हिमाचल प्रदेश में कम जोखिम वाले Health Workers को क्वारंटीन होने की आवश्यकता नहीं

एप्पल न्यूज़, शिमला

हिमाचल प्रदेश के अस्पतालों में कार्य करने वाले स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों को कोरोना मरीजों के प्रबंधन के दौरान व्यक्तिगत सुरक्षा में उल्लंघन होने पर इस बीमारी से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। भारत सरकार द्वारा 18 जून, 2020 को जारी इन दिशा-निर्देशों को अब वापिस ले लिया गया है, जिनमें अधिसूचित किया गया था कि कम जोखिम वाले स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ताओं को क्वारंटीन होने की आवश्यकता नहीं है जबकि उच्च जोखिम वाले कार्यकर्ताओं को एक सप्ताह के लिए क्वारंटीन होने के बाद उनका परीक्षण किया जाता था।  

 स्वास्थ्य विभाग के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि इन दिशा-निर्देशों में बदलाव किया गया है। अब स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ताओं को क्वारंटीन होने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ताओं के लिए जनवरी, 2021 से टीकाकरण शुरू किया गया था और अब तक अधिकतर कर्मचारियों का टीकाकरण किया जा चुका है।   

Share from A4appleNews:

Next Post

फिर से मुस्कराएगा इंडिया- NSUI HPU ने शिमला में किया sanitizer का छिड़काव

Thu May 13 , 2021
एप्पल न्यूज़, शिमला आज पूरा देश और प्रदेश कोरोना महामारी से ग्रसित है और इस महामारी ने लोगों के जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है NSUI ने पिछले एक साल से कोरोना में  राशन वितरण हो, फ़ूड बैंक चलाना हो, मास्क वितरित करना हो अनेक तरह के प्रोग्राम चलाये […]

You May Like

Breaking News