Breaking News

किसान का बेटा हूँ, पार्टी जो भी काम सौंपेगी, करूंगा– जय राम ठाकुर

शिमला, www.a4applenews.com

“मैं एक आम किसान परिवार से हूँ, मैंने कभी किसी पद की लालसा नहीं रखी। पार्टी ने जो भी जिम्मा सौंपा उसे पूरी निष्ठा और जिम्मेदारी के साथ निभाया। भविष्य में भी जो जिम्मा सौंपा जाएगा उसे पूरी निष्ठा और ईमानदारी से करूंगा।” यह कहना है हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के प्रमुख दावेदार, युवा व तेज तर्रार 5वीं बार सिराज विधानसभा क्षेत्र से विजयी होकर विधानसभा पहुंचे भाजपा विधायक जयराम ठाकुर का।
युवावस्था में ही 1992 में छात्र काल से राजनीति में पदार्पण करने वाले जयराम ठाकुर 1998 में पहली बार हिमाचल प्रदेश विधानसभा के लिए चुने गए। इससे पचले हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर व पड़ोसी राज्यों में भाजपा संगठन का कार्य करते हुए कई अहम पदों पर आसीन रहे और फिर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पद पर रहते हुए गुटबाजी के भंवर में फंसी भाजपा को नई दशा व दिशा देते हुए एकजुट करने में अहम भूमिका निभाई। साल 2009 में पहली बार हिमाचल प्रदेश सरकार में मंत्री बने। उसके बाद 2012 में विपक्ष में विधायक रहे।
सरल, साधारण, कर्तव्यनिष्ठ, शालीन व्यक्तित्व के धनी ठाकुर बेहद मिलन सार व सादगी से परिपूर्ण हैं। इन्हीं खूबियों के चलते जयराम ठाकुर आज भाजपा के फायर ब्रांड लीडर बनकर उभरे हैं। 
इसी का नतीजा है कि आज प्रदेश व राष्ट्रीय भाजपा नेतृत्व के साथ ही हिमाचल की आम जनता उन्हें हिमाचल प्रदेश के भावी मुख्यमंत्री के तौर पर देखना चाहती है।
जयराम ठाकुर की केंद्रीय नेतृत्व पार्टी हाइकमान, प्रदेश नेतृत्व व संगठन के साथ ही विपक्षी कांग्रेस के नेताओं के बीच मजबूत पैठ है। इसी के चलते उन्हें मुख्यमंत्री पद का सबसे सशक्त चेहरा माना जा रहा है।
वहीं दूसरी ओर भाजपा एक ऐसे चेहरे को मुख्यमंत्री बनाना चाहती है जो युवा, परिपक्व व सभी को साथ लेकर चलते हुए लंबी पारी खेलने में सक्षम हो। जयराम ठाकुर इन सभी खूबियों में पहले स्थान पर आते हैं।
 उनसे बातचीत के अंश…….
आपने मंडी सिराज से एतिहासिक जीत दर्ज की है, किसको श्रेय देंगे?
जीत का श्रेय जनता को जाता है जिन्होंने पार्टी पर विश्वास जताया है। जनता का सहयोग मिलना बड़ा ही महत्वपूर्ण है। साथ ही देश व प्रदेश पार्टी नेतृत्व को भी बड़ा श्रेय जाता है।
आप पांचवी बार विधायक चुन कर आए है, सिराज क्षेत्र व प्रदेश के कौन से कार्य प्राथमिकता पर करेंगे ?
सिराज के लोगों ने पांचवीं बार सेवा का मौका दिया है। सबसे पहले इस क्षेत्र में सड़कों की कमी को प्राथमिकता के आधार पर बढ़ाएंगे। पर्यटन की दृष्टि से भी इस क्षेत्र को  विकसित किया जाएगा। प्रदेश को आर्थिक दृष्टि से संसाधन जुटाने व खड़ा करने के लिए कार्य किए जाएंगे। इसके लिए प्रदेश में पर्यटन की दिशा में काम करने का प्रयास किया जा सकता है। कोशिश रहेगी कि विकास गांव गांव तक पहुंचे।
केंद्र व प्रदेश में भाजपा की सरकार है, कितना फायदा मिलेगा? 
सबसे बड़ी बात यही है कि प्रदेश में कांग्रेस थी और केंद्र में भाजपा। इस वजह से केंद्र की अधिकांश योजनाएं राज्य में सिरे नहीं चढ़ी। प्रदेश सरकार ने केंद्र से मिलने वाली बड़ी योजनाओं पर काम करने की रूचि ही नहीं दिखाई। अब जब दोनों जगह भाजपा की सरकार है तो  हम जितना अधिक हो केंद्र से हिमाचल के लिए लाभ उठाएंगे।
आपका ड्रीम प्रोजेक्ट……?
ड्रीम प्रोजेक्ट की यदि बात करें तो प्रधानमंत्री ने जिस स्वच्छता अभियान को देश में चलाया था, उसे आगे बढ़ाया जाएगा। स्वच्छता की दृष्टि से हिमाचल प्रदेश पहले भी आगे बढ़ा है। देश में सिक्किम के बाद हिमाचल दूसरा ऐसा राज्य है जो निर्मल राज्य है। यहां पर्यटन की बहुत अधिक संभावनाएं है। नेशनल हाइवे व फोरलेन इस काम को आगे बढ़ाने में सहयोग करेंगे।
बेरोजगारी दूर करने के लिए क्या किया जाएगा?
हिमाचल में पर्यटन की अपार क्षमताएं है। जिसका अब तक दोहन नहीं हो पाया है। हमारी सरकार प्रयास करेगी कि पर्यटन की दृष्टि से विशेष योजनाएं बनाकर उस पर काम करें ताकि ज्यादा से ज्यादा बेरोजगारों को उनके घर द्वार पर रोजगार मिल सके।
तो क्या अब तक पर्यटन पर कार्य नहीं हुआ?
कार्य तो हुआ है लेकिन उस स्तर पर नहीं। ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों की दशा अभी भी नहीं सुधरी है। सड़कों का चैड़ीकरण व नई सड़कों का निर्माण साथ ही उनका सही रखरखाव करना होगा। ताकि पर्यटकों को सुविधाएं मिल सके। पर्यटन स्थलों को भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विकसित करना होगा।
एनजीटी ने तो कई स्थानों पर पर्यटन गतिविधियों पर रोक लगा रखी है, उसे लेकर क्या करेंगे?
एनजीटी मामले पर बात करेंगे और केंद्र से भी मामला उठाएंगे।  वर्तमान सरकार ने कुछ कमी छोड़ी थी और पर्यटन स्थलों पर अंधाधुंध निर्माण के साथ ही सुविधाएं न के बराबर थी। हर तरफ गंदगी फैली थी जिस कारण पर्यावरण पर इसका विपरीत प्रभाव पड़ रहा था। एनजीटी से मामला उठाएंगे और समस्या का समाधान किया जाएगा।
क्या हिमाचल में उद्योगों को बढ़ावा दिया जाएगा?
मुझे लगता है कि इस पहाड़ी राज्य में उद्योगों की बजाय पर्यटन को बढ़ावा होगा। प्रकृति ने इस पहाड़ी राज्य को नैसर्गिंग सौंदर्य से भरपूर बनाया है। जहां जरूरत होगी वहां आवश्यक्ता अनुसार उद्योग भी स्थापित होंगे।
पार्टी हाइकमान यदि आपको मुख्यमंत्री बनाते है तो क्या आप तैयार है?
हमने कभी पद की लालसा नहीं की। मुख्यमंत्री कौन बनेगा यह फैसला पार्टी हाइकमान करता है। केंद्रीय आलाकमान मुझे जो भी जिम्मेदारी देगा, उसे निभाया जाएगा।
प्रदेश कर्ज तले दबा है, आर्थिकी मजबूती के लिए क्या किया जाएगा?
सरकार गठन के बाद ही सभी अधिकारी व नेता मिलकर प्रदेश को आर्थिक तौर पर मजबूर करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। केंद्र व राज्य दोनों जगह भाजपा सरकार है, तो मिलकर इस आर्थिक तंगी को दूर किया जाएगा।
previous arrow
next arrow
Slider
WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3