सेब व आम का समर्थन मूल्य अपर्याप्त, 10 रुपये हो -रोहित ठाकुर

एप्पल न्यूज़, जुब्बल कोटखाई

कोरोना महामारी ने किसानों की आर्थिकी की पहले ही कमर तोड़ दी हैं, प्रदेश सरकार द्वारा हाल ही में मात्र 50 पैसे सेब समर्थन मूल्य बढ़ाने से बागवानों को घोर निराशा हाथ लगी हैं।

यह बात जुब्बल नावर कोटखाई के पूर्व विधायक व पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रोहित ठाकुर ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहीं। कोरोना महामारी से कृषि क्षेत्र में उत्पादन लागत में दोगुनी वृद्धि हुई हैं ऐसे में सरकार को सेब का समर्थन मूल्य कम से कम ₹10 करना चाहिए था।

केंद्र सरकार द्वारा राहत देने की बजाए आए दिन पैट्रोल और डीजल के दामों को बढ़ाकर जनता के ज़ख्मो में नमक छिड़कने का काम कर रही हैं । विश्वभर में भारत मे पेट्रोल और डीजल के दाम सबसे अधिक हैं हालांकि आंतरराष्ट्रीय बाज़ार में पेट्रोल व डीज़ल के दाम आज तक के इसिहास के न्यूनतम स्तर पर हैं। पैट्रोलियम पदार्थों के बढ़ते दाम से जहां महंगाई बढ़ रही हैं वही कृषि क्षेत्र के लागत मूल्यों में भी अप्रत्याशित वृद्धि देखी जा रही हैं। रोहित ठाकुर ने सरकार से ए ग्रेड के सेब का मूल्य निर्धारित करने की भी मांग की हैं।

उन्होंने कहा कि जिस तरह जम्मू-कश्मीर में गत वर्ष नैफेड के माध्यम से ए ग्रेड के सेब का विपणन किया गया वहीं व्यवस्था हिमाचल के बागवानों के लिए भी की जाए। भारी ओलावृष्टि के चलते 60% फ़सलों को भारी नुकसान पहुँचा हैं।

उन्होंने सरकार से MIS के तहत बागवानों का पिछले वर्ष की लगभग ₹30 करोड़ की बकाया राशि जारी करने की मांग को भी दोहराया हैं। उन्होंने सेब व आम के समर्थन मूल्यों को बढ़ाने बारें सरकार से पुन: विचार करने की मांग की ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

क्षय रोग कार्यक्रम के प्रति उत्कृष्ट कार्य करने के लिए आर.डी.धीमान ने दी बधाई

Mon Jun 29 , 2020
एप्पल न्यूज़, शिमलाअतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) आर.डी.धीमान ने प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों एवं जिला क्षय रोग कार्यक्रम अधिकारियों के साथ विडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा बैठक की। उन्होंने सभी को क्षय रोग कार्यक्रम के प्रति उत्कृष्ट कार्य करने एवं प्रदेश को गुजरात एवं आन्ध्र प्रदेश के साथ […]

Breaking News