Breaking News

सम्पादकीय

असत्य पर सत्य की जीत का पर्व है विजयदशमी

एप्पल न्यूज़ भारतीय हिंदू संस्कृति में पर्वो, त्योहारों, मेलो की एक लंबी परंपरा देखने को मिलती है। उसी परंपरा में असत्य पर सत्य की जीत का पर्व विजयदशमी जिसे  दशहरा भी कहते हैं , अश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। इस पावन पर्व का अपना ही धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व है। इसी दिन कुछ ... Read More »

सत्य और अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी ने देश को गुलामी की बेड़ियों से बाहर निकाला

एप्पल न्यूज़, कांगड़ा महात्मा गांधी सत्य और अहिंसा के पुजारी माने जाते है जिन्होंने सत्य और अहिंसा का पाठ पढ़ा कर हमें गुलामी जैसी बेड़ियों को तोड़कर बाहर निकलना सिखाया है। गांधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 ई में गुजरात के पोरबंदर में हुआ था और आज हम 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के रूप में मनाते हैं। गांधी ... Read More »

हमारी राजभाषा कब बनेगी राष्ट्रभाषा, ‘हिन्द के माथे की बिंदी… हिंदी’

सीमा शर्मा, एप्पल न्यूज़, शिमला राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने 1918 में हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने की बात कही थी। उनका कहना था की हिंदी भाषा से किसी भी अन्य भाषा को कोई खतरा नहीं है क्योंकि हिंदी सबकी सहोदर है . इस पर कार्य हुआ और आगे चल कर 14 सितंबर 1949 को काफी विचार-विमर्श के बाद भारत के संविधान ... Read More »

भारत रत्न ‘अटल’, जिनके व्यक्तित्व की कोई थाह नहीं

एप्पल न्यूज़ ब्यूरो पुण्यस्मरण आज की उथली राजनीति और हल्के नेताओं के आचरण के बरक्स देखें तो अटलबिहारी बाजपेयी के व्यक्तित्व की थाह का आंकलन कर पाना बड़े से बड़े प्रेक्षक, विश्लेषक और समालोचक के बूते की बात नहीं। बाजपेयी जी सुचिता की राजनीति के जीवंत प्रतिमूर्ति हैं। अटलजी को इहलोक से मुक्त हुए एक साल पूरे हुए। आज उनकी ... Read More »

भीड़ में एक बेबाक आवाज़

एप्पल न्यूज़ ब्यूरो  भीड़ में तो अक्सर हर कोई चलना पसंद करता है परन्तु कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इस भीड़ का हिस्सा न बन कर अपनी भीड़ खुद तैयार करते हैं। जी हाँ मैं बात कर रहा हूं जो अपनी बेखौफ, बेबाक  व् निडर आवाज के दम पर आज पूरी दुनिया में एक चर्चित नाम बन गया है। ... Read More »

निजीकरण की ओर सरकार- कहाँ तक सही…?

एप्पल न्यूज़, कांगड़ा सारी नौकरी गली सड़ी फ़ाइल को संभालने में गुजर गई अंग्रेजो के समय से चली आ रही नौकरशाही को बदलने की किसी भी पार्टी ने कोशिश नही की अब भी सरकारों को लगता है कि सिस्टम को नही बदला जाए और सीधा हर जगह निजीकरण ही करके इसका हल हो सकता है तो यह भी करके देख ... Read More »

कला और आस्था का द्योतक है केरल का थैय्यम नृत्यानुष्ठान

“गॉड्स ऑन कंट्री” ध्येय वाक्य से प्रसिद्ध केरल दक्षिणात्य  राज्यों में सांस्कृतिक विविधता एवं प्राकृतिक सुंदरता के मामले में अत्यधिक समृद्ध राज्य है। यहां के लोग विरासत में मिली परंपरागत  लोक तथा शास्त्रीय शैलियों को भविष्य के लिए संजोकर रखने में विश्वास रखते हैं। भौगोलिक आधार पर केरल एक छोटा सा प्रदेश है, फिर भी यहां सात शास्त्रीय तथा लगभग ... Read More »

हिमाचल के इस गांव की अद्भुत परंपराएं, खुद को मानते है सिकंदर का वंशज-पूजते है सम्राट अकबर

अपनी सुप्राचीन लोकतांत्रिक व्यवस्था एवं संस्कृति के कारण हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जनपद का मलाणा गांव विश्व विख्यात है। यहां आज भी शासन व्यवस्था स्थानीय परिषद द्वारा चलाई जाती है। कुल्लू जिले के अति दुर्गम इलाके में स्थित है मलाणा गाँव को हम भारत का सबसे रहस्यमयी गाँव भी कह सकते हैं। इस गांव के निवासी खुद को सिकंदर के ... Read More »

स्थापना दिवस – आज भारतीय जनता पार्टी दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल

एप्पल न्यूज़, शिमला भारतीय जनता पार्टी के पहले भारतीय जनसंघ की स्थापना 1951 में हुई थी और वहां से प्रारंभ होकर आज भारतीय जनता पार्टी दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल बना है, भारतीय जनता पार्टी के संस्थापकों को प्रणाम। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय उनके साथ सुंदर सिंह भंडारी, नानाजी देशमुख, कुशाभाऊ ठाकरे जी जैसे उन महापुरुषों ... Read More »

“गरीब ” का बजट गरीब के लिए- दिलों में उतरने की ख्वाहिश से लबरेज जयराम का बजट पार्ट -2

जगमोहन शर्मा, स्वतंत्र पत्रकार और लेखक कर्ज़ के दलदल में उलझी हिमाचल प्रदेश सरकार ने गरीब व्यक्ति के घर आंगन को संवारने की कोशिश भले ही की हो लेकिन आने वाले समय में यह राज्य संपन्न व समृद्ध हो, इसके लिए किसी बड़ी योजना के साथ जयराम ठाकुर नहीं आ पाए हैं। केंद्र की बैसाखियाँ ना मिली तो राज्य विकास ... Read More »

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
smart-slider3