SNCU में तैनात आउटसोर्स स्टाफ नर्से सरकार से नाराज़, न पॉलिसी न इंक्रीमेंट 24 घण्टे काम कर घटाई शिशु मृत्यु दर

एप्पल न्यूज़, शिमला

आठ सालों से एसएमसीयु (स्पेशल न्यू बोर्न केयर युनिट) मे तैनात की गई एनएचएम ऑउट सोर्स स्टाफ नर्सो ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। नर्सो ने पॉलिसी बनाने और वेतन मे वृद्धि की जाए।

उनका कहना है कि इनकी आठ वर्षो की सेवाओ से हिमाचल मे शिशु मृत्यु दर मे सुधार आया है जबकी इनके वेतन मे वृद्धि न के बराबर है और न ही इनके लिए कोई पॉलिसी बनी है।

स्टाफ नर्सो ने आज शिमला मे एक पत्रकार वार्ता मे बताया कि वर्ष 2015 मे इन्हे हिमाचल प्रदेश के विभिन्न अस्पतालो मे न्यु बोर्न केयर युनिट मे ऑउट सोर्स के तहत नियुक्त किया गया था। जिसमे बेहतर संचालन से आज हिमाचल मे शिशु मृत्य दर मे बेहद कमी आई है।

उन्होंने बताया कि इनकी नियुक्ति से अभी तक इनके वेतन मे नाममात्र लगभग 700 रू की वृद्धि हुई है।

महगाई के इस मुश्किल समय मे इन नर्सो के लिए इस वेतन मे गुजारा कर पाना मुश्किल हो गया है। उन्होंने बताया कि इनका वार्षिक इंक्रीमेंट भी पिछले 5 वर्षो से लंबित है।

आलम यह है कि जिन नर्सों की बदौलत शिशु मृत्यु दर में कमी आई, उन्हें न पॉलिसी न इंसेंटिव लेकिन डॉक्टरों को इंक्रीमेंट दिया जा रहा है। ये सरकार की गलत नीति है। 24 घण्टे काम करने के बाद भी उन्हें इतने साल से दरकिनार कर रखा है।

इन नर्सो ने सरकार से मांग की है कि उन्हे कम से कम सरकारी कॉन्ट्रैक्ट पर लगने वाली स्टाफ नर्सो के समान वेतन दिया जाना चाहिए और इनके आठ वर्षो के बेहतरीन सेवाओ को देखते हुए पॉलिसी बनाई जाए।

Share from A4appleNews:

Next Post

शूलिनी मेले के लिए जबरदस्ती पर्चियां कटवाने पर बार एसोसिएशन नालागढ़ ने SDM के खिलाफ खोला मोर्चा

Thu Jun 23 , 2022
वकील के साथ बदसलूकी करने का लगाया आरोप एप्पल न्यूज़, अनवर हुसैन नालागढ़ नालागढ़ बार एसोसिएशन नालागढ़ ने कोर्ट परिसर के खिलाफ एसडीएम नालागढ़ महेंद्र पाल गुर्जर के खिलाफ नारे बाजी की अधिवक्ता साहिल ने कहा की मैंने किसी व्यक्ति का मैरिज सर्टिफिकेट के डॉक्यूमेंट तैयार किए। जब वह व्यक्ति […]

Breaking News