IMG_20220716_192620
IMG_20220716_192620
previous arrow
next arrow

खजियार घटना- बीच रोड़ खड़ी की थी फॉर्च्युनर, पुलिस ने पूछा तो झाड़ा रौब, अब कर रहा झूठे आरोप लगा प्रदेश की छवि धूमिल करने के नाकाम प्रयास

एप्पल न्यूज़, चंबा

हाल ही में विभिन्न समाचार पत्रों व सोशल मीडिया के माध्यम से जिला चम्बा के खजियार/डल्होजी में हुई दो घटनाओं को तथ्यों से परे, तोड़-मरोड़ कर हिमाचल प्रदेश के स्थानीय लोगों का व्यवहार व हिमाचल प्रदेश पुलिस की छवि को धूमिल किया जा रहा है।

हिमाचल प्रदेश पुलिस पूर्णतयाः अनुशासित पुलिस बल व व्यवहार कुशल है व पर्यटकों का सदैव सत्कार करती है। हिमाचल प्रदेश एक शांतिपूर्ण राज्य है।

जिला चम्बा के खजियार डल्होजी में घटित घटनाओं का वास्तिवक ब्यौरा निम्न प्रकार से है:-

  1. जिला चंबा में परमजीत सिंह, ए०एस०आई० चंडीगढ़ पुलिस का मामला।

दिनांक 9 जून 2024 को परमजीत सिंह, ए०एस०आई० चंडीगढ़ पुलिस जिला चंबा के खजियार में घूमने आए थे, जिसने अपनी गाड़ी Toyota Fortuner bearing No. CH 01 CE 8821 को सड़क के बीच में पार्क कर दिया था, जिससे यातायात बाधित हो गया था।

जब खजियार पुलिस चौकी के पुलिसकर्मियों ने उनसे गलत तरीके से पार्क की गई गाड़ी को हटाने के लिए कहा, तो वह नाराज हो गया और वह बहस व गाली-गलौच करने लगा।

इस संबंध में मामले की जांच प्रभारी पुलिस थाना सदर जिला चंवा के माध्यम से की गई। जांच के दौरान पुलिसकर्मियों के खिलाफ लगाए गए आरोप पूरी तरह से निराधार और झूठे पाए गए।

  1. जिला चंबा में NRI दंपत्ति कंवलजीत सिंह का मामला।

दिनांक 11 जून 2024 को एक NRI दंपत्ति कंवलजीत सिंह, उनकी स्पेनिश पत्नी और उनके भाई जीवनजीत सिंह अमृतसर शहर से चंबा जिले के खजियार में घुमने गए थे।

जांच में पता चला है कि कंवलजीत सिंह और उनके भाई जीवनजीत सिंह हस्तरेखा शास्त्र का अभ्यास करने के बहाने महिला पर्यटकों और स्थानीय महिलाओं का जबरन हाथ पकड़ रहे थे।

इससे NRI दंपत्ति और वहां मौजूद पर्यटकों और स्थानीय लोगों के बीच कहासुनी हो गई। पुलिस ने मामले में हस्तक्षेप किया और NRI दंपत्ति को सुल्तानपुर पुलिस चौकी ले आई।

उन्होंने इस मामले में कोई भी कानूनी कार्यवाही करवाने से इनकार कर दिया और स्थानीय पुलिस द्वारा अनुरोध करने के बावजूद उन्होंने मेडिकल करवाने के लिए मना कर दिया।

इस सन्दर्भ में कंवलजीत सिंह का बयान भी दर्ज किया गया, जिसमें उन्होंने अपने साथ हुई हाथापाई के संबंध में पुलिस कार्यवाही से इनकार किया, जिसको जीवनजीत सिंह ने भी तस्दीक किया। ब्यान की छायाप्रति संलग्न है।

उपरोक्त दोनों घटनाओं का चंडीगढ़ हवाई अड्डे पर मंडी की सांसद सुश्री कंगना रनौत की घटना से कोई संबंध नहीं है, जैसा कि मीडिया में बताया गया है। इस संबंध में स्थानीय लोगों ने भी इस तरह की कोई टिप्पणी न की है।

हिमाचल प्रदेश एक शांतिपूर्ण राज्य है। खासकर गर्मियों और सर्दियों के मौसम में हिमाचल प्रदेश पूरे भारत और विदेशों से पर्यटकों को आकर्षित करता है, इसलिए हिमाचल प्रदेश पुलिस देश व विदेश से आने वाले सभी पर्यटकों का हार्दिक स्वागत करती है तथा उनकी सुरक्षा के लिए सदैव तत्पर रहती है।

Share from A4appleNews:

Next Post

CM ने की NRI दम्पति पर हमले की कड़ी निंदा, बोले-प्रदेश सरकार आरोपियों के विरुद्ध करेगी कड़ी कार्रवाई

Mon Jun 17 , 2024
एप्पल न्यूज़, शिमला राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि मीडिया रिपोटर््स के अनुसार जिला चम्बा के डलहौजी के खजियार में एनआरआई दम्पति पर हमले से सम्बंधित मामले में अमृतसर में दम्पति द्वारा जीरो एफआईआर दर्ज की गई है। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह […]

You May Like

Breaking News