एप्पल न्यूज़, शिमला विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र भारत यानि, सबसे पुरानी संस्कृति का प्रतीक। लोकतंत्र का मतलब क्या होता है “ लोकतंत्र मतलब लोगो से, लोगो द्वारा और लोगो के लिए” ।फिर भारत देश में जब पेंशन देने की बात आती है तो लोकतंत्र में भेदभाव क्यों होता है […]

एप्पल न्यूज़, शिमला किसी भी देश के आर्थिक एवं सामाजिक विकास में कौशल का महत्वपूर्ण योगदान माना जाता है। कौशल एक ऐसा साधना है जिसके द्वारा युवाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाया जा सकता है और उद्योगों की मांग के अनुसार कुशल कार्यबल तैयार करके स्किल गैप को आसानी से […]

एप्पल न्यूज़, शिमला 16 दिसंबर 1971 को हिन्दुस्तान के जांबाज वीर सपूतों ने जीत का सेहरा बांधकर दुनिया को अपने शौर्य का लोहा मनवाने पर मजबूर कर दिया था। इसी दिन यानि 16 दिसंबर को पूरा देश बड़े ही गर्व के साथ शौर्य दिवस मनाता है। यही वो दिन था […]

दुसरे ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह आयोजित करने की तैयारीराज्य में सत्त और समावेशी सामाजिक-आर्थिक विकास को गति प्रदान करने के उद्देश्य से, राज्य सरकार ने वर्ष 2019 में राइजिंग हिमाचल-ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन किया, जिसमें लगभग 96,721 करोड़ रुपये के निवेश के साथ 703 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए। […]

शर्मा जी एप्पल न्यूज़, शिमला मेजर सोमनाथ शर्मा के बलिदान दिवस पर नमनदेश के प्रथम परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ शर्मा हिमाचल प्रदेष के कांगड़ा ढाढ के रहने वाले थे। इनका जन्म 31 जनवरी 1923 को हुआ था। इनके पिता मेजर अमरनाथ शर्मा सेना में डाॅक्टर थे जिस कारण इनके […]

एप्पल न्यूज़ शिमला ब्रिटिश शासन के दौरान भारत में सीधे क्रॉउन के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों के साथ–साथ 565 रियासतों का एक समूह भी शामिल था जो क्राउन संपत्ति का हिस्सा नहीं होने के बावजूद सहायक गठबंधनों की एक प्रणाली में बंधा था। रियासतों का अपने आंतरिक मामलों पर नियंत्रण था। लेकिन रक्षा और विदेश मामलों पर नियंत्रण ब्रिटिश सरकार के हाथों में भारत के वायसराय के तहत था। इसके अलावा फ्रांस और पुर्तगाल द्वारा नियंत्रित कई औपनिवेशिक परिक्षेत्र थे। भारत सरकार अधिनियम 1935 ने अंगीकार पत्र की अवधारणा प्रस्तुत की जिसमें एक रियासत का शासक अपने राज्य को “भारत संघ” में शामिल कर सकता था। मई 1947 से लेकर 15 अगस्त 1947 को सत्ता के हस्तांतरण के दौरान अधिकतर राज्यों ने अंगीकार पत्र पर हस्ताक्षर किए और इस प्रकार वे सभी भारत के संघ में शामिल हो गए। इन रियासतों के भारत में शामिल होने की प्रक्रिया अपने आप में एक दास्तान है और इसे मूर्त रूप देने के लिए सरदार पटेल जैसे कद्दावर राजनेता की आवश्यकता थी । किंतु, जम्मू और कश्मीर राज्य ने पूरी तरह से अलग तरह की चुनौती पेश की। सत्ता हस्तांतरण के समय, जम्मू-कश्मीर राज्य पर महाराजा हरि सिंह का शासन था, जिन्होंने स्वतंत्र रहने के अपने इरादे की घोषणा कर दी थी। इससे पाकिस्तान को छद्म युद्ध शुरू करने का अवसर मिला। इन छद्म आदिवासी परदे के कारण जमकर तबाही हुई जिसके परिणामस्वरूप […]

बंगाल में नौ महीनों में कम से कम पांच दर्जन लोगों की राजनीतिक हिंसा में मौत, हजारों घायलजगह-जगह बमबाजी और फायरिंग से दहले लोग एप्पल न्यूज़, शिमलाविधानसभा के चुनाव बिहार में हो रहे हैं पर चर्चा हो रही है पश्चिम बंगाल की खूनी राजनीति की। कभी राजनीतिक मारकाट के लिए […]

एप्पल न्यूज़, ब्यूरो आदर्श नेतृत्व की परिभाषा है, ”सबको साथ लेकर चलना, निर्णय लेने की क्षमता, समस्या का सही समाधान, कथनी-करनी की समानता, लोगांे का विश्वास, दूरदर्शिता, जनता के दुःख में सहभागिता, कल्पनाशीलता और सृजनशीलता।“ इन शब्दों को एक बार फिर भारत की संसद ने कोरोना महामारी से जुड़े आर्थिक […]

राष्ट्रीय भाषा हिंदी का महत्व और हिंदी दिवस एप्पल न्यूज़, ब्यूरो“निज भाषा बोलहु लिखहु पढ़हु गनहु सब लोग।करहु सकल विषयन विषै निज भाषा उपजोग।।”                                        -श्रीधर पाठकहिंदी मात्र एक भाषा की नहीं […]

एप्पल न्यूज़, शिमला मैंने राज्यपाल के रूप में 11 सितम्बर, 2019 को अपना कार्यभार ग्रहण किया था। आज मेरा हिमाचल प्रदेष में एक वर्ष पूरा हो रहा है। गत एक वर्ष में मैंने जहाँ एक ओर हिमाचल प्रदेश को जानने-समझने की कोशीश की है वहीं दूसरी ओर प्रदेश हित के […]

Breaking News