बढ़े हुए बिजली मीटर के दाम जनता हित में वापिस लेगी सरकार, हाई कोर्ट में लिया जाएगा स्टे, पुराने दाम ही किए जाएंगे बहाल

बिजली विभाग को 100 करोड़ का चूना लगा चुके कुछ उपभोक्ता-ऊर्जा मंत्री सुखराम

एप्पल न्यूज़, शिमला

बिजली विभाग ने नए मीटर कनेक्शन पर दाम बढ़ा दिए है। जिसको लेकर प्रदेश में ख़ूब सियासत हो रही है। ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने कहा है कि बिजली विभाग को बद्दी की एक उद्योग कंपनी चुना लगाकर चली गई है।जिसकी रिकवरी के लिए न्यायालय में जब मामला गया तो न्यायालय ने कहा कि बिजली विभाग में मीटर के लिए तय सिक्योरिटी काफी कम है इसलिए जब कोई उद्योग छोड कर चला जाता है तो उसकी सिक्युरिटी से रिकवरी करना मुश्किल है इसलिए सरकार नीति बनाए।जिस पर बिजली विभाग को नए मीटर कनेक्शन पर दाम बढ़ाने पड़े हैं लेकिन जनता पर बोझ न पड़े इसके लिए विभाग इस पर कोर्ट में स्टे लेगा।
ऊर्जा मंत्री ने स्वीकार किया है कि जल्दबाजी में बिजली विभाग ने भरपाई के लिए ये बिजली मीटर पर सिक्योरिटी के दाम बढ़ाए है।जो काफी ज्यादा है इसलिए सरकार अब इसको लेकर कोर्ट में स्टे याचिका दायर करेगी और मीटर के अधिक दाम का बोझ जनता पर न पड़े इसके लिए पुरानी नीति ही बहाल करेगी और जो पैसे नहीं चुका रहे हैं उनके लिए विचार विमर्श करके अलग नीति बनाएगी।

\"\"

ऊर्जा मंत्री हिमाचल प्रदेशविओऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने कहा कि बिजली विभाग को अभी तक उपभोक्ताओं से 100 करोड़ लेना है। इसमें सबसे ज़्यादा उद्योगों से 55 करोड़ लेना है जबकि अन्य से 45 करोड़ लेनदारी है। कुल मिलाकर 5000 उपभोक्ता है जो कनेक्शन काटकर चले गए। अब बिजली विभाग को इसका घाटा उठाना पड़ रहा है। ऊर्जा मंत्री ने बताया कि इसके अलावा लॉक डाउन में बिजलीं विभाग को करोड़ों का नुकसान हुआ लेकिन अब फ़िर से रिकवरी हो रही है व 75 फ़ीसदी बिजली बिक रही है। अब हिमाचल को बिजली प्रोजेक्ट पर 7.19 फ़ीसदी शेयर भी मिल रहा है।

Share from A4appleNews:

Next Post

25 नवंबर तक स्कूल-कॉलेज बन्द, 7 दिसम्बर से धर्मशाला में शीतकालीन सत्र- पढ़ें मंत्रिमण्डल निर्णय

Tue Nov 10 , 2020
एप्पल न्यूज़, शिमला प्रदेश मंत्रिमण्डल ने वर्तमान कोविड-19 परिस्थितियों के मद्देनजर सभी सरकारी व निजी स्कूलों, महाविद्यालयों, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों, पाॅलीटेक्निक, इंजीनियरिंग कालेजों और कोचिंग संस्थानों में 11 से 25 नवम्बर तक विद्यार्थियों, शिक्षण व गैर शिक्षण कर्मचारियों को विशेष अवकाश स्वीकृत करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री जय राम […]

You May Like

Breaking News