IMG_20220716_192620
IMG_20220716_192620
previous arrow
next arrow

मनरेगा में रसीद दो-काम दो, वरना बैठेंगे 24 घंटे कार्यालय के बाहर- सीटू

एप्पल न्यूज़, सीआर शर्मा आनी

हिमाचल किसान सभा और सीटू के राष्ट्रीय आह्वान पर और हिमाचल प्रदेश किसान सभा और सीटू की राज्य कमेटी के आह्वान पर आनी में भी सीटू और किसान सभा ने बाजार में रैली निकाली और वीडिओ आनी के कार्यालय के बाहर धरना दिया।

  इस रैली व प्रर्दशन में हिमाचल किसान सभा  के राज्य सचिव ओंकार शाद भी उपस्थित थे ।किसान व मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ यह प्रदर्शन किया गया जिस तरह से सरकार आम जनता के उपर वोझ  डालने वाली नीतियों और कानूनों को लागू करी है ,यह कारपोरेट घरानों के फायदा पहुंचाने के लिए काम कर रहे हैं।  कृषि कानून को लेकर  संघर्ष जारी रहेगा जब तक किसानों को न्युनतम समर्थन मूल्य कानून नहीं बनाता है ।

दूसरी तरफ सरकार ने श्रम कानूनों को बदल कर मजदूर विरोधी काम किया है।  किसान सभा आनी और सीटू आनी ने बीडीओ आनी के कार्यालय के बाहर भी धरना दिया। आनी की तमाम पंचायतों में मनरेगा मजदूरों को काम नहीं दिया जा रहा है ।कोराना संकट से बाहर निकलने और आर्थिक मंदी के कारण लोग मनरेगा में काम चाहते  हैं।   प्रदेश सरकार मनरेगा को लेकर गंभीर नहीं है ।

ग्रामीण क्षेत्रों की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए लोगों को काम देना चाहिए । मनरेगा के काम को लेकर  खंड बिकास अधिकारी को  प्राथमिकता से काम करना चाहिए । मनरेगा में काम सिर्फ 5 महिनों में होता है ,जो उचित समय होता है। 120 दिनों का रोजगार नहीं दिया जा रहा है।

देवकी नंद ने कहा कि  केंद्र की मोदी सरकार ने मनरेगा को कमजोर करने का काम कर रही है हर साल बजट में कटौती कर रही है । इस साल 6 महिने पहले ही मनरेगा का बजट समाप्त हुआ है। लोगों को मनरेगा की मजदूरी पिछले 4 महिनों से नहीं मिली ।जंनता के कल्याणकारी कानूनों और योजनाओं पर कम खर्चा कर रही है। दुसरी तरफ अंबानी अडानी अदानी का पर अधिक खर्चा कर रही है।

किसान सभा आनी इकाई और सीटू ने खंड बिकास अधिकारी को एक मांग पत्र दिया, जिसमें–मनरेगा में सभी आबेदकों को 120 दिनों का रोजगार सुनिश्चित करने.आबेदन करने पर  आबेदकों को रसीद दो, तय सीमा पर काम न देने पर भत्ता देना सुनिश्चित करें। अभी निकाले हुए  कार्य के आदेश के कामों की एप्रुवल फौरी दो। सरकार से मांग की है कि खाली पड़े पदों की शिध्र भर्ती करो।

दूसरी तरफ किसान सभा आनी और सीटू आनी ने खोखा धारकों और रेहड़ी फड़ी एवं फल सब्जी बिक्रेताओं युनियन (संबंधित सीटू ) के समर्थन में एसडीएम आनी को मांग पत्र दिया है ।इन मजदूरों का स्ट्रीट बेंडरज एक्ट  2014 के तहत स्थापित करने की मांग की है।युनियन ने कहा कि मांगों आधार पर नगर पंचायत ने काम नहीं किया गया तो 10 दिसंबर को पुर्ण हड़ताल कर कार्यालय के बाहर धरने पर बैठेंगे। 

किसान सभा आनी और सीटू आनी  मनरेगा और जनसमस्याओं पर संघर्ष तेज करेगी। इस  रैली ब प्रर्दशन में  किसान सभा आनी सचिव गीता राम, उपाध्यक्ष मिलाप, हेमराज ,टीकम, बिजय,  मुकेश ,बेलीराम जेई,  केहर सिंह , पुर्ण ठाकुर  भबानी सिंह  , बीर सिंह , ताराचंद ,सीटू संयोजक आनी पदम् प्रभाकर , राजेंद्र, रमेश ,प्रेम , रंजना शर्मा  रेहड़ी फड़ी एवं फल सब्जी बिक्रेता युनियन संबंधित सीटू के प्रधान हीरालाल ब सचिव हीरालाल जोशी मोतीराम , उपाध्यक्ष सतप्रकाश और तारा चंद और अंन्य सैकड़ों मजदूर किसान शामिल थे।

Share from A4appleNews:

Next Post

RKS बैठक में आम लोगों को राहत, पुरानी दरों पर ही होंगे आनी सिविल अस्पताल में टेस्ट, 2021-22 में RKS को 14.57 लाख की आय का अनुमान

Sun Nov 28 , 2021
एप्पल न्यूज़, आनी रोगी कल्याण समिति (आरकेएस) सिविल अस्पताल आनी ने फैसला लिया है कि आम लोगों के टेस्ट पुरानी दरों पर ही किए जाएंगे। लोगों को राहत देते हुए निर्णय लिया गया है कि चालू वित्त वर्ष में इन दरों में कोई फेरबदल नहीं होगा। आरकेएस की गवर्निंग बॉडी […]

You May Like