आतिशबाजी नहीं ‘भडराणा’ जला नाटी डालकर आनी के ओलवा गांव में प्राचीन परंपरा से मनाई अनूठी दीपावली

एप्पल न्यूज़, आनी

दीपावली का पर्व जहां समूचे भारतवर्ष में बड़े हर्षोल्लास व धूमधाम से मनाया गया, वहीं कुल्लू जिला के आनी उपमंडल के ओलवा गांव में यह पर्व स्थानीय ग्रामीणों द्वारा प्राचीन परंपरा अनुसार मनाया गया।

स्थानीय आराध्य देवता कुलक्षेत्र महादेव के सानिध्य में मनाए जाने  वाले दिवाली पर्व में आज भी प्राचीन संस्कृति की झलक देखने को मिली।

देवता कुलक्षेत्र महादेव के कारदार कमलेश शर्मा ने बताया कि दीपावली की संध्या को मंदिर के गर्भगृह में बिधिवत पूजा अर्चना के बाद कुंडा दैरची की रस्म निभाई गई.जिसमें मंदिर गर्भगृह से जलती मशाल को बाहर प्रांगण में लाया गया, जहां भड़राणा जलाया गया।

उसके बाद  गढ़िए आए और भड़राणे के गिर्द नाटी नृत्य किया। सुबह स्थानीय ग्रामीण महिलाओं द्वारा परम्परा अनुसार भड़राणे की बिधिवत पूजा अर्चना की गई और भगवान सूर्य की  पूजा भी की गई।

प्रातः देवता कुलक्षेत्र महादेव भी अपने दिव्य रथ में लोगों के दर्शनों के लिए वाहर निकले। इसी बीच चुढी व बांड की रस्में भी निभाई गई।स्थानीय ग्रामीणों  ने  दिवाली की प्राचीन परंपरा का खूब निर्वहन किया।

Share from A4appleNews:

Next Post

राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री ने दी भाई दूज की बधाई

Sat Nov 6 , 2021
राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर तथा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने प्रदेशवासियों को भाई दूज की बधाई दी है।अपने बधाई संदेश में राज्यपाल ने कहा कि यह पर्व भाई-बहन के स्नेह का प्रतीक है जिससे समाज में एकता एवं भ्रातृत्व की भावना सुदृढ़ होती है।  मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि […]

Breaking News