Breaking News

स्वास्थ्य योजनाओं का लाभ हर व्यक्ति को मिले, सरकार कर रही है प्रयास – परमार

एप्पल न्यूज़, बिलासपुर

स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने घुमारवीं विधान सभा क्षेत्र के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भराडी में लगभग 69 लाख रूपए की लागत से निर्मित ओपीडी भवन का लोकापर्ण
तथा 30 से 50 बिस्तरों की सुविधा स्वास्थ्य केन्द्र को प्रदान की उसके उपरांत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र दधोल लगभग 52 लाख रूपए की लागत से निर्मित भवन का भी लोकापर्ण किया। उन्होने मुंडखर में 26 लाख 7 हजार रूपए की राशि से निर्मित स्वास्थ्य उपकेन्द्र मुंडखर भवन का लोकापर्ण के पश्चात घुमारवीं अस्पताल में 50 बिस्तर की सुविधा को 100 बिस्तरों में स्तरोन्नत कर शुभारम्भ भी किया।


इस अवसर पर जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि लोगों को आधुनिक स्वास्थ सेवाएं प्रदान करना प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है प्रदेश को स्वास्थ की दृष्टि से और अधिक मजबूत किया जा रहा है।
उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र में बेहतर चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध करवाने के उदेश्य से अनेकों योजनाएं आरम्भ की है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं का लाभ हर व्यक्ति को मिले इसके लिए सरकार प्राथमिकता के आधार पर प्रयास कर रही है।
उन्होने कहा कि आयुष्मान भारत योजना को प्रदेश में बेहतर ढंग से क्रियान्वित करने के लिए पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया है। उन्होने कहा कि हिमकेयर योजना के साथ प्रदेश के लगभग 6 लाख से भी अधिक परिवारों को जोडा गया है, अब लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए किसी के पास जाने की आवश्यकता नहीं है। आयुष्मान और हिमकेयर योजना लोगों के लिए वरदान सिद्ध
हो रही है। उन्होने कहा कि सहारा योजना को भी इसी माह शुरू कर दिया गया है। प्रदेश में लगभग 10 हजार पात्र लोगों के खाते में प्रतिमाह 2 हजार रूपए सीधे तौर पर डाले  जा रहे है। उन्होने कहा कि मुख्यमत्रीं निशुल्क दवाई योजना के तहत अस्पतालांे में निशुल्क दवाईयां प्रदान की जा रही है।
उन्होने कहा कि जिला आयुष्मान भारत, हिमकेयर तथा सहारा योजना के अतिरिक्त अन्य विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों तक पंहुचाकर उन्हें लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होने कहा कि जिला में आयुष्मान भारत योजना के तहत 47 हजार कार्ड बनाएं जा चुके है जिसके तहत 22 लाख रूपए तथा हिमकेयर योजना के तहत जिला में 16 हजार 890 कार्ड बनाएं गए है जिसके
अंतर्गत 18 लाख रूपए की राशि व्यय की जा चुकी है। उन्होने बताया कि सहारा योजना के तहत जिला में 48 पात्र लोगों को चयनित किया गया है जिन्हें 88 हजार रूपए की स्वास्थ्य सुरक्षा सहायता राशि उपलब्ध करवाई गई है। उन्होने बताया कि हिमकेयर योजना के तहत जनवरी माह से पुनः कार्ड बनाने शुरू कर दिए जाएगें। उन्होने पंचायती राज सस्थानों के प्रतिनिधियों से भी आग्रह
किया वे स्वास्थ्य योजनाओं का ग्राम स्भाओं तथा पंचायत में व्यापक प्रचार प्रसार सुनिश्चित करें ताकि लोग इन योजनाओं का लाभ उठा सके।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग विभिन्न स्वास्थ्य क्षेत्र के विभिन्न मापदण्डों में देशभर में शीर्ष स्थान पर है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ग्रामीण स्तर, दूरदराज क्षेत्रों और शहरों में बेहतरीन सुविधाएं प्रदान
करने के लिए देशभर में हिमाचल प्रदेश को सर्वोच्च स्थान पर आकां गया है उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सस्ंथानों में आधारभूत ढांचा उपलब्ध करवाया जा रहा है। डाक्टरों, पैरामैडिकल स्टाफ तथा रोगियों के लिए विशेष आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही है ताकि उन्हें स्वच्छ साफ-सुथरा
वातावरण प्रदान किया जा सके।
 उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य संस्थानों में डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए 2 वर्षों में 800 मेडिकल अधिकारियों की नियुक्ति की गई है तथा 264 नर्सों की बैच वाईज भर्ती की गई है तथा रेडियोग्राफर, स्वास्थ्य कार्यकर्ता के पद भरे जा रहें है।
उन्हांेने दधोल पीएचसी को 10 बिस्तरों का अस्पताल और एक डॉक्टर का पद सृजित करने का आश्वासन दिया तथा चैंखणा धार में पीएससी खोलने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि भराड़ी स्वास्थ्य केन्द्र में डाक्टरों के 2 नए पद तथा एक लैब टेक्नीशियन का पद सृजित कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुंडखर स्वास्थ्य उपकेंद्र को वैलनेस सेंटर में तबदील कर दिया जाएगा।
उन्होने कहा कि जिला बिलासपुर में 120 स्वास्थ्य उपकेंद्र हैं तथा घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में 35 स्वास्थ्य उपकेंद्र हैं। उन्होने कहा कि प्रदेश के सभी स्वास्थ्य उपकेन्द्रों को चरणबद्ध तरीके से वैलनेस सेंटर में तब्दील किया जाएगा। उन्होंने स्वास्थ्य केंद्र मुंडखर में चार दीवारी के लिए 5 लाख रूपए स्वीकृत करने की घोषणा की। उन्होने कहा कि घुमारवीं अस्पताल को 100 बिस्तरों पर स्तरोन्नत करने पर अब 5 डाक्टरों के स्थान पर 10 डाक्टर अपनी सेवाएं देंगे और अन्य पैरामैडिकल स्टाफ भी उपलब्ध करवाया जाएगा।
विधायक राजेन्द्र गर्ग ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने इस क्षेत्र के विकास के लिए घोषणाएं की थी उन्हें पूरा कर रही है। इसके लिए उन्होने मुख्यमत्रीं जयराम ठाकुर तथा स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार का आभार व्यक्त किया। उन्होने कहा कि क्षेत्र के लोगों
को सभी मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार ने महत्वपूर्ण सहयोग किया है। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री ने करोंडों रूपए की लागत से निर्मित स्वास्थ्य भवनों का लोकापर्ण कर लोगों को घरद्वार पर बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई है।
इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. प्रकाश दडोच ने मुख्यातिथि तथा अन्य अतिथियों का स्वागत किया। इस मौके पर जिला भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र संख्यान, जिला उपाध्यक्ष नवीन
शर्मा, जिला संयोजक आईटी सैल राजेश शर्मा, मण्डलाध्यक्ष घुमारवीं सुरेश ठाकुर, जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष उषा ठाकुर, बीडीसी. कमल शर्मा, लाल सिंह, दूनी चन्द, एसडीएम घुमारवीं शशिपाल शर्मा, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी जयगोपाल शर्मा, एसएमओ. देवदत शर्मा, डा. आदित्य भारद्वाज, एमओएच. डा. प्रविन्द्र शर्मा, बीएमओ. अविनीत के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारी
व स्थानीय गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3