कोरोना- संत निरंकारी मिशन ने बढ़ाए हाथ, जरूरतमन्दों को बांटी जा रही खाद्य सामग्री, जरूरत है तो सरकार निरंकारी भवन को बनाए क्वारन्टीन सेंटर -रजवंत कौर

6

एप्पल न्यूज़, शिमला

पूरा देश कोरोना वायरस के खतरे से सहमा हुआ है। भारत समेत अन्य कई देशों में लोगों के अमूल्य जीवन दांव पर लगे हैं। ऐसे में कोरोना के खतरे से निपटने को जहां देश एकजुट हो गया है। वहीं इस विकट परिस्थिति में असहाय लोगों की मद्द के लिए आध्यात्मिक संत निरंकारी मिशन ने भी गरीबों और बेसहारों की मद्द के लिए आगे आया है। मिशन के अनुयायियों ने वर्तमान सद्गुरू माता सुदीक्षा महाराज की कृपा से नेपाल सहित बाहरी राज्यों से काम के लिए आए कई प्रवासी मजदूरों को संजौली चैक पर एक माह की खाद्य सामग्री का वितरण किया।

\"\"

उल्लेखनीय है कि संकट की इस घड़ी में निरंकारी मिशन की सतगुरु माता सुदीक्षा ने सरकार को निरंकारी भवनों को टंपरेरी क्वारटींन केंद्रो के रूप में देने की पेशकश पहले ही कर दी है। इसके इलावा लाचार व गरीब लोगों की सहायता व सेवा करने के साथ साथ उनके लिए भोजन की व्यवस्था करने का आह्वान किया है।

बेम्लोई स्थित संत निरंकारी मिशन की वरिष्ठ संत व जोनल इंचार्ज बहन रजवंत कौर ने बताया कि सतगुरु के आदेशानुसार जन जन की सेवा करने के उदेश्य से शिमला में लोगों को राशन कीट, जिसमें 10 किलो आटा, पांच किलो चावल, दो किलो दाल, हल्दी, नमक, जो इस विकट परिस्थिति में काम न मिलने के कारण खाने पीने की समस्या से जूझ रहे है को दिया जा रहा है। सेवाओं का यह सिलसिला संत निरंकारी मिशन द्वारा आगे भी जारी रहेगा और निरंतर गरीब और असहाय लोगों को 14 अप्रैल तक सेवांए दी जाएगी। इस अवसर पर माननीय शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ओर मेयर सत्या कौंडल भी उपस्थित थे।
     इस अवसर पर शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने संत निरंकारी मिशन की इस विपति की घडी में सामाजिक कार्यो में उत्कृष्ट कार्य के लिए भूरि भूरि सराहना की और लोगों से आह्वान किया कि कोविड-19 से बचाव के लिए सभी अपने-अपने घरों में रहें। इस महामारी का कोई इलाज नहीं है। पीएम मोदी ने तीन सप्ताह को लाॅकडाउन किया है और घर में रहना ही इसका इलाज है। उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन और कफ्र्यू के दौरान मजदूरों का कामकाज ठप हो जाता है। उनको भूखा ना रखा जाए। इसके लिए कई संस्थाएं आगे आई है।
    उन्होंने कहा कि यह प्रसन्नता की बात है कि आज भारत वर्ष में संत निरंकारी मिशन सराहनीय कार्य कर रहा है। संत निरंकारी मिशन के अनुयायियों ने लोगों ने एक माह की खाद्य सामग्री का वितरण किया, जो गरीब चिहिन्त किए है। यह सिलसिला आगे भी जारी रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि संत निरंकारी मिशन सामाजिक और घार्मिक संगठन है, जो धर्म का कार्य कर रहा है।
     उन्होंने कहा कि संत निरंकारी मिशन अपने गुरू की शिक्षाओं के अनुसार काम कर रहा ळें उन्होंने कहा कि सावधानी से ही कोरोना जैसी भयंकर बीमारी से बचा जा सकता है। इसलिए खुद भी बचें और दूसरों को भी बचाने में मद्दगार बनें।

Share from A4appleNews:

Next Post

सामाजिक दूरी को बनाए रखने में ई-पास मेकेनिज्म होगा सहायकः मुख्यमंत्री

Wed Apr 1 , 2020
एप्पल न्यूज़, शिमला राज्य प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा विकसित ई-पास मेकेनिज्म न केवल लोगों को सुविधा उपलब्ध करवा रहा है, बल्कि कोविड-19 महामारी में लोगों में सामाजिक दूरी भी सुनिश्चित कर रहा है। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने यह बात यहां सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। […]

Breaking News