जिला परिषद पर कांग्रेस का कब्ज़ा, चंद्र प्रभा नेगी फिर बनी अध्यक्ष, सुरेंद्र रेटका उपाध्यक्ष, भाजपा ने की सेंधमारी

एप्पल न्यूज़, शिमला

शिमला जिला परिषद अध्यक्ष उपाध्यक्ष पद को लेकर बरकरार संशय खत्म हो गया है। शिमला जिला परिषद के दोनों पदों पर कांग्रेस ने कब्जा जमाया है। जिला परिषद अध्यक्ष चंद्र प्रभा नेगी को 24 में से 15 वोट पड़े जबकि उपाध्यक्ष सुरेंद्र रेक्टा को 24 में से 17 वोट पड़े। सुबह 10 बजे से शुरू हुई मतदान प्रक्रिया 3 घंटे चली। भाजपा की तरफ से खड़ी भारती जनारथा को 9 वोट पड़े जबकि मदन लाल वर्मा 7 वोटों से संतोष करना पड़ा। कांग्रेस की जीत के बाद डीसी ऑफिस के बाहर जश्न का माहौल बन गया। 

डीसी शिमला आदित्य नेगी ने जिला परिषद चुनावी प्रक्रिया की जानकारी दी और बताया कि अध्यक्ष पद पर चंद्र प्रभा नेगी को भारती के 9 वोट के मुकाबले 15 वोट मिले जबकि उपाध्यक्ष पद पर भाजपा में मदन लाल वर्मा के 7 वोटों के मुकाबले सुरेंद्र को 17 मत मिले।

शिमला जिला परिषद पर कांग्रेस ने कब्जा कर लिया है । बचत भवन में वीरवार को जिला परिषद के अध्यक्ष ओर उपाध्यक्ष पद के लिए मतदान करवाए गए जिसमे अध्यक्ष पद पर कांग्रेस की उम्मीदवार चन्द्र प्रभा नेगी को 24 में से 15 वोट मिले जबकि बीजेपी की उम्मीदवार भारती को 9 वोट मिले । वही उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस के उम्मीदवार सुरेंद्र रेटका को 17 जबकिं बीजेपी के उम्मीदवार मदन को 7 वोट मिले । बीजेपी हालांकि अध्यक्ष पद पर सेंधमारी करने में कामयाब हुई और दो कांग्रेस समर्थित सदस्यों ने अध्यक्ष पद पर बीजेपी को वोट दिया.
जिला परिषद में कांग्रेस के जहा 13 सदस्य जीते थे और एक आजाद उम्मीदवार ने कांग्रेस को समर्थन दिया है । साथ ही 3 सदस्य सीपीआईएम के जीते थे और सीपीआईएम ने भी कांग्रेस के पक्ष में वोट किया । शिमला जिला उपायुक्त आदित्य नेगी ने कहा कि जिला परिषद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए दो – दो उम्मीदवार थे जिसमे कांग्रेस की चंद्र प्रभा नेगी को अध्यक्ष पद पर 15 वोट पड़े जबकि उपाध्यक्ष पद पर सुरेंद्र रेटका को 17 वोट पड़े हैं । वही इस मौके पर काफी तादाद में कांग्रेस के नेता भी बचत भवन पहुचे।

कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर विधायक विक्रमादित्य सिंह विधायक अनिरुद्ध सिंह विधायक मोहनलाल बरागटा सहित अन्य नेता भी सुबह से डीसी ऑफिस में बैठे रहे और जैसे ही मतों की गिनती समाप्त हुई और परिणाम घोषित हुए तो डीसी ऑफिस में कांग्रेस के समर्थन में जम कर नारेबाजी की ओर अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को फूल मालाएं पहनाई । नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्ष चंद्रप्रभा सुरेंद्र रेटका ने जहा कांग्रेस नेताओं का आभार जताया वही सभी सदस्यों को साथ लेकर जिला के विकास करने की बात कही।

बता दे कांग्रेस में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद को लेकर खींचतान को देखते हुए कांग्रेस द्वारा सभी जिला परिषद सदस्यों को वीरभद्र सिंह के पास ले जाया गया था जहां पर अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का नाम तय किया गया था । हालांकि दो सदस्यों ने कांग्रेस के समर्थन में मतदान न करके बीजेपी उम्मीदवार को वोट दिया है।

Share from A4appleNews:

Next Post

बीडीसी रामपुर बुशहर में कांग्रेस और भाजपा मिलकर करेगी राज, कांग्रेस के आशीष कायथ अध्यक्ष और भाजपा के रूपेश्वर कुमार बने उपाध्यक्ष

Thu Feb 11 , 2021
एप्पल न्यूज़, रामपुर बुशहरविकासखंड रामपुर बुशहर के तहत पंचायत समिति अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष चयन प्रक्रिया गुरुवार को संपन्न हुई। इस दौरान पंचायत समिति अध्यक्ष का ताज कांग्रेस समर्थित आशीष कायथ के सिर सजा जबकि उपाध्यक्ष पद पर भाजपा समर्थित रूपेश्वर कुमार ने बाजी मारी। चयन प्रक्रिया एसडीएम रामपुर सुरेंद्र मोहन […]

Breaking News