वाह- एक ही सड़क का 2 बार शिलान्यास, तो क्या केवल वीरभद्र सिंह के नाम की पट्टिका बदलने को किया गया…?

एप्पल न्यूज़, शिमला

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा किये गए शिलान्यास व उदघाटन को विधयाक विक्रमादित्य सिंह अब तक पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की देन बता रहे थे। वहीं अब उन्होंने सीएम जयराम ठाकुर को वीरभद्र सिंह द्वारा 3 साल पहले किये जा चुके शिलान्यास को दोबारा करने पर घेरा है।

\"\"

शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में सीएम जयराम ठाकुर ने कुछ दिन पहले ही करोड़ों रुपये के कार्यों के शिलान्यास व उदघाटन किये है।
इसी में एक सड़क का शिलान्यास 3 साल पहले पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह द्वारा किया जा चुका था। कहाँ अब काम पूरा कर सीएम को अपना नाम सुनहरे अक्षरों में उदघाटन पट्टिका पर लिखवाना चाहिए था, मगर यहां इसके विपरीत अभी भी सालों बाद शिलान्यास तक ही बात पहुंची है। जबकि अढाई किलोमीटर का सड़क निर्माण कार्य पूरा भी हो चुका है। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं तो क्या शिलान्यास केवल पूर्व सीएम वीरभद्र के नाम की पट्टिका बदलने हेतु किया गया?

\"\"


मामले पर विधायक विक्रमादित्य सिंह ने सोशल मीडिया पर सीएम जयराम व सरकार को घेरा है और कहा है कि
जिस सड़क का शिलान्यास पहले ही हों चुका हैं , उसका फिर से 3 साल बाद शिलान्यास करने का क्या औचित्य हैं ? इस सड़क का क़रीबन 2.5 किलोमीटर कार्य पूरा हों चुका है और FCA की अनुमति के बाद शेष बचा कार्य भी पूरा हों जाएगा ।

\"\"

यह सड़क विधायक प्राथमिकता ( MLA PRIORITY 2015-2016) के अंतर्गत बनाईं जा रही हैं । विक्रमादित्य सिंह ने आरोप लगाए हैं कि जयराम सरकार कुछ नया तो करती नहीं पुराने कार्यों में ही अपना पट्टिका लगाना और पूर्व में हुए कामों का रिबन काटना ही सरकार की उपलब्धि रह गई है ।
उन्होंने कहा है कि यही हाल पूरे प्रदेश का है, एक बड़ी उपलब्धि बता दीजिए इस सरकार की ? उन्होंने पूछा है कि मंडी के अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का क्या हुआ ?

Share from A4appleNews:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

IGMC में डॉ. शिखा ने की बिलियरी इंटरवेंशन विद इनटरनेलाइजेशन, बिना चीर फाड़ किया उपचार...

Sat Jul 18 , 2020
जुब्बल के जियालाल और सोलन जिला की महिला मरीज सत्या देवी को मिली नई जिंदगीएप्पल न्यूज़, शिमला प्रदेश में इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के रेडियोलॉजी विभाग में तैनात सहायक प्रोफेसर डॉ. शिखा सूद ने जुब्बल के 63 वर्षीय जिया लाल को नई जिंदगी दी। इसके साथ ही एक […]

Breaking News