SDM सुरेन्द्र मोहन ने उठाया रामपुर बुशहर में बदहाल ट्रैफिक व्यवस्था को पटरी पर लाने के जिम्मा, खुद से की शुरुआत

एप्पल न्यूज़, रामपुर बुशहर

दशकों से रामपुर बुशहर में बदहाल ट्रैफिक व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए एसडीएम सुरेन्द्र मोहन ने खुद से शुरुआत की। जब से यहां एसडीएम ऑफिस बना तब से एसडीएम का वाहन नेशनल हाइवे पर ही पार्क होता था। एसडीएम ने सबसे पहले अपना वाहन यहां से हटाकर मिनी सचिवालय की पार्किंग में पार्क करने का निर्णय लिया है।

सुरेन्द्र मोहन ने कहा कि समस्या को समाप्त करना समाज के सभी वर्गों का कर्तव्य है और इसकी शुरूआत वह खुद करते हैं और यही उम्मीद औरों से भी रखते हैं।

रामपुर शहर में आम जनता के बजाय सरकारी मुलाजिम ट्रैफिक नियमों की खासी अवहेलना कर रहे हैं। एसडीएम रामपुर सुरेंद्र मोहन ने एनएच, नगर परिषद और पुलिस प्रशासन को तुरंत प्रभाव से ऐसे कर्मचारियों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। शहर में ट्रैफिक व्यवस्था को पहले से बेहतर करने के लिए प्रशासन ने मिस ( मिशन ऑफ इंटेलिजेंट एंड स्मार्ट सिस्टम) ट्रैफिक प्लान  तैयार किया है। इसके तहत रामपुर शहर में वर्षों पुरानी समस्या के समाधान किया जाएगा।रामपुर में बिगड़ी ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार करने के उद्देश्य से वीरवार को एसडीएम रामपुर सुरेंद्र मोहन की अध्यक्षता में एक विशेष बैठक आयोजित हुई। बैठक में नेशनल हाईवे पांच किनारे बेतरतीब पार्किंग, अवैध रूप से बनाए गए पार्किंग स्थल और मिनी सचिवालय के सामने हो रही बेतरतीब पार्किंग को लेकर चर्चा हुई।

एसडीएम ने कहा कि शहर में ट्रैफिक व्यवस्था चाईल्ड फें्रडली होनी चाहिए। बीते १० वर्षों में मुख्य शहर में ही १२ लोगों ने अपनी जान गंवाई है। उन्होंने चेताया कि शहर में एनएच पर पार्क किए गए वाहनों को तुरंत प्रभाव से हटाया जाए। उन्होंने कोर्ट परिसर के साथ एनएच पर बनाई गई पार्किंग, मिनी सचिवालय, कन्या स्कूल, डकोलढ़, खनेरी और चूहाबाग सहित समूचे नप क्षेत्र में अवैध पार्किंग पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। एसडीएम का वाहन एनएच ५ पर पार्क न होकर मिनी सचिवालय की पार्किंग में पार्क होगा। मिनी सचिवालय में चल रहे विभिन्न विभागों के मुख्य अधिकारियों को ही वाहन पार्क करने की यहां व्यवस्था रहेगी। सुरेंद्र मोहन ने नगर परिषद को नप क्षेत्र में पार्किंग के लिए नए स्थानों का चयन के निर्देश दिए। एसडीएम सुरेंद्र मोहन ने कहा कि बीते दस वर्षों में क्षेत्र में वाहनों की संख्या में करीब चार गुना इजाफा हुआ है, जबकि पार्किंग और सडक़ों में बदलाव नहीं हो पाया है।

उन्होंने शहर आने वाले लोगों, कर्मचारियों और व्यापारी वर्ग से अपनी जिम्मेवारी को समझते हुए शहर में वाहन न पार्क करने की अपील की है। इस दौरान डीएसपी रामपुर अभिमन्यु वर्मा ने भी शहर में बेहतर ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर अपने विचार सांझा किए। 

इस मौके पर नगर परिषद अध्यक्ष सुमन घाघटा, देशराज गुलेरिया, धनवीर ठाकुर, अजय बदरेल, तनमय शर्मा, करन ठाकुर, उषा चौहान, हरीश गुप्ता, कर्म सेन सहित विभिन्न विभागों से आए अधिकारी मौजूद रहे। 

रामपुर बुशहर सर्वहितकारी व्यापार मंडल ने भी दिए सुझाव

सर्वहितकारी व्यापार मंडल ने बैठक के बाद एसडीएम को अलग से सुझाव सौंपे। जिसमें ज़ेबरा लाइन, येलो लाइन, फुट ओवर ब्रिज लगाने सहित अन्य सुझाव दिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मानव भारती यूनिवर्सिटी के डिग्री फर्जीवाड़े में किसको बचाना और किसके लिए मामला दबाना चाह रही है सरकार : राणा

Fri Sep 11 , 2020
मानव भारती यूनिवर्सिटी के डिग्री फर्जीवाड़े पर सदन के भीतर व बाहर सरकार की राणा ने उधेड़ी बखियां राणा के आरोपों की तपिश ने पूर्व सत्ताधीशों व वर्तमान सरकार को तपाया एप्पल न्यूज़, शिमला मानव भारती यूनिवर्सिटी सोलन में फर्जी डिग्रियों की बिक्री को लेकर सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा […]