Breaking News

8 जिलों में जन मंच के दौरान मिली 1200 से अधिक शिकायतें व मांगें, अब तक 42,730 का समाधान

एप्पल न्यूज़, शिमला
प्रदेश के आठ जिलों में जन मंच आयोजित किया गया जिनमें 1218 मांगें व शिकायतें प्राप्त र्हुइं। इनमें से अधिकांश का मौके पर ही निपटारा किया गया। मंडी जिले में 16 फरवरी जबकि कांगड़ा जिले में 19 फरवरी को जन मंच आयोजित किए जाएंगे।
आज के जन मंच से पूर्व प्रदेशभर में 157 जनमंच आयोजित कर 1330 ग्राम पंचायतों के ग्रामीणों को लाभ पहुंचाया गया है। इस अवधि में 46,801 शिकायतें व मांग पत्र प्राप्त हुए जिनमें से 42,730 का समाधान किया जा चुका है। जनमंच के माध्यम से प्रदेश भर में आठ हजार परिवारों को बेटी है अनमोल योजना का लाभ प्रदान किया गया है। इसके अतिरिक्त 6,74,013 डिजिटल राशन कार्ड आवंटित किए गए और 73,501 परिवारों को हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना का लाभ प्रदान किया गया। इस दौरान 1,98,331 जनधन खाते खोले गए। जनमंच में 51,186 गर्भवती महिलाओं का पंजीकरण एवं टीकाकरण, 2,42,756 पात्र व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन, 70,337 लोगों का सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण, 8,363 इंतकाल तथा 46,038 विभिन्न तरह के प्रमाण-पत्र जारी किए गए।
ऊना जिले के हरोली विधानसभा क्षेत्र के पालकवाह में आयोजित जनमंच की अध्यक्षता करते हुए जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि अब तक आयोजित जन मंच में प्राप्त शिकायतों व मांगों में से 90 प्रतिशत का निपटारा किया जा चुका है। यह कार्यक्रम जहां अधिकारियों को पारदर्शिता के साथ कार्य करने के लिए प्रेरित कर रहा है वहीं लोगों को बार-बार सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने से छुटकारा दिलाता है जिससे लोगों के धन व समय की बचत होती है।
महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि जिला ऊना के लिए एक बड़ी सिंचाई परियोजना विचाराधीन है। पौंग बांध का पानी ऊना में पहुंचाया जाएगा, जिससे जिला के किसानों को बड़ी सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत हरोली विधानसभा क्षेत्र को 30 करोड़ रुपए मिले हैं।
जन मंच के दौरान कुल 66 शिकायतें व मांगें प्रस्तुत की गईं।
जिला सिरमौर के शिलाई विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत अश्याडी में जन मंच की अध्यक्षता शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्धाज ने की। कार्यक्रम के दौरान 133 मांगें और समस्याएं प्रस्तुत की गईं जिनमें से अधिकतर समस्याओं का मौके पर ही निपटारा कर दिया गया।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने पिछले दो वर्षों में 7300 अध्यापक भर्ती किए हैं। उन्होंने कहा कि प्राथमिकता के आधार पर शीघ्र ही शिलाई व रेणुका जी विधानसभा क्षेत्र में रिक्त पदों पर शिक्षकों को तैनाती दी जाएगी। उन्होंने उपायुक्त को जनमंच कार्यक्रम में निपटाई गई समस्याओं की विशेष समीक्षा करवाने के निर्देश दिए जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि अधिकारियों द्वारा मौके पर दिए गए जवाब धरातल पर क्रियान्वित है।       
सुरेश भारद्वाज ने इस अवसर पर बेटी है अनमोल योजना के तहत बी.पी.एल परिवारों की 10 बालिकाओं के अभिभावकों को सहायता राशि वितरित की। स्वास्थ्य विभाग के शिविर में 350 तथा आयुर्वेद विभाग के स्वास्थ्य शिविर में 170 लोगों ने अपने स्वास्थ्य की जांच करवाई। इस अवसर पर 145 विभिन्न प्रकार के प्रमाण-पत्र बनाए गए।           
इस अवसर पर शिलाई विधानसभा क्षेत्र के विधायक हर्षवर्धन चैहान, अध्यक्ष सिविल सप्लाई बलदेव तोमर भी उपस्थित थे। 
सोलन जिला में नालागढ़ विधानसभा क्षेत्र के बघेरी में जनमंच आयोजित किया गया जिसकी अध्यक्षता शहरी विकासएवं आवास मंत्री सरवीण चैधरी ने की। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि जनमंच में मांगों के स्थान पर शिकायतें प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि मांगे पूरी करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा अनेक माध्यम स्थापित किए गए हैं। इन माध्यमों से बजट के अनुरूप मांगे पूरी की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अब जनमंच समस्या निवारण के साथ-साथ लोगों तक विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की पूरी जानकारी पहुंचाने का माध्यम भी बन गया है।
सरवीण चैधरी ने इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की टीबी मुक्त हिमाचल ऐप का शुभारम्भ भी किया।
जन मंच कुल 185 मांगें व शिकायतें प्रस्तुत की गईं।
इस अवसर पर नालागढ़ के विधायक लखविंद्र राणा, दून के विधायक परमजीत सिंह पम्मी, नालागढ़ के पूर्व विधायक केएल ठाकुर भी उपस्थित थे।
कृषि और जनजातीय विकास मंत्री डाॅ. राम लाल मारकंडा ने कुल्लू उपमण्डल के शाट में जनमंच की अध्यक्षता करते हुए कहा कि मणिकर्ण घाटी में शाट सब्जी मंडी पर चार करोड़ 55 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे तथा इसमें 24 दुकानें बनाई जाएंगी। इससे घाटी के बागवान अपनी फसलों को घर-द्वार पर ही अच्छे दामों पर बेच सकेंगे।
उन्होंने कहा कि कृषि उपकरणों पर सब्सिडी के लिए जिले को साढ़े तीन करोड़ आवंटित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेष के किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है जिसके लिए विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।
जनमंच में 101 शिकायतें एवं मांगें प्रस्तु की गई जिनमें से 78 का मौके पर निपटारा किया गया।
जनमंच के दौरान लोगों को आयुष्मान कार्ड, आधार कार्ड,एचआरटीसी ग्रीन कार्ड, स्मार्ट कार्ड, आय प्रमाण पत्र, परिवार नकल, जाति प्रमाण पत्र और मृदा स्वास्थ्य कार्ड आदि जारी किए गए।
जनमंच में विधायक सुंदर सिंह ठाकुर, पूर्व सांसद महेश्वर सिंह, एचपीएमसी के उपाध्यक्ष राम सिंह उपस्थित थे।
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने बिलासपुर जिले के घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत भराड़ी में जनमंच की अध्यक्षता की। उन्होंने जानकारी दी कि 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत प्रदेश की पंचायतों को 31 मार्च 2020 तक धनराशि खर्च करने के निर्देश दिए गए थे, जिसमें से अधिकतम धन व्यय किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि 15वें वित्तायोग की ग्रांट हिमाचल प्रदेश को स्वीकृत हो चुकी है।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अंतर्गत दुधारू पशुओं के पंजीकरण का कार्य शुरू कर दिया हैं। इस योजना के अंतर्गत पशुपालकों को उनके घर द्वार पर कृत्रिम गर्भाधान की सुविधा प्रदान करवाई जाएगी।
कार्यक्रम के दौरान कुल 216 आवेदन पत्र प्राप्त हुए। इस दौरान लोगों को विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्र जारी किए गए।
विधायक राजेंद्र गर्ग भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
चंबा जिला में डलहौजी विधानसभा क्षेत्र के भलेई में आयोजित जनमंच की अध्यक्षता करते हुए उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने राज्य कामगार बोर्ड को चंबा जिला में विभिन्न स्थानों पर एक महीने के भीतर जागरूकता शिविर लगाने के निर्देश जारी किए। जनमंच के दौरान राष्ट्रीय जल विद्युत निगम की जल विद्युत परियोजना के जलाशय से लोगों को पेश आने वाली दिक्कतों का मामला उठाया गया। उद्योग मंत्री ने उपायुक्त चंबा को राष्ट्रीय जल विद्युत निगम के अधिकारियों और स्थानीय प्रतिनिधियों के साथ बैठक करके इसका समाधान करने के निर्देश दिए। भलेई महाविद्यालय में शिक्षकों की कमी की समस्या के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि इस वहां डेपुटेशन के आधार पर शिक्षकों की तैनाती के मामले को शिक्षा सचिव के ध्यान में लाया जाएगा ताकि विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित न हो। उद्योग मंत्री ने कृषि विभाग को तेलका में उप सब्जी मंडी के निर्माण से जुड़ी तमाम औपचारिकताओं को जल्द पूरा करने के निर्देश भी दिए। 
कार्यक्रम में लोगों ने 140 मांगें और समस्याएं प्रस्तुत कीं जिनमें से अधिकतर का निपटारा मौके पर ही किया गया।
विधायक विक्रम जरियाल और पवन नैयर भी इस दौरान उपस्थित थे।
शिमला जिले में जनमंच का आयोजन रामपुर बुशहर क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत झाकड़ी में आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता परिवहन एवं वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने की। कार्यक्रम के दौरान 58 जन शिकायतें प्राप्त हुई जिनमें से 42 का मौके पर ही निपटारा कर दिया गया। उन्होंने ‘बेटी है अनमोल योजना’ के तहत 10 बालिकाओं को एफडी प्रदान की। इस दौरान निःशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर लगाया गया और  विकलांगता प्रमाण-पत्र, राजस्व संबंधी दस्तावेज स्थानीय लोगों को उपलब्ध करवाए गए।
मंत्री ने सड़क सुरक्षा के महत्व पर भी स्थानीय लोगों से विस्तृत चर्चा की तथा युवा वर्ग से यातायात नियमों का पालन करने का संदेश दिया।
इस अवसर पर स्थानीय विधायक नंद लाल भी उपस्थित थे।
मुख्य सचेतक एवं जनमंच के प्रदेश समन्वयक नरेंद्र बरागटा की अध्यक्षता में हमीरपुर जिले के बड़सर विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत टिप्पर के अम्बेहड़ी में जनमंच का आयोजन किया गया। जनमंच में कुल 118 शिकायतें व 201 मांगपत्र प्राप्त हुए जिनमें से लगभग 85 प्रतिशत शिकायतों का निराकरण मौके पर ही किया गया। श्री बरागटा ने कहा कि मुख्य सचिव स्तर पर भी निरंतर जन मंच की निगरानी की जा रही है। जिला स्तर पर भी प्रदेश समन्वयक की अध्यक्षता में जनमंच की समीक्षा की जा रही है और शीघ्र ही हमीरपुर जिला में भी ऐसी ही समीक्षा बैठक का आयोजन किया जाएगा।
जन मंच के दौरान पुलिस विभाग ने लोगें को साईबर अपराधों बारे में जागरूक किया।

Check Also

सुनीता ठाकुर को सौंपी संयुक्त व्यापार मंडल हिमाचल प्रदेश की कमान

एप्पल न्यूज़, शिमला हिमाचल प्रदेश में व्यपारियों की समस्यों का निदान करने के लिए प्रदेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3