कश्मीर घाटी में दो शिक्षकों की निर्मम हत्या के विरोध में शिक्षक महासंघ ने शिमला में गांधी प्रतिमा तक किया केंडल मार्च, सरकारी नौकरी और एक करोड़ राहत की मांग

एप्पल न्यूज़, शिमला

कश्मीर घाटी में दो कर्त्तव्य निष्ठ शिक्षकों जिसमे एक स्कूल की प्रधानाचार्या सुपिन्दर कौर ओर दीपकचंद को स्कूल में घुस कर ओर इनको स्कूल से निकाल कर बर्बर तरीके से इनकी निर्मम हत्या से सम्पूर्ण देश का शिक्षक समुदाय आक्रोशित एवं उद्देलित है। योजनावद्ध तरीके से किये गये इस हत्याकांड से सम्पूर्ण शिक्षा जगत को हिला दिया है और शिक्षक संस्थानों में भय एवं आतंक का वातावरण निर्मित हुआ है।

यह कृत्य शिक्षकों को अपने कर्तव्यों का निष्ठापूर्वक पूर्व करने से दूर रखने का सुनियोजित षड्यंत्र है। ताकि घाटी में शिक्षा की लौ जलाने वाले राष्ट्र प्रेमी शिक्षकों में डर पैदा किया जाए।

हैरानी की बात है कि यह घटना 15 अगस्त के दिन तिरंगे को सलाम करने के लिए बच्चों को कहने के लिए साझा दी बहन सुरपिंद्र कौर तो अपने क्षेत्र में गरीबो की सहायता और उनको शिक्षा देने के लिए प्रसिद्ध थी।
हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ इस कृत्य की घोर निंदा एवं भर्त्सना करता है और ऐसे जघन्य अपराध करने वालो का तुरंत पता लगाने एवं कठोर दंड प्रदान करने की मांग करता है ताकि भविष्य में इस प्रकार के घ्रणित अपराध करने के बारे में ऐसे तत्व सोचने से भी डरे। अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ सहित हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ शिक्षकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का भी आग्रह करता है।
हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के हिमाचल इकाई के प्रांत अध्यक्ष पवन कुमार, प्रान्त संगठन मंत्री पवन मिश्रा, प्रान्त महामंत्री विनोद सहित प्रान्त उपाध्यक्ष डॉ मामराज पुंडीर ने इन शिक्षकों के परिवारों को समुचित सुरक्षा प्रदान करने , परिवारों के सुरक्षित भविष्य के लिए प्रत्येक परिवार से कम से कम एक आश्रित को सरकारी नोकरी प्रदान करने तथा मुआवजे के रूप में प्रत्येक पीड़ित परिवार को कम से कम एक करोड़ की धनराशि प्रदान करने की मांग करता है।

इस सिलसिले में अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश प्रसाद सिंगल और राष्ट्रीय कार्यकारिणी देश के गृह मंत्री और उपराज्यपाल जम्मू एवं कश्मीर को पत्र लिख चुके हैं। आज शिमला में हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के शिमला जिला के कार्यकर्ताओं ने कैंडल मार्च निकाल कर अपना रोष व्यक्त करके शहीद अध्यापकों को श्रीदांजली अर्पित की ।

इस अवसर पर शिमला जिला नवनियुक्त प्रधान जितेंद्र , महामंत्री संजीव धीमान,सहित संगठन के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। प्रान्त उपाध्यक्ष डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के आह्वान पर आज पूरे देश मे शिक्षको के साथ हुई दुर्भाग्य पूर्ण घटना का विरोध प्रदर्शन किया गया है।

अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के अध्यक्ष प्रो जे पी सिंघल ने महासंघकी ओर से भेजे पत्र में केन्द्रीय गृह मंत्री जी एवं जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल जी को कश्मीर घाटी में दो शिक्षकों की बर्बर तरीके से की गई।

हत्या पर रोष प्रगट कर परिवार की सुरक्षा,परिवार में से किसी एक सदस्य को राजकीय सेवा में रखने तथा प्रत्येक पीडित परिवार को कम से कम एक करोड रुपये की सहायता राशि प्रदान करने की मांग की गई है।

इस अवसर पर अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के अतिरिक्त सयुक्त सचिव पवन मिश्रा सहित , महामंत्री विनोद सूद, विभाग संगठन मंत्री शशि , सुमित भारद्वाज, सुमन, ज्योति ,भीष्म जी आदि मौजूद रहे।

हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ ने जम्मू प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि पीड़ित परिवार को सुरक्षा प्रदान करने के साथ परिवार के एक सदस्य को सरकारी नोकरी ओर एक करोड़ की राशि दी जाए। इस घटना में शिक्षको की हत्या करने वाले आतंकवादी को मार गिराने के लिए हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ स्वागत करता है

Share from A4appleNews:

Next Post

DC आदित्य नेगी ने रामपुर बुशहर में लिया उपचुनावों की तैयारियों का जायजा

Sat Oct 9 , 2021
एप्पल न्यूज़, रामपुर बुशहर जिला निर्वाचन अधिकारी आदित्य नेगी ने मण्डी संसदीय लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के रामपुर में पंचायत समिती हाॅल में नोडल अधिकारियों एवं सेक्टर अधिकारियों के साथ बैठक कर उपचुनाव को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष रुप से पूर्ण करने के संबंध में की जा रही तैयारियों एवं प्रबंधों की […]

Breaking News