कारगिल विजय दिवस- एक्स सर्विसमैन वेलफेयर एसोसिएशन और वेटरन इंडिया शिमला द्वारा वीरांगनाओं को किया सम्मानित

एप्पल न्यूज़, शिमला

एक्स सर्विसमैन वेलफेयर एसोसिएशन (पीबीओआर) और वेटरन इंडिया जिला शिमला के सौजन्य से घन्नाहटी क्षेत्र के हीरानगर में कारगिल विजय दिवस मनाया गया। समारोह का आयोजन वेटरन इंडिया शिमला के अध्यक्ष कैप्टन शामलाल शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। जबकि मुख्य अतिथी अविनाश राय खन्ना, बीजेपी प्रभारी हिमाचल प्रदेश रहे।

बड़ी संख्या से हमारे शिमला शहरी, शिमला ग्रामीण, मुशोब्रा ब्लॉक, सुनी ब्लॉक, और देश प्रदेश भर से राष्ट्र प्रेम में बहुत सारे गण मान्य लोगो ने हिस्सा लिया ।

सुबह 11 बजे सब से पहले शहीदो को श्रद्धांजलि अर्पित किया गया ।
मुख्य अतिथि द्वारा कारगिल युद्ध की वीरांगनाओं को को सम्मानित किया गया ।
इसके अतिरिक्त संजय टंडन बीजेपी उप कार्य भारी प्रभारी हिमाचल प्रदेश , डॉक्टर प्रमोद शर्मा पूर्व भाजपा प्रत्याशी, रवि मेहता जिला अध्यक्ष बीजेपी, कैप्टन शामलाल शर्मा, कैप्टन हीरासिंह, कैप्टन मोहन सिंह, , कैप्टन इंदर डोगरा, एसोसिएशन के प्रधान पवन चौहान, उप प्रधान दिनेश ठाकुर, दयाल ठाकुर, रूप राम चौहान, अनुराधा चेयरमैन, ईश्वर रोहाल, प्यार सिंह कंवर, कुमारी सपना कश्यप, बी डी सी मेंबर, कमलेश शर्मा, पूर्व भाजपा जिला परिषद प्रत्याशी, हरविंदर सिंह इत्यादि के साथ साथ तकरीबन 200 से भी अधिक लोग एकत्रित हुए।

वीरांगनाओ में शकुंतला देवी पत्नी स्वर्गीय सूबेदार वेद प्रकाश शौर्य चक्र ( मृत्यु उपरांत), वीरांगना मति शीला ठाकुर पत्नी स्वर्गीय नायक वरिंदर सिंह ऑर्डनेंस कोर वीरांगना लता कुमारी, पत्नी स्वर्गीय नायक सोम दत्त डोगरा रेजिमेंट, और वीरांगना हिमाचली देवी, पत्नी स्वर्गीय हरीश चंद 6 जम्मू और कश्मीर राइफल्स जिन्होंने वर्ष 2002 में सियाचिन ग्लेशियर में अवलौंच में दब कर मातृ भूमि की रक्षा करते करते अपना जीवन न्यौछावर कर दिया ।
इसके साथ हमारे धमून पंचायत के माननीय उप प्रधान बलदेव राज ठाकुर, बी डी सी मेंबर कुमारी सपना कश्यप ,और काफी सारे सिविलियन और फौजी आए हुए थे ।
कैप्टन शाम लाल शर्मा साक्षी कारगिल युद्ध जो 14 जम्मू और कश्मीर राइफल्स में कारगिल युद्ध में साथ थे 22 वर्षो पुरानी यादें सांझा करते है ।
दुश्मन धोखे से एल ओ सी पार करके बटालिक कारगिल काकसर इलाके में बैठ चुका था । 14 जम्मू और कश्मीर राइफल्स को त्राल 8 माउंटेन डिवीजन से 3 माउंटेन डिवीजन बटालिक इलाके में बजरंग पोस्ट, 18000 फीट से भी ऊंची पहाड़ियों पर काकसर इलाके में दुश्मनों को रोकने का काम दिया गया जिसे यूनिट ने बाखूबी निभाया ।
स्नो बूट नही थे, स्नित टेंट नही थे, मोबाइल भी होते थे
दुश्मनों की संख्या का अनुमान नही था ।
सब कुछ विपरीत होने के बाबजूद जवानों मे जनून , हिम्मत, जोश था वतन और एमआर मिटने आउट झंडा फिराने का जुनून था।
पहाड़ियों पर चढ़ने वाले उपकरण का प्रयोग किया गया डोगरा यूनिट होने के कारण पहाड़ियों पर चढ़ने का पूरा अनुभव था। आर्टी फिफोर्सेस गन की सहायता, मीडियम और स्मॉल आर्म्स से फायर करके दुश्मनों के इरादों को डर्कर कर दिया। 25000 से भी अधिक बोफोर्स बम बरसे दुश्मनों को मार मार कर भारी जान मॉल का नुकसान करके अंत में विजय हमारी हुई ।

जल पान का तथा खाने पीने का उचित बंदोबस्त किया गया ।

पिता देता है जवानी
मां देती है कुरबानी
किसी से पूछना ,फौजियों के बचे ऐसे ही बड़े नही हो जाते ।
आज के यूथ को भी कहना चाहता हूं की ,नशे बिशे जैसी आदतें न अपनाएं, एनसी सी, लूना अकादमी जैसी जगह भर्ती की ट्रेनिंग ले, महिलाओं को भी मिलिट्री पुलिस जैसे ऑफिसर्स रैंक से नीचे भर्ती के रास्ते सरकार ने खोल दिए है ।
कमीशन के लिए भी त्यारियाँ करे ।
भारत सरकार से निवेदन है की सभी वार वॉरियर्स को फ्री डम फाइटर जैसी सुविधाएं प्रदान की जाए ।

Share from A4appleNews:

Next Post

ओ लै- शमशानघाट में नाच रहे थे तीन "भूत", एक पकड़ा गया दो फरार

Tue Jul 27 , 2021
एप्पल न्यूज़, संजीव कुमार गोहर मंडीचैलचौक जंजैहली सड़क पर कोट गांव के साथ सुनसान नाले में स्थित शमशानघाट में बीती रात को उस वक्त यहां से गुजरने वालों के रौंगटे खड़े हो गए जब उन्होंने यहां तीन भूतों को चीखते-चिल्लाते और नाचते हुए देखा। यह सब शमशानघाट के उस स्थान […]

You May Like

Breaking News