Breaking News

आज साल का पहला चन्द्रग्रहण, रात 10.38 बजे से होगा शुरू, खुली आँखों से देखें-अन्धविश्वस से बचें, गर्भवती महिलाएं बरतें सावधानी

एप्पल न्यूज़, शिमला

वर्ष 2020 का पहला चंद्रग्रहण शुक्रवार की रात को पड़ेगा। यह भारत में भी दिखाई देगा। हालांकि इससे मंदिरों की सेवा सहित धार्मिक कार्यों में कोई खास प्रभाव नहीं पड़ेगा। ज्योतिषाचार्यों ने अनुसार गर्भवती महिलाओं को चंद्रग्रहण देखने से बचना चाहिए। 

चंद्रग्रहण का राशियों पर प्रभाव

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस चंद्रग्रहण के प्रभाव से राजनीति में उथल-पुथल और प्रकृति में हलचल देखने को मिलेगी। मिथुन, कर्क, मीन और वृश्चिक राशि पर इसका विपरीत प्रभाव रहेगा। एक पक्ष (पखवाड़ा) में दो ग्रहण किसी भी दृष्टि से ठीक नहीं हैं।  दिसंबर 2019 के अंतिम सप्ताह में सूर्यग्रहण और अब नए साल 2020 के नौवें दिन यह चंद्रग्रहण आ गया है। शुक्रवार रात करीब 10.38 से 2.40 बजे तक मान्द्य चंद्रग्रहण दिखाई देगा। इसमें सूतक का अधिक प्रभाव नहीं बताया जा रहा है।

गर्भवती महिलाएं देखने से बचें

ज्योतिषाचार्य बनवारी लाल गौड़ ने बताया कि ग्रहणकाल में पाठ-पूजा, दान-पुण्य का सबसे अधिक महत्व है। ग्रहणकाल के दौरान गर्भवती महिलाओं को बचना चाहिए। उनको बंद कमरे में ही जाग कर भगवान का ध्यान करना चाहिए। राजनीति और प्रकृति में भी उथल पुथल देखने को मिलेगा। चार घंटे का रहेगा चंद्रग्रहण आचार्य विपिन बिहारी शास्त्री ने बताया कि चंद्रग्रहण की अवधि करीब चार घंटे तक रहेगी।

हिंदू धर्म में पूर्णिमा का बड़ा महत्व माना जाता है। पौष पूर्णिमा के दिन चंद्रमा अपने पूर्ण आकार में होता है। काल पुरुष के तीसरे भाव में ग्रहण लगने की वजह से प्राकृतिक आपदाओं का संकट भी बढ़ सकता है।

खुली आँखों से देखें, अन्धविश्वस से रहें दूर

राज्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के सदस्य सचिव डीसी राणा ने विद्यार्थियों से आग्रह किया कि चन्द्रग्रहण एक प्राकृतिक घटना है। इसे ननगी आंखों से देखा जा सकता है। उन्होंने लपगों से अन्धविश्वास से दूर रहने की अपील की।

previous arrow
next arrow
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3