IMG_20220716_192620
IMG_20220716_192620
previous arrow
next arrow

बेरोजगार वेटेरिनरी फार्मासिस्टों ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन, नई पंचायतों में बेरोजगार वेटेरिनरी फार्मासिस्ट की नियुक्ति की मांग उठाई

एप्पल न्यूज़, रंजू जम्वाल घुमारवी बिलासपुर

प्रदेश के बेरोजगार वेटेरिनरी फार्मासिस्टों ने एसडीएम बिलासपुर रामेशवर दास के माध्यम से मुख्यमंत्री व पशुपालन मंत्री को ज्ञापन भेजा है । वेटेरिनरी फार्मासिस्टों ने ज्ञापन में मांग की है प्रदेश सरकार द्वारा हाल ही में जो नई पंचायतों का गठन किया गया था उनमें सरकार पशु ओषधलाय खोल कर बेरोजगार बैठे वेटेरिनरी फार्मासिस्टों की नियुक्ति करें ।

वेटेरिनरी फार्मासिस्ट अजय ठाकुर , विशाल ठाकुर , पल्लवी शर्मा, शिवानी और अजय ने बताया कि प्रदेश में हर वर्ष काफी संख्या में वेटेरिनरी फार्मासिस्ट बेरोजगार हो रहे है और सरकार इस बारे कोई ध्यान नही दे रही है । प्रदेश में प्रशिक्षण केंद्रों की संख्या बढ़ने से बेरोजगारी की इस संख्या को और तेजी प्रधान हो रही है।

बेरोजगार वेटेरिनरी फार्मासिस्टों ने सरकार से मांग की है प्रदेश की नई पंचायतों में पशु ओषधलाय खोल कर सभी बेरोजगार वेटेरिनरी फार्मासिस्टों को रोजगार दिया जाए । उन्होंने कहा कि प्रदेश में हर साल बड़ी संख्या में युवक व युवतियां वेटेरिनरी फार्मासिस्ट का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे जिससे डिप्लोमा धारक वेटरनरी फार्मासिस्ट का बैकलॉग लगातार बढ़ता जा रहा है तथा सरकार द्वारा रोजगार का साधन उपलब्ध न करवाने से बेरोजगारी को गले लगा रहे है ।

उन्होंने कहा कि वेटेरिनरी फार्मासिस्ट को पहले पांच वर्ष के लिए पंचायत वेटेरिनरी सहायक के पद पर रखा जाता है ततपश्चात फिर उसे तीन वर्ष के लिए अनुबंध पर लाया जाता है , जिससे वेटेरिनरी फार्मासिस्ट को नियमित होने के लिए आठ वर्ष या उससे अधिक समय लग जाता है तथा हम सरकार से मांग करते है कि इस समय सीमा को भी कम किया जाए । उन्होंने सरकार से मांग की है आने वाले बजट सत्र में सरकार बेरोजगार बैठे वेटेरिनरी फार्मासिस्टों को नई पंचायतों में नियुक्त करे जिससे बेरोजगारी का यह आंकड़ा कम हो सके ।

Share from A4appleNews:

Next Post

पेयजल आपूर्ति एवं जल विद्युत उत्पादन में अहम भूमिका निभाएगी रेणुका जी बांध परियोजना

Tue Jan 18 , 2022
एप्पल न्यूज़, शिमला नदियां प्रकृति का एक महान वरदान हैं और विभिन्न सभ्यताओं के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती रही हैं। हिमाचल प्रदेश में कल-कल बहती नदियां न केवल यहां के नैसर्गिक सौन्दर्य को चार चांद लगाती हैं बल्कि राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में भी उल्लेखनीय योगदान दे रही हैं। […]

You May Like