शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर का मनाली से संदेश कहा- \”जान है तो जहान है\”

6

महिलाओं को कोरोना संक्रमण को हराने के लिए बनना होगा रोल माॅडल

एप्पल न्यूज़, कुल्लू

शिक्षा , भाषा, कला एवं संस्कृति मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आज वर्चुअली माध्यम से मनाली से वीडियो कंफ्रैसिंग से एनआईसी कुल्लू के साथ जुड़कर कोरोना संक्रमण के बचाव, सुरक्षा तथा तमाम प्रकार के एहतियाती उपायों को लेकर जिला वासियों को संदेश दिया ताकि जिला में कोरोना के संक्रमण को अधिक फैलने से रोका जा सके। इस दौरान आनी विधानसभा क्षेत्र के विधायक किशोरी लाल सागर भी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

\"\"

   शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोरोना के संक्रमण को अधिक फैलने से रोकने में जिला में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। महिला मंडलों, स्वयं सहायता समूहों तथा अन्य सामाजिक संस्थाओं ने कोरोना के दौरान जहां लोगों को घर-घर जाकर जागरूक किया वहीं मास्क तैयार कर निःशुल्क वितरित किए। उन्होंने बताया कि इस समय भी महिलाओं को रोल माॅडल बनने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में भी चुनौतिया बहुत हैं इसलिए हमें कोरोना से बचाव व सुरक्षा को लेकर अति सतर्क रहना है, सावधान रहना है। सरकार तथा प्रशासन द्वारा समय‘2 पर जारी एसओपी तथा दिशा-निर्देंशों का पालन करना होगा। बच्चों को शिक्षा के साथ-2 उनकी जिंदगी भी अति महत्वपूर्ण है। स्कूलों के माइक्रो प्लान को वर्चुअली माध्यम से चैक करने की आवश्यकता रहेगी ताकि बच्चों की पढ़ाई भी सुचारू रूप से चले और उन्हें कोरोना के संक्रमण से भी सुरक्षा प्रदान की जा सके।
     शिक्षा मंत्री ने आनी तथा निरमंड को नगर पंचायत का दर्जा प्रदान करने के लिए क्षेत्र की समस्त जनता को बधाई दी तथा इसके लिए किए गए सराहनीय प्रयासों के लिए विधायक किशोरी लाल की सराहना की।  उन्होंने आनी तथा निरमंड को पंचायत का दर्जा देने को स्वीकृति प्रदान करने के लिए  मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का भी आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि यह लोगों की लम्बे समय से मांग थी तथा समय की आवश्यकता के अनुसार अब इसे सिरे चढ़ाया गया है। निश्चित तौर पर अब इन दोनों नगर पंचायतों के लोगों को बेहतरीन सुविधाएं एवं सहूलियतें उपलब्ध होंगी।  

      उन्होंने कहा कि महिला मंडलों, स्वयं सहातता समूहों तथा आशा कार्यकर्ताओं को गांव-2 में जाकर बैठकें कर लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव व सुरक्षा को लेकर जागरूक करना होगा। उन्होंने कहा कि लोगों को शादी समारोहों, धार्मिक आयोजनों तथा शोक सभाओं में 2 गज की सामाजिक दूरी को बनाए रखने के साथ-2, फेस कवर, हैंड सेनेटाईजर का विशेष रूप् से प्रयोग करने के साथ स्वच्छता को लेकर अन्य तमाम तरह की सावधानियों को अपनाना होगा। अपने हाथों को बार-2 साबुन के साथ कम से कम 20 सैकेंड तक अच्छी तरह से धोना होगा। जब तक दवाई नही ंतब तक कोई ढिलाई नहीं, दवाई के आने तक सभी लोगों को अत्यधिक सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। सामाजिक दूरी, मास्क तथा स्वच्छता को अपनाकर ही हम कोरोना की श्रंखला को तोड़ सकते हैं। इसलिए गृह संगरोध अथवा संस्थागत संगरोध के लिए सरकार तथा प्रशासन द्वारा समय-2 पर जारी की जा रही एसओपी तथा दिशा-निर्देशों का पालन करना नितातं जरूरी है।
   शिक्षा मंत्री ने कहा कि जान है तो जहान है। दशहरा उत्सव को भी इस बार देव समाज तथा कुल्लू जनपद के लोगों के साथ पूर्ण सहमति के साथ परम्परा निर्वहन के तौर पर मनाया गया। उन्होंने कहा कि कोराना का संकट हमेशा नही रहेगा तथा आने वाले समय में कुल्लू दशहरा को पूरी भव्यता व शान के साथ मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कुल्लू देव भूमि है तथा जब कोरोना शुरू हुआ था तब लोगों ने न केवल गरीब लोगों की मदद की थी बल्कि बेसहारा पशुओं को चारा, पक्षियों को दाना-पानी तथा कुत्तो को भी खाना इत्यादि का इंतजाम किया था।
       इस दौरान आनी विधानसभा क्षेत्र के विधायक किशोरी लाल सागर ने भी कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार तथा शिक्षा मंत्री की ओर से किए गए निरंतर प्रयासों के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, पंचायती राज संस्थाओं, महिला मंडलों तथा अन्य सामाजिक संस्थाओं का भी कोरोना संक्रमण से बचाव एवं सुरक्षा को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए धन्यवाद किया।उन्होंने कहा कि कोरोना का संकट अभी  टला नही है, लिहाजा लोगों को कोरोना संक्रमण से बचने व रोकथाम हेतु व्यक्तिगत स्वच्छता, मास्क का प्रयोग , दो गज की सामाजिक दूरी के साथ अति सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर तथा उनकी धर्म पत्निी व पीआरओ के कोरोना को हराकर शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की।      
      इसके अतिरिक्त उपायुक्त डा0 ऋचा वर्मा ने कहा कि गत छः-सात महीनों से कोविड-19 के साथ लड़ाई जारी है। जागरूकता अभियान चलाकर  कारोना से बचाव व सुरक्षा को लेकर कुल्लू जनपद में गांव-गांव तक पहुंचकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है ताकि कोरोना की श्रंखला को ब्रेक किया जाए। उन्होंने कहा कि इस वीसी का मुख्य उद्देश्य लोगों को कोरोना के प्रति अधिक सचेत तथा जागरूक करना है जितना कि लोग लाॅकडाउन से पहले सतर्क थे। उन्होंने कहा कि जिला में विभिन्न महिला मंडलों, स्वयं सहायता समूहों, आंगनवाडी कार्यकर्ताओं तथा आशा कार्यकर्ताओं ने  ने कोरोना को लेकर गांव-2 में जाकर लोगों को जागरूक करने में अहम भूमिका निभाई, मास्क स्वयं तैयार कर लोगों को निःशुल्क वितरित किए।
    उन्होंने कहा कि जिला में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के दृष्टिगत लोगों को अत्यधिक सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। लिहाजा जिला प्र्रशासन द्वारा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग  तथा अन्य विभागों व समाज सेवी संस्थाओं  के सहयोग से कोरोना संक्रमण से बचाव एवं सुरक्षा को लेकर  निरंतर जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है।
     मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 सुशील चंद्र शर्मा ने भी इस अवसर पर कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव को लेकर विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आनी तथा निरमंड विकास खंड का कोरोना पाॅजीटिव दर बहुत ही कम है। होम आईसोलेशन गाईडलाईन पुस्तिका आशा वर्कर्ज को भी उपलब्ध करवा दी गई है , आशा वर्कर्ज द्वारा गृह संगरोध में रह रहे कोरोना पाॅजीटिव लोगों की निरंतर माॅनीटरिंग की जा रही है, उन्हें संतुलित एवं पौष्टिक आहार लेने के साथ-2 व्यक्तिगत स्वच्छता, मास्क, सामाजिक दूरी, अलग से साफ-सुथरा कमरा तथा  शौचालय के प्रयोग की भी जानकारी प्रदान की जा रही है ताकि कोरोना संक्रमण का खतरा भी कम हो और लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सके। उन्होंने बताया कि यदि किसी भी व्यक्ति को खांसी, जुकाम, बुखार, शरीर दर्द के लक्ष्ण दिखाई दे तो उसे तुरंत अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए। जिला कुल्लू में इस अभियान को गहनता से मास मोड में चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना पाॅजीििटव को 10 दिन तक गृह संगरोध में रखा जाता है, 8वें, 9वें तथा 10वें दिन उसमें बुखार तथा अन्य लक्ष्ण न दिखाई देने पर उसे हैल्थ पोर्टल पर डिस्चार्ज कर दिया जाता है। इसके अतिरिक्त उसे अगले 7 दिन तक पुनः गृह संगरोध में रहना होता है तथा मास्क, सामाजिक दूरी का प्रयोग करना अनिवार्य होता है।
     उन्होंने कहा इस समय निरमंड में 32 तथा आनी में केवल कोविड-19 के 3 मामले पाॅजीटिव हैं। सम्बंधित सभी बीएमओज को होम आईसोलेशन से सम्बंधित गाईडलाईन पुस्तिकाएं उपलब्ध करवा दी गई हैं जिसमें कोरोना के बचाव को लेकर विस्तार से जानकारी प्रदान की गई है। इन पुस्तिकाओं को आगे आशा वर्कर्ज को दिया जा रहा है जो गांव-2 में जाकर लोगों को कोरोना के प्रति बचाव व सुरक्षा को लेकर जागरूक कर रही हैं ताकि जिला में कोरोना के संक्रमण को और अधिक फैलने से रोका जा सके।
     वर्चुअल माध्यम से आयोजित की गई इस वीसी में उपनिदेशक एवं परियोजना अधिकारी डीआरडीए सुरजीत सिंह ठाकुर, आनी तथा निरमंड विकास खंड के विकास खंड अधिकारी, बीएमओ, विकास खंड की पंचायतों के प्रतिनिधी तथा अन्य लोग भी उपस्थित रहे।                                    

Share from A4appleNews:

Next Post

बिहार चुनाव की थकान मिटाने राहुल गांधी पहुचे शिमला, छरावड़ा में बहन प्रियंका के घर पर दो दिन रुकेंगे

Fri Oct 30 , 2020
एप्पल न्यूज़, शिमला बिहार चुनाव की थकान मिटाने के लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को अचानक हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला पहुंच गए। वे चंडीगढ़ तक हवाई जहाज में आए और वहां से सड़क मार्ग से गुपचुप शिमला के निकट छराबड़ा में अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा […]

Breaking News