IMG_20220716_192620
IMG_20220716_192620
previous arrow
next arrow

कुल्लू विकासात्मक प्लान को लेकर जिला परिषद बैठक में बोले सुंदर- कृषि भूमि को बचाना है तो बहुमंजिला भवन बनाने जरूरी

एप्पल न्यूज़, कुल्लू

कुल्लू शहर के विकासात्मक प्लान को लेकर नगर एवं ग्राम योजना विभाग मंडलीय कार्यालय कुल्लू द्वारा जिला परिषद के सभागार में बैठक का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता सदर क्षेत्र के विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने की। पूर्व सांसद एवं विधायक महेश्वर सिंह तथा अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी प्रशांत सरकैक भी इस दौरान उपस्थित रहे।


    विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने कहा कि कुल्लू विकास प्लान को आने वाले समय के मध्य नजर रखते हुए विस्तृत चर्चा कर तैयार किया जाए। उन्होंने अपने सुझाव देते हुए कहा कि कुल्लू शहर तथा आस-पास के क्षेत्र में बहुमंजिला भवनों को तैयार किया जाए ताकि कृषि योग्य भूमि का संरक्षण सुनिश्चित हो।

उन्होंने कहा कि यह मास्टर प्लान वर्ष 2041 तक कुल्लू शहर तथा इसके आस-पास के क्षेत्रों की भविष्य की जरूरतों तथा चुनौतियों को ध्यान में रखकर आधुनिक निर्माण तकनीक के आधार पर बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कुल्लू वैली मास्टर प्लान में ब्यास नदी के तटीकरण की अहम भूमिका है तथा इसके कार्य को सुनियोजित तरीके से किया जाए।
    पूर्व सांसद एवं विधायक महेश्वर सिंह ने भी अपने सुझाव देते हुए कहा कि कुल्लू शहर के लिए कोई भी विकासात्मक योजना तैयार करने से पहले धरातल की वास्तविकता को अच्छी प्रकार से समझकर ही मास्टर प्लान तैयार किया जाए।
    अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी प्रंशांत सरकैक ने टीसीपी अधिनियम के अंतर्गत विभिन्न कानूनी प्रावधानों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कुल्लू शहर के सुनियोजित विकास को लेकर हितधारकों द्वारा दिए गए सुझावों का स्वागत किया।
      नगर योजनाकार रसिक शर्मा ने कहा कि यह कार्यशाला कुल्लू घाटी योजना क्षेत्र की प्रारूप विकास योजना आउटसोर्स आधार पर मै. इंफ्रा प्राईवेट लिमिटेड गुड़गांव द्वारा नगर एवं ग्राम योजना विभाग  हिमाचल प्रदेश के मार्गदर्शन में तैयार की जा रही है।

इस कार्यशाला में लिए गए मुख्य निर्णयों में इस योजना क्षेत्र में भवन की अधिकतम ऊंचाई 21  मीटर, फर्श क्षेत्र अनुपात को 1.75 तथा इसके ऊपर 0.50 तक खरीद योग्य/ अधिमूल्य होटल/ अतिथि गृह के पार्किंग फलोर की अधिकतम ऊंचाई 4 मीटर और सर्विस फलोर देने पर सहमति बनी।

उन्होंने कहा कि इस डिवलपमैंट प्लान में सभी पंचायत प्रतिनिधियों की सक्रिय भूमिका सुनिश्चित होनी चाहिए ताकि वह अपने सुझाव तथा प्रतिक्रियाएं विभाग के समक्ष रख सकें और एक अच्छा मास्टर प्लान इसके लिए बनाया जा सके।

इस विकास योजना से सम्बंधित सभी लोगों को अपने सुझाव 20 दिन के भीतर देने को कहा गया। कुल्लू तथा इसकेे आस-पास के क्षेत्रों के लोग एसडीएम कार्यालय कुल्लू तथा टीसीपी कार्यालय में अपने सुझाव प्रस्तुत कर सकते हैं।
     बैठक में  जिला परिषद उपाध्यक्ष वीर सिंह, नगर परिषद कुल्लू के अध्यक्ष गोपाल कृष्ण महंत, नगर पंचायत भुंतर की अध्यक्ष मीना ठाकुर, अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग विनय हाजरी सहित कुल्लू घाटी योजना के तहत आने वाली विभिन्न पंचायतों के प्रतिनिधि तथा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Share from A4appleNews:

Next Post

मंडी शहर की गलियों में तारों के जाल न बनें जंजाल, एडीएम ने दिए तारों को व्यस्थित करने के निर्देश

Thu Feb 10 , 2022
एप्पल न्यूज़, मंडी अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी राजीव कुमार ने शिवरात्रि मेले के दृष्टिगत शहर की गलियों के ऊपर से बेतरतीब तरीके से गुजरती तारों के जाल को व्यस्थित करने के निर्देश दिए हैं, ताकि मेले में पधारे देवताओं के रथों की सुगम आवाजाही सुनिश्चित हो और शहर की सुंदरता भी […]

You May Like