IMG_20220716_192620
IMG_20220716_192620
previous arrow
next arrow

हिमाचल के आउटसोर्स कर्मियों को पॉलिसी में लाने के लिए कदमताल शुरू, एक सप्ताह में सभी विभागों, बोर्ड-निगमों से मांगा नियुक्त कर्मचारियों का पूरा डाटा

एप्पल न्यूज़, शिमला

चुनाव नजदीक आते ही भाजपा सरकार ने एक नई कवायद शुरू कर दी है। हाल ही में बनाई गई कैबिनेट कमेटी ने 15 नवम्बर की तारीख से एक पत्र प्रदेश के सभी विभागों, निगम और बोर्डों को लिखा है जिसमें उनसे वहां तैनात आउटसोर्स कर्मचारियों को नियुक्ति से लेकर अब तक का पूरा ब्यौरा मांगा है।

पत्र में साफ लिखा गया है कि राज्य सरकार ने इन कर्मियों के लिए नीति बनाने का निर्णय लिया है। ऐसे में हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा अनुमोदित कम्पनियों के तहत जितने भी कर्मचारी कार्यरत हैं उनका डाटा एक सप्ताह में उपलब्ध करवाया जाए।

ऐसे में अब प्रदेश के हजारों आउटसोर्स कर्मचारियों को पॉलिसी के तहत सरकारी नौकरी में मर्ज होने की उम्मीद जगी है।

यूं पूर्व कांग्रेस सरकार के समय चुनावों से ठीक पहले भी ऐसी ही कवायद शुरू हुई थी। बाकायदा शिमला के पीटरहॉफ में एक बड़ा कार्यक्रम किया गया लेकिन चुनाव हुए और कांग्रेस सत्ता से बाहर हो गई। इसी दौरान भाजपा ने 2017 के विधानसभा चुनावों में आउटसोर्स कर्मचारियों के नियमितीकरण के मुद्दे को अपने घोषणापत्र में शामिल किया।

अब जब सरकार के 4 साल बीत गए है और उपचुनावों में चारों सीटों पर हार का मुंह देखना पड़ा तो उन्हें अपना घोषणापत्र याद आया और अब उस पर नीति बनाने की कवायद शुरू की है। वैसे एक अनुमान के अनुसार राज्य में करीब 40 हजार आउटसोर्स कर्मचारी सेवारत हैं। यदि इनके लिए सच में पॉलिसी बनाई गई तो निश्चित रूप से इसका फायदा आगामी चुनावों में सत्तासीन दल भाजपा को भी मिलेगा।

Share from A4appleNews:

Next Post

RTO ऊना में स्थापित होगा हिमाचल का पहला आदर्श 'बाल यातायात पार्क', बच्चों को सड़क सुरक्षा के बारे में जागरूक करना लक्ष्य

Wed Nov 17 , 2021
एप्पल न्यूज़, शिमला सड़क सुरक्षा राज्य स्तरीय स्थाई समिति की बैठक अतिरिक्त मुख्य सचिव परिवहन जे.सी. शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित हुई। बैठक में समाज के सभी वर्गों के लिए सड़क सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विविध विषयों पर व्यापक चर्चा के उपरान्त विभिन्न निर्णय लिए गए।जे.सी. शर्मा ने बताया […]

You May Like