डॉ राजीव बिंदल के सम्मान में हिमाचल विधान सभा में विदाई समारोह आयोजित

एप्पल न्यूज, शिमला

हिमाचल प्रदेश विधान सभा के पूर्व अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिन्दल के सम्मान में विधान सभा सचिवालय द्वारा पुस्तकालय कक्ष में विदाई समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विशेष रूप से हिमाचल प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर, श्री मुकेश अग्हिोत्री, संसदीय कार्य मंत्री, हिमाचल प्रदेश श्री सुरेश भारद्वाज, विधान सभा उपाध्यक्ष, श्री हंस राज तथा विधायकगण मौजूद थे। इसके अतिरिक्त विधान सभा सचिव श्री यशपाल शर्मा तथा विधान सभा सचिवालय के सभी अधिकारी व कर्मचारी भी मौजूद थे। इससे पूर्व विधान सभा अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिन्दल ने 3.00 बजे अपने कार्यालय कक्ष में विधान सभा उपाध्यक्ष को अपना त्याग पत्र सौंपा । विधान सभा अध्यक्ष के रूप में डॉ0 बिन्दल ने 2 वर्ष 6 दिनों का कार्यकाल पूर्ण किया है। गौरतलब है कि डॉ0 बिन्दल 10 जनवरी, 2018 को सर्वसम्मति से विधान सभा अध्यक्ष चुने गये थे। सम्मान समारोह के दौरान माननीय मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर, नेता प्रतिपक्ष, संसदीय कार्य मंत्री, श्री सुरेश भारद्वाज, विधान सभा उपाध्यक्ष, श्री हंस राज तथा विधान सभा सचिव श्री यशपाल शर्मा ने अपने सम्बोधनों के दौरन डॉ0 बिन्दल के बारे में निम्न बातों का जिक्र किया तथा उनके कार्यों की भरपूर सराहना की ।

• विगत दो वर्षों में विधान सभा अध्यक्ष के रूप में सभा का सुव्यवस्थित संचालन किया गया जोकि सराहनीय रहा ।
• मुख्य मन्त्री/मंत्रियों व अध्यक्ष से मिलने वाले आगन्तुकों को बैठने हेतु नवीन तकनीक से सुसज्जित वर्षा शालिका एवं प्रतीक्षालय का निर्माण करवाया गया ।
• कैंटीन का नवीनीकरण करवाया गया जिसमें माननीय विधायकों हेतु एक कैफेटेरिया का भी अलग से निर्माण करवाया गया ।
• पक्ष व विपक्ष के माननीय विधायकों व मीडिया के साथियों को सत्र के दौरान भोजन करने हेतु भोजन कक्ष का नवीनीकरण करवाया गया ।
• विधान सभा अध्यक्ष द्वारा पक्ष व विपक्ष के सभी माननीय सदस्यों को अपने चुनाव क्षेत्र से सम्बन्धित मुद्दों को सभा में उठाने का भरपूर समय दिया गया ।
• विधान सभा अध्यक्ष के रूप में पक्ष व विपक्ष से अच्छा तालमेल बनाकर रखा ।
• सत्र के दौरान विभिन्न नियमों के अन्तर्गत अति महत्वपूर्ण लोक हित के मूद्दों को उठाने का माननीय सदस्यों को भरपूर अवसर दिया गया ।
• पहली बार चुनकर आये विधायकों को सभा में नियमों, प्रश्नों, अनुपूरक प्रश्नों, बजट भाषण, राज्यपाल अभिभाषण पर निर्धारित समय से अतिरिक्त समय चर्चा हेतु दिया गया ।
• विधान सभा सचिवालय के अधिकारियों/कर्मचारियों के पदोन्नति आदि से सम्बन्धित सभी लाभों को समय-समय पर दिया गया ।
• पेपर लैस विधान सभा को सुदृढ़ करने हेतु कई उपयोगी कदम उठाये गये ।
• माननीय सदस्यों की सुविधा हेतु पुस्तकालय अनुसंधान एवं सन्दर्भ समिति का गठन किया गया तथा नॉलेज बैंक का गठन किया गया जिसमें लगभग 15 विषयों पर 2300 फाइलों का संकलन किया गया ।
• e-Constituency Management System के अन्तर्गत माननीय सदस्यों की सुविधा हेतु MLA Diary, Public Works और Vacancy Position आदि से सम्बन्धित सूचनाएं मोबाईल ऐप पर उपलब्ध करवाना का सराहनीय कार्य किया गया ।
• माननीय सदस्यों की सुविधा हेतु विधान सभा सचिवालय में e-Committee System लागू करवाया, जिससे सभी विभागों से प्रश्नावलियों, आश्वासनों और पत्रों का आदान प्रदान online होने से समय व साधनों आदि की बचत हुई ।
• विधान सभा सचिवालय में e-Office System लागू करवाया गया ।
• विधान सभा अध्यक्ष द्वारा नियमों की परिधि में छूट प्रदान कर नियम-61, नियम-62 तथा नियम-63 के अन्तर्गत चर्चाएं करवाई गई । पूर्व में नियम-63 के अन्तर्गत माननीय सदस्यों को चर्चा का अधिक मौका प्रदान नहीं किया जाता था परन्तु इनके कार्यकाल में इस नियम के अन्तर्गत अधिक चर्चाएं करवाई गईं । उदाहरण के तौर पर इनके दो साल के कार्यकाल में नियम-61 के अन्तर्गत 18, नियम-62 के अन्तर्गत 33, नियम-63 के अन्तर्गत 7, नियम-101 के अन्तर्गत 21 प्रस्ताव तथा नियम-130 के अन्तर्गत 22 प्रस्ताव चर्चा हेतु लिए गए जबकि बारहवीं विधान सभा के दौरान नियम-61 में 3, नियम-62 में 12, नियम-63 में 11 और नियम-101 में 14 विषयों पर चर्चा हुई थी ।
• विधान सभा अध्यक्ष द्वारा विभिन्न नियमों के अन्तर्गत सदन में उचित व्यवस्था दी गई जोकि काफी सराहनीय है ।
• डॉ0 वाई0 एस0 परमार, प्रथम् मुख्यमन्त्री, हि0 प्र0 द्वारा सदन में दिए गए वक्तव्यों को संकलित कर दिनांक 04 अगस्त, 2019 को उनकी जन्मशती पर मुख्यमन्त्री द्वारा पुस्तक का विमोचन करवाया गया तथा उसे Digitilize किया गया । इसके अतिरिक्त वर्तमान में पूर्व मुख्य मंत्रियों द्वारा सदन में दिए गए भाषणों एवं वक्तव्यों को भी Digitilize किया जा रहा है ।
• वर्ष 2019 में राष्ट्रमण्डल संघ के युगाण्डा में आयोजित सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व किया ।
• भारत के राष्ट्रमण्डल संघ की राष्ट्रीय कार्यकारणी जिसमें केवल सात सदस्य होते हैं । इसमें हिमाचल प्रदेश विधान सभा, अध्यक्ष को प्रथम बार प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिला ।

इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए डॉ0 बिन्दल ने माननीय मुख्यमंत्री, संसदीय कार्यमंत्री, उपाध्यक्ष विधान सभा, सभी विधायकगणों व हिमाचल प्रदेश विधान सभा सचिवालय के सभी अधिकारियों तथा कर्मचारियों का उन्हें उनके 2 वर्ष के कार्यकाल में भरपूर सहयोग देने के लिए धन्यवाद किया तथा उनके कार्यों की सराहना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मिड टर्म में इस्तीफा देने वाले हिमाचल के तीसरे विधानसभा अध्यक्ष बने डॉ बिंदल

Thu Jan 16 , 2020
एप्पल न्यूज़, शिमला हिमाचल की सियासत के नए ध्रुव तारा की तरह चमकने को बेताब डॉ राजीव बिंदल के हिमाचल विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद भी उनकी चमक कम होने के बजाय और अधिक बढ़ गई है। उन्होंने इस्तीफा देकर भी इतिहास रच डाला और ऐसे पहले अध्यक्ष बन […]

Breaking News