कोटखाई के उभादेश की घरटीजुबड़ से बघाल सड़क का हाल बदतर, सेब सीजन में झेलनी पड़ रही परेशानी

एप्पल न्यूज़, जुब्बल कोटखाई

शिमला जिला में तहसील कोटखाई की उभादेश की ग्राम पंचायत बाघी के अंतर्गत घरटीजुबड़ से बघाल सड़क का हाल बत से बतर है यह सड़क लगभग पिछले एक महीने से बिल्कुल बंद पड़ी है जबकि सेब सीजन चल रहा है। सड़क में गढे है या गढो में सड़क इसका अंदाजा लगा पाना मुश्किल है सरकार और प्रशाशन गहरी नींद में सोया है जबकि आजकल उपचुनाव के चलते मंत्री और मुख्यमंत्री यहां बड़ी बड़ी घोषणाएं कर रहे है परन्तु जमीनी हकीकत कुछ और है,जनता की सुध लेने वाला कोई नही है।

यह बात ब्लॉक कांग्रेस जुब्बल नावर कोटखाई सोशल मीडिया के प्रभारी दीक्षित भारद्वाज ने कही उन्होंने कहा की लोक निर्माण विभाग के उदासीन रवैये से सड़को की स्थिति बद से बदतर बनी हुई हैं यह अनुमान लगाना मुश्किल है कि सड़कों में गड्ढ़े हैं गड्ढो में, सड़क जहां समय रहते सड़कों की मुररमत और रखरखाव होना चाहिए था।

इसके विपरीत जुब्बल-कोटखाई में लोक निर्माण विभाग मंडल सत्ताधारी दल के कार्यकर्ताओं को रेवड़ियां बांटने में व्यस्त रहें । घास काटने , रंग-रोगन,ड्रैनेज निर्माण, डंगा लगाने , सड़क निर्माण व सफ़ाई तक के सभी कार्यो में बिना टेन्डर प्रतिस्पर्धा के भाजपा के चहेतों को मुंहमांगे रेटों पर काम दिए गए।

इन कार्यो को नियमित करने के लिए महीनों बाद औपचारिकता मात्र पूरी करने के लिए नियमों को ताक में रखकर टेन्डर लगाए जा रहे हैं जिससे सरकारी धन का दुरुपयोग हो रहा हैं और भ्रष्टाचार पनप रहा हैं। कुछ अधिकारी भाजपा के पिट्ठू बने हुए हैं और इनकी सांठगांठ से बिना औपचारिकताएं व बजट के कार्य करवाएं जा रहे हैं।

घरटीजुबड़ से बघाल सड़क दो पंचायत को जोड़ने वाली सड़क है और ये सेब बहुल क्षेत्र है कुछ ही समय मे सेब सीजन शुरू होने जा रहा है। निर्माण कार्यों में गुणवत्ता की धज्जियां उड़ाई जा रही है जबकि जनता की कोई सुनवाई नही हो रही है।

Share from A4appleNews:

Next Post

मोदी सरकार जमीन, आकाश, पाताल सब कुछ बेचने पर तुली है, देश पर चला रहे पूर्ण बहुमत का बुल्डोजर- रागिनी नायक

Fri Sep 3 , 2021
“मोदी रीति सदा चली आई जो कही वो कभी न निभाई” एप्पल न्यूज़, शिमला कांग्रेस लगातार नेशनल मोनेटाइजेशन पॉलिसी का विरोध कर रही है। मोदी सरकार का देश नही बिकने दूंगा का नारा झूठा साबित हुआ है। आजादी के बाद कांग्रेस की सरकारों के द्वारा खड़े किए उपक्रमो को निजी […]

You May Like

Breaking News