साथ पूर्ण करेंगे। इसके लिए उन्होंने 30 अप्रैल 2020 तक का समय मांगा है।
क्वालिटी कंट्रोल विंग के मुखिया संजय कुंडू के आदेशों पर यह सारी कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों जिनमे चीफ इंजीनियर से लेकर तीन डिवीजनों के एसई, एक्सीयन, एसडीओ और जेई तक सभी पर विभागीय कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। क्योंकि इन सभी की जिम्मेवारी बनती थी कि सड़क का कार्य नियमानुसार और गुणवत्ता के साथ हो, जो नहीं हुआ।
कुंडू ने प्रधान सचिव लोकनिर्माण विभाग को निर्देश दिए हैं कि वह 3 माह के भीतर इन सभी अधिकारियों पर विभागीय कार्रवाई कर विंग को रिपोर्ट सौंपे।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3