IMG-20220814-WA0007
IMG-20220807-WA0013
IMG-20220807-WA0014
IMG_20221024_145023
previous arrow
next arrow

पत्रकारों को भी मिले सुरक्षा कवच, आखिर जान जोखिम में डाल हम भी आप तक पहुंचा रहे हैं हर एक ख़बर

IMG_20220803_180317
IMG-20220915-WA0002
IMG-20220921-WA0029
previous arrow
next arrow

एप्पल न्यूज़, शिमला

नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट की हिमाचल इकाई द्वारा शुक्रवार को सरकार को एक ज्ञापन सौंपा गया। जिसके माध्यम से मांग की गई कि कोरोना योद्धाओं की भांति कोविड-19 में फील्ड में डटे पत्रकारों का भी सुरक्षा बीमा किया जाए। इस बाबत एनयूजे इंडिया हिमाचल इकाई ने आईपीआर सचिव रजनीश और मुख्यमंत्री के ओएसडी महेंद्र धर्माणी को ज्ञापन सौंपा गया।

एनयूजे महिला विंग की अध्यक्ष सीमा शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने गत दिनों शिमला में घोषणा की थी कि इस महामारी से निपटने में लगे समस्त योद्धाओं को 50 लाख रुपये का बीमा कवर दिया जाएगा तथा डयूटी के दौरान जान गंवाने वाले कर्मचारी के परिवार को 50 लाख रुपये मिलेंगे।


इसमें डाक्टर, पैरा मेडिकल, पुलिस, सफाई कर्मचारी व आंगनबाडी कार्यकर्ता सहित सभी परिवार शामिल है जिनकी कोविड 19 में डयूटी लगी है। उन्होंने कहा कि एनयूजे सरकार के इस फैसले का स्वागत करती है। मगर पत्रकारों के हित मे भी कोई निर्णय होना चाहिए। ऐसे में जब कोरोना महामारी में मीडिया के बहुत सारे साथी डयूटी पर तैनात हैं और अपनी जिम्मेदारी जान पर खेल कर निभा रहे हैं।


वहीं ओएसडी महेंद्र धर्माणी ने कहा कि पत्रकारों की जायज मांग है इसे मुख्यमंत्री के समक्ष रख जाएगा और मामले पर जल्द निर्णय लिया जाएगा। उधर आईपीआर सचिव रजनीश ने भी पत्रकार हित मे निर्णय लेने का आश्वासन दिया है।
इस दौरान एनयूजे की महिला विंग अध्यक्ष सीमा शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल हैडली, सह सचिव दिनेश अग्रवाल, सदस्य रोशन लाल डोगरा और वीरेंद्र खागटा भी मौजूद रहे।

Share from A4appleNews:

Next Post

Fri Apr 24 , 2020

Breaking News