IMG_20220716_192620
IMG_20220716_192620
previous arrow
next arrow

जुब्बल-नावर-कोटखाई का उप चुनाव जिला शिमला के नेतृत्व का चुनाव- राजेश धर्माणी

एप्पल न्यूज़, जुब्बल कोटखाई

जुब्बल नावर कोटखाई का उप-चुनाव जिला शिमला कि दशा और दिशा को तय करेगा। यह बात राजेश धर्माणी सचिव अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने नावर क्षेत्र के पुजारली, धड़ीकुप्पड़, देवली, कुठाड़ी में जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए कही। राजेश धर्माणी ने कांग्रेस प्रत्याशी रोहित ठाकुर के लिए नावर की जनता से आर्शीवाद और जनसमर्थन की अपील की।

रोहित ठाकुर ने जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा कांग्रेस कार्यकाल में जुब्बल नावर कोटखाई में हर क्षेत्र में विकास हुआ। 2012-17 के कांग्रेस कार्यकाल में 29 सड़को को विधायक प्राथमिकता (नाबार्ड)के तहत लगभग ₹117 करोड़ की धनराशि उपलब्ध करवाई गई जो कि पूरे प्रदेश में सर्वाधिक थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के समय की स्वीकृत 26 सड़को की PMGSY के तहत लगभग ₹98 करोड़ की धनराशि स्वीकृत करवाई गई।

ठियोग- खड़ापत्थर-हाटकोटी सड़क का 92% निर्माण कार्य पूर्व कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में करवाया गया और इस सडक पर ₹400 करोड़ खर्च किये गए। पूर्व कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में सरस्वती नगर मे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (CHC), जुब्बल नावर कोटखाई में 11 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (PHC),2 उप स्वास्थ्य केंद्र ( HSC) व एक आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र (AHC) कांग्रेस कार्यकाल में खोलें गए जो कि कोरोना काल में क्षेत्रवासियों के लिए वरदान साबित हुए।

2012-17 के कांग्रेस कार्यकाल में जुब्बल नावर कोटखाई में 131 पेयजल व सिंचाई योजनाओं के लिए लगभग ₹100 करोड़ रूपये की राशि स्वीकृत करवाई गई जिसमें 30 उठाऊ पेयजल योजनाए शामिल है। कांग्रेस कार्यकाल में 32 वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं सहित लगभग 80 शिक्षण संस्थान खोलें व स्तरोन्नत किए गए तथा नावर क्षेत्र के अंतर्गत टिक्कर में राजकीय महाविद्यालय (Govt. Degree College) खोला गया ।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के साढ़े तीन वर्ष के कार्यकाल में जुब्बल नावर कोटखाई सहित पूरे जिला शिमला की घोर अनदेखी हुई है। भाजपा सरकार में नया काम शुरू करना तो दूर की बात कांग्रेस कार्यकाल के चले हुए कामों को भी रोका गया जिसमें ठियोग हाटकोटी सड़क योजना भी शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि जहां सड़कों की बात आती है CRF, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना,वर्ल्ड बैंक फेस टू, नाबार्ड के तहत पूरे प्रदेश को ₹55,00 करोड रुपए मिलें जिसमें 8 विधानसभा क्षेत्र वाले जिला शिमला को नाम मात्र बजट ही मिल पाया हैं। Central Road Fund (CRF)
CRF के तहत प्रदेश को 40 प्रोजेक्टों के लिए ₹ 941 करोड रुपए मिलें जिसमें ₹509 करोड रुपए मंडी जिला के सिराज और धर्मपुर को आबंटित हुए जबकि जिला शिमला में चौपाल में बनने वाले एक पुल के लिए मात्र ₹ 8.37 करोड रुपयों का आबंटन हुआ और इसके अतिरिक्त जिला शिमला को एक फूटी कौड़ी तक मिली। पीएमजीएसवाई (PMGSY) योजना में जुब्बल-नावर-कोटखाई को शून्य
पीएमजीएसवाई के तहत साढ़े 3 वर्षों में प्रदेशभर में ₹2293 करोड़ के 463 प्रोजेक्ट स्वीकृत हुए जिनमें जुब्बल-कोटखाई विधानसभा क्षेत्र और अन्य 3 क्षेत्रों को एक भी प्रोजेक्ट नहीं मिला । इसके विपरीत मंडी जिला में मुख्यमंत्री ने अपने विधानसभा क्षेत्र सिराज को पीएमजीएसवाई के तहत ₹80 करोड़ रुपए स्वीकृत करवाएं जिसकी जानकारी सरकार ने प्रश्नकाल के समय विधानसभा में दी। नाबार्ड के अंतर्गत जुब्बल-नावर-कोटखाई का एक भी प्रोजेक्ट नही।
नाबार्ड के तहत प्रदेश को 333 प्रोजेक्टों के लिए ₹1460 करोड रुपए प्राप्त हुए जिसमें जुब्बल नावर कोटखाई का एक भी प्रोजेक्ट शामिल नहीं हैं और बजट शून्य मिला हैं। वर्ल्ड बैंक फेस-2 से छैला नैरीपुल यशवंत नगर सोलन औच्छघाट सड़क को निकाला गया। केंद्रीय सड़क एवम परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले वर्ष 2015 में प्रदेश में 69 राष्ट्रीय राजमार्ग की घोषणा की थी जो कि 6 साल बीत जाने के बाद भी जुमला साबित हुए हैं।

जल जीवन मिशन के तहत गत साढ़े तीन वर्षों में प्रदेश प्रदेश में ₹938 करोड़ रुपए के टेंडर वितीय वर्ष 2019-20 व 2020-21 में आबंटित किए गए। इनमें सर्वाधिक ₹263 करोड रुपए के टेंडर जल शक्ति मंत्री महेंद्र ठाकुर की विधानसभा क्षेत्र धर्मपुर को आबंटित हुए और इसके बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की विधानसभा क्षेत्र सिराज को ₹181 करोड रुपए के टेंडर मिलें।

जुब्बल-नावर-कोटखाई की 27 पंचायतों के 194 गांवो को जोड़ने वाली ₹39 करोड़ की महत्वाकांक्षी पब्बर उठाऊ पेयजल योजना के टेन्डर गत साढ़े तीन वर्षों में तीन बार आमंत्रित करने के बावजूद भी अभी तक आबंटित नही किए गए जो कि भाजपा की नाकामी को दिखाता हैं। इसी प्रकार NRDWP के तहत जुब्बल-कोटखाई में ₹ 8 करोड़ रुपये की विभिन्न योजनाओं के टेंडर रद्द किए।

जल शक्ति विभाग में प्रदेशभर में विभिन्न पदों पर नियुक्तियां की गई जिसमें सबसे अधिक 800 नियुक्तियां जल शक्ति मंत्री महेंदर ठाकुर की विधानसभा क्षेत्र में की गई और इसके साथ ही मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र सिराज में 600 से अधिक पद भरे गए जबकि सम्पूर्ण जिला शिमला में मात्र 166 पद पर ही नियुक्तियां हुई।

रोहित ठाकुर ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए आग्रह किया कि एक-2 कार्यकर्ता पूरी क्षमता के साथ घर-घर जाकर मतदाताओं से कांग्रेस पार्टी के लिए जनसमर्थन और जनमत जुटाने के लिए कार्य करें।

Share from A4appleNews:

Next Post

6 बार CM रहे वीरभद्र सिंह के मंडी क्षेत्र में आज भी सड़कें नहीं, मैंने जिंदगी में कुछ कमाया है तो वो है ईमानदारी- खुशाल ठाकुर

Wed Oct 20 , 2021
एप्पल न्यूज़, बसान/बालीचौकी मंडी लोकसभा उपचुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस के लोग उनपर निजी हमले करने पर उतर आए हैं और यहां तक कह रहे हैं कि मैंने पैसा खाया। मैंने एक फौजी हूं और हिमाचल का बेटा हूं, अगर मैंने […]

You May Like