कुफरी में 250 करोड़ से होगा भारत का पहला स्की पार्क विकसित, 1000 को रोजगार, समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की उपस्थिति में बुधवार सायं प्रदेश सरकार और नागसन्ज डेवेलपर के मध्य शिमला के निकट कुफरी में भारत का पहला स्की पार्क विकसित करने के लिए समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया गया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि परियोजना के प्रमोटरों को हिमाचल प्रदेश में भारत का पहला स्की पार्क विकसित करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा हर सम्भव सहयोग दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हिमाचल प्रदेश को भारत में पर्यटकों का सबसे पसंदीदा गंतव्य बनाने के लिए प्रयासरत है और प्रदेश को पर्यटन मित्र बनाने के लिए अन्तरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं प्रदान कर हर सम्भव प्रयास किए जाएंगे।
जय राम ठाकुर ने कहा कि इस परियोजना से कुफरी क्षेत्र में 12 महीने पर्यटन और सहासिक खेलों को बढ़ावा मिलने के अलावा पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी तथा शिमला और आसपास के क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियां सृजित होंगी। उन्होंने कहा कि इस परियोजना से लगभग 1000 लोगों के लिए रोजगार के अवसर सृजित होंगे।
यह परियोजना कुफरी में 250 करोड़ रुपये की लागत से 5.04 एकड़ भूमि पर विकसित की जाएगी, जिसमें इण्डोर स्की पार्क, पैलेटियल माॅल, पांच सितारा होटल, एम्यूजमेंट पार्क, गेमिक जाॅन, फूड कोर्ट, शाॅपिंग आर्केड और अन्य सुविधाओं के अलावा 1000 से अधिक वाहनों की पार्किंग की सुविधा उपलब्ध होगी।
इस मैगा परियोजना के प्रमोटर और नागसन्ज डेवेलपर के मालिक निशांत नाग ने कहा कि इस परियोजना की रचना इनफिनिटी डिजायन स्टूडियो मुम्बई द्वारा की गई है और स्की दुबई एवं स्की इजिप्ट अन्लिमिटिड स्नो नेदर्लैण्ड मेकर्ज द्वारा क्रियान्वित की जाएगी। यह परियोजना मार्च, 2021 में शुरू होनी तथा अपै्रल, 2022 क्रियशील होनी अपेक्षित है।
प्रधान सचिव ओंकार चन्द शर्मा और निदेशक पर्यटन यूनुस भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

हिमाचल सरकार बर्ड फ्लू से निपटने के लिए पूरी तरह से सतर्क, पौंग बांध के आसपास के निगरानी के निर्देश- सीएम

Fri Jan 8 , 2021
कोविड-19 के टीकाकरण अभियान के लिए भी तैयारियां कर ली हैं पूर्ण एप्पल न्यूज़, कांगड़ा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार बर्ड फ्लू से निपटने के लिए पूरी तरह से सजग तथा सतर्क हैं। इसके लिए पौंग बांध के आसपास के क्षेत्रों की पूरी निगरानी सुनिश्चित की […]